17 मई को उ म रे में 12  टर्मिनेटिंग और 03 पासिंग श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से 20000 फंसे हुए व्यक्तियों को लाया गया
May 18, 2020 • Mr Arun Mishra

> 17 मई को 3600 प्रवासियों की निकासी के लिए उत्तर मध्य रेलवे में दादरी से जमुई, समस्तीपुर और अररिया के  लिए तीन ट्रेनें रवाना हुईं।

> कुल 105 टर्मिनेटिंग, 08 मल्टीपल स्टॉपेज ट्रेनों से  उ म रे के विभिन्न स्टेशनों तक 1.5 लाख से अधिक लोगों को लाया गया।

> 16000 प्रवासियों के लिए 15 ओरिजनेटिंग ट्रेनों का भी संचालन किया गया।

प्रयागराज (मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी)। विशेष रेलगाड़ियों द्वारा विभिन्न स्थानों पर फंसे प्रवासी श्रमिकों, तीर्थयात्रियों, पर्यटकों, छात्रों और अन्य व्यक्तियों के परिवहन के संबंध में गृह मंत्रालय के निर्देश के उपरांत भारतीय रेल ने श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के संचालन का निर्णय लिया था। अब संचालित हो रही ट्रेनों की संख्या को दैनिक आधार पर बढ़ाया जा रहा है और राष्ट्रीय ट्रांसपोर्टर ने अब देश में रेल नेटवर्क से जुड़े सभी जिलों से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला किया है। रविवार 17 मई को उत्तर मध्य रेलवे में टर्मिनेट होने वाली 12  और 03 पासिंग / स्टॉपिंग ट्रेनों से कुल 20410 प्रवासियों को विभिन्न राज्यों से उत्तर मध्य रेलवे के विभिन्न स्टेशनों पर लाया गया। इन 12 टर्मिनेटिंग ट्रेन में दो ट्रेनों से 2021 यात्रियों को अहमदाबाद से कानपुर, जयपुर से कानपुर 1600 यात्री, राजकोट से अलीगढ़ 1600 यात्री, महेसाणा से अलीगढ़ तक 1791 यात्री, 02 ट्रेनों से सूरत से मीरज़ापुर 3200 यात्री, कोल्हापुर से प्रयागराज 1600 यात्री, 02 ट्रेनों से सूरत से प्रयागराज 3200 प्रवासी, अहमदाबाद से बांदा 1726 लोगों और भीलवाड़ा से चित्रकूट 1197 यात्रियों को पहुंचाया गया। 17 मई 2020 तक, 105 टर्मिनेटिंग ट्रेनों द्वारा और 08 पासिंग ट्रेनों  के उत्तर मध्य रेलवे के स्टेशनों पर ठहराव के माध्यम से कुल 151590 प्रवासियों को उत्तर मध्य रेलवे के विभिन्न स्टेशनों पर सुरक्षित रूप से लाया गया है। इन 105 ट्रेनों को उत्तर मध्य रेलवे के विभिन्न स्टेशनों सोनभद्र (01 ट्रेन), प्रयागराज जंक्शन (36 ट्रेन), फतेहपुर (05 ट्रेन), एटा (01 ट्रेन), इटावा (01 ट्रेन) अलीगढ़ (04 ट्रेन) कानपुर (17 ट्रेनें), आगरा कैंट (06 ट्रेनें), ग्वालियर (09 ट्रेनें), उरई (03 ट्रेनें), बांदा (08 ट्रेन), छतरपुर (06 ट्रेन), मिर्जापुर (05 ट्रेनें) और टीकमगढ़ (02 ट्रेन) एवं चित्रकूट (01 ट्रेन) पर लाया गया। आने वाली इन ट्रेनों में साबरमती, सूरत, अहमदाबाद, पालनपुर, गोधरा, वीरमगाम, मेहसाणा, मोरबी, अंजार, नवसारी, दाहोद, वडोदरा, सुरेंद्रनगर, कन्हानगढ़, कुरनूल, अंकलेश्वर, बेंगलुरु, पुणे, नई दिल्ली, रेवाडी, रोहतक, गुड़गांव, फिरोजपुर, लुधियाना, थिविम, कोपरगाँव, जोधपुर, कोल्हापुर इत्यादि स्थानों से प्रवासी आए हैं। 17 मई को दादरी से जमुई, समस्तीपुर और अररिया के लिए 03 ऑउटगोइंग ट्रेनों प्रत्येक में 1200 यात्रियों के साथ चलाई जा रही हैं। इनके साथ ही उत्तर मध्य रेलवे द्वारा कुल 15 आउटगोइंग श्रमिक विशेष गाड़ियों द्वारा लगभग 16000 प्रवासियों और अन्य फंसे हुए व्यक्तियों की निकासी की व्यवस्था की जा रही है।