12 दिनों में कुल 15845.99 मी टन धान की खरीद की गई
October 13, 2020 • Mr Arun Mishra

कानपुर मण्डल में 15 अक्टूबर, 2020 से 28 फरवरी, 2021 तक क्रय होगी धान

> मुख्यमंत्री ने धान क्रय के लिए समय से सभी इंतजाम करने के निर्देश दिए थे।

> धान क्रय हेतु खाद्य विभाग की विपणन शाखा द्वारा सम्पूर्ण प्रदेश में कुल 4000 क्रय केन्द्र स्थापित किए जाएंगे।

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के निर्देशों के क्रम में प्रदेश में मूल्य समर्थन योजना के अन्तर्गत किसानों से धान की खरीद तेजी से की जा रही है। प्रथम चरण में पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 01 अक्टूबर, 2020 से प्रारम्भ हुई धान क्रय प्रक्रिया के अन्तर्गत आज 12 अक्टूबर, 2020 तक कुल 15845.99 मी0 टन धान की खरीद की जा चुकी है। इसके सापेक्ष विगत वर्ष (2019-2020) के दौरान इस अवधि में 837.21 मी0 टन धान की खरीद हुई थी। यह जानकारी आज यहां देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री जी द्वारा खरीफ क्रय वर्ष 2020-2021 के अन्तर्गत धान क्रय के लिए समय से सभी इंतजाम करने के निर्देश दिए गए थे। उनके द्वारा यह भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए थे कि किसानों को अपनी उपज बेचने में कोई दिक्कत न हो और उन्हें सभी सहूलियतें उपलब्ध करायी जाएं। उल्लेखनीय है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लखनऊ सम्भाग के जनपद लखीमपुर, हरदोई, सीतापुर तथा बरेली, मुरादाबाद, मेरठ, सहारनपुर, आगरा, अलीगढ़, झांसी मण्डलों में 01 अक्टूबर, 2020 से 31 जनवरी, 2021 तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश के लखनऊ सम्भाग के जनपद लखनऊ, रायबरेली, उन्नाव तथा चित्रकूट, कानपुर, अयोध्या, देवीपाटन, बस्ती, गोरखपुर, आजमगढ़, वाराणसी, विन्ध्यांचल एवं प्रयागराज मण्डलों में 15 अक्टूबर, 2020 से 28 फरवरी, 2021 तक क्रय होगी। मुख्यमंत्री जी के निर्देशों के क्रम में धान क्रय हेतु खाद्य विभाग की विपणन शाखा, एसएफसी, पीसीएफ, पीसीयू, मण्डी परिषद उ प्र, एनसीसीएफ, नैफेड, भारतीय खाद्य निगम, उ प्र उपभोक्ता सहकारी संघ (यूपीएसएस) एवं उ प्र राज्य कृषि एवं औद्योगिक निगम (यूपी एग्रो) द्वारा सम्पूर्ण प्रदेश में कुल 4000 क्रय केन्द्र स्थापित किए जाएंगे। यह सभी क्रय एजेन्सियां अपनी संस्था के क्रय केन्द्रों के अतिरिक्त पंजीकृत सोसाइटी व मल्टी स्टेट को-आपरेटिव सोसाइटी, एफपीओ / एफपीसी को सम्बद्ध कर उनके माध्यम से भी धान क्रय करेगी।