48 हज़ार से अधिक डिलीवरी मैन आवश्यक सामग्री निरंतर पहुंचा रहे हैं, किसी अन्य को आवागमन की अनुमति नहीं 
April 10, 2020 • Mr Arun Mishra

लॉकडाउन को शीघ्र खोले जाने के लिए आवश्यक है कि लोग घरों से न निकलें

अब तक प्रदेश के 40 जिलों से 410 कोरोना पॉजिटिव के मामले आए सामने

> सील किये गये क्षेत्रों में सर्विलांस गतिविधि को बढ़ाये जाने के भी निर्देश दिए गये हैं: एसीएस

> क्वारेंटाइन सेंटर की बराबर समीक्षा करने के निर्देश दिये गये हैं: एसीएस

> लॉकडाउन अवधि में पलिस विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही में अब तक 12236 लोगों पर दर्ज की गई एफआईआर : एसीएस

> कालाबाजारी करने वाले 399 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करते हुए 137 लोगों को किया गया गिरफ्तार : एसीएस

> प्रदेश में प्रचलित कुल 3,50,75,590 राशन कार्डों के सापेक्ष 2,69,19,447 कार्डों पर किया गया खाद्यान्न वितरण : एसीएस

 > गुरूवार को 33.34 लाख लीटर दूध का वितरण 18,568 डिलीवरी वैन के माध्यम से किया गया : एसीएस

> उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण-पोषण योजना के तहत निर्माण कार्यों से जुड़े 11.81 लाख श्रमिकों के खाते में 1 - 1 हजार रुपय की धनराशि भेजी गई : एसीएस

> नगरीय क्षेत्र के 2.62 लाख श्रमिकों एवं ग्रामीण क्षेत्र के 2.25 लाख निराश्रित व्यक्तियों को 1 - 1 हजार रुपय की धनराशि का भुगतान किया गया : एसीएस

> 5,030 आश्रय स्थलों में अब तक रहने वालों की संख्या 1,25,850 है : एसीएस

> उत्तर प्रदेश में 2759 कम्यूनिटी किचन के माध्यम से स्वदेश में 10,99,722 लोगों को भोजन वितरित किया गया : एसीएस

> 410 कोरोना पॉजिटिव मरीजों में 221 मरीज तब्लीगी जमात के : प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य 

> 05 दिन की नोटिस पर निजी चिकित्सालयों को चिन्हित कर कोरोना मरीजों के उपचार हेतु उपयोग में लाया जायेगा : प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य

> प्रदेश में 5734 लोग फैसिलिटी क्वारेंटाइन में : प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य 

> विदेश से आये हुए 63 हज़ार से अधिक लोगों में से 43 हज़ार लोगों ने 28 दिन की क्वारेंटाइन अवधि पूर्ण की : प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य 

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने गुरूवार को लोकभवन मीडिया सेंटर में मीडिया प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिया है कि प्रदेश के 15 जनपदों के सील किये गये सभी कोरोना प्रभावित हॉटस्पॉट क्षेत्रों में मेडिकल, सेनेटाइजेशन एवं डोर स्टेप डिलीवरी टीमों के अतिरिक्त किसी अन्य को आवागमन की अनुमति न दी जाए। उन्होंने बताया कि समस्त जनपदों के पुलिस एवं जिला प्रशासन के अधिकारियों को इस सम्बंध में स्पष्ट आदेश दे दिये गये हैं। हॉटस्पॉट क्षेत्रों को सेक्टर वाइज विभाजित कर प्रत्येक क्षेत्र में मजिस्ट्रेट तैनात किये जाएँ। सील किये गये क्षेत्रों में सर्विलांस गतिविधि को बढ़ाये जाने के भी निर्देश दिए गये हैं। उन्होंने लोगों से अपील की है कि चिकित्सा विभाग द्वारा जारी निर्देशों का पालन करें एवं अपने चेहरे को मास्क, रूमाल, गमछा य दुपट्टे से अनिवार्य रूप से ढकें। उन्होंने कहा कि इस बीमारी से निजात पाने एवं लॉकडाउन को शीघ्र खोले जाने के लिए आवश्यक है कि लोग घरों से न निकलें और लॉकडाउन का पूर्णतया पालन करें। तब्लीगी जमाज में सम्मिलित लोग स्वयं आगे आएं। जिनके घरों में ऐसे लोग रूके हों वे प्रशासन को सूचित करें ताकि जमात में शामिल लोग क्वारेंटाइन किये जा सकें। उन्होंने बताया कि भारत सरकार द्वारा तैयार किये गये आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप डाउनलोड कर इसका सहयोग लेते हुए स्वयं की मॉनीटरिंग की जा सकती है। उन्होंने कहा कि क्वारेंटाइन सेंटर की बराबर समीक्षा करने के निर्देश दिये गये हैं। श्री अवस्थी ने बताया कि कोरोना वायरस के दृष्टिगत प्रदेश में लॉकडाउन अवधि में पलिस विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही में अब तक धारा 188 के तहत 12236 लोगों के एफआईआर दर्ज की गई। अब तक कुल 31,216 लोग गिरफ्तार किये गये। प्रदेश में अब तक 13,35,147 वाहनों की सघन चेकिंग में 19,579 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 5,61,52,729 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 1,56,728 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। उन्होंने बताया कि कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 399 लोगों के खिलाफ 311 एफआईआर दर्ज करते हुए 137 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार फेक न्यूज पर कड़ाई से नजर रख रही है। फेक न्यूज के तहत अब तक 78 मामलों को संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गई है। श्री अवस्थी ने बताया कि खाद्यान्न वितरण योजना के तहत निःशुल्क श्रेणी के अन्तर्गत 1,26,79,168 राशन कार्डों के सापेक्ष (अन्त्योदय की संख्या सहित) के सापेक्ष 95,55,048 कार्डों पर खाद्यान्न वितरित किया गया है। इसके अतिरिक्त प्रदेश में प्रचलित कुल 3,50,75,590 राशन कार्डों के सापेक्ष 2,69,19,447 कार्डों पर खाद्यान्न का वितरण किया गया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में डोर-स्टेप डिलीवरी व्यवस्था के अन्तर्गत 21,053 स्टोर क्रियाशील हैं, जिनके माध्यम से 48,526 डिलीवरी मैन आवश्यक सामग्री निरंतर पहुंचा रहे हैं। प्रदेशवासियों को फल एवं सब्जी उपलब्ध कराये जाने के लिए कुल 42,393 वाहनों की व्यवस्था की गयी है। इसी क्रम में कुल 48.24 लाख लीटर दूध उपार्जन के सापेक्ष 33.34 लाख लीटर दूध का वितरण 18,568 डिलीवरी वैन के माध्यम से किया गया है। श्री अवस्थी ने बताया कि उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की श्रमिक भरण-पोषण योजना के तहत निर्माण कार्यों से जुड़े 11.81 लाख श्रमिकों के खाते में एक-एक हजार रूपए की धनराशि आरटीजीएस के माध्यम से भेजी गई है। इसके अतिरिक्त नगरीय क्षेत्र के 2.62 लाख श्रमिकों एवं ग्रामीण क्षेत्र के 2.25 लाख निराश्रित व्यक्तियों को भी एक-एक हजार रूपए की धनराशि का भुगतान किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि जिन श्रमिकों का अब तक पंजीयन नहीं हुए हैं वे श्रम विभाग में अपना पंजीयन करा सकते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि प्रदेश की 29,363 फैक्ट्री से सम्पर्क किया गया, जिनमें 26,644 द्वारा अपने श्रमिकों को वेतन का वितरण कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक 4,555 औद्योगिक इकाईयां चालू हो गई हैं। उन्होंने बताया कि राजस्व विभाग की सब कमेटी द्वारा आश्रय स्थल की संख्या 5,030 हो गयी है जिनमें अब तक रहने वालों की संख्या 1,25,850 है। 792 सरकारी तथा 1967 स्वैच्छिक कम्यूनिटी किचन के माध्यम से स्वदेश में 10,99,722 लोगों को भोजन वितरित किया गया। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि अब तक प्रदेश के 40 जिलों से 410 कोरोना पॉजिटिव के मामले सामने आए हैं इनमें से 31 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि कुल पॉजिटिव पाये गये मरीजों में 221 मरीज तब्लीगी जमात के हैं। उन्होंने बताया कि छोटे शहरों में निजी चिकित्सालयों को चिन्हित कर आवश्यकता पड़ने पर 05 दिन की नोटिस पर कोरोना मरीजों के उपचार हेतु उपयोग में लाया जायेगा। उन्होंने बताया कि पूरे प्रदेश में 9442 आइसोलेशन बेड तथा 12119 क्वारेंटाइन बेड पूरी तरह से तैयार हैं। उन्होंने बताया कि पूरे प्रदेश में 5734 लोगों को फैसिलिटी क्वारेंटाइन में रखा गया है। उन्होंने बताया कि अब तक 7451 लोगों का टेस्ट किया गया जिसमें से 6953 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। उन्होंने बताया कि विदेश से आये हुए 63855 लोगों में से 43140 लोग 28 दिन की क्वारेंटाइन अवधि पूरी कर चुके हैं।