50वां भारत अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह (आईएफएफआई)-2019 का भारतीय पैनोरमा भाग प्रारंभ
November 22, 2019 • Mr Arun Mishra

नई दिल्ली (का ० उ ० सम्पादन)। 50वें भारत अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह-आईएफएफआई-2019 में बीते गुरूवार को राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता गुजराती फिल्म 'हेल्लारो' के प्रदर्शन के साथ भारतीय पैनोरमा भाग प्रारंभ हुआ। अभिषेक शाह द्वारा निर्देशित यह फिल्म गुरूवार को पणजी के आइनॉक्स में फीचर फिल्म श्रेणी में दिखाई गई। गैर फीचर फिल्म श्रेणी में आशीष पांडेय द्वारा निर्देशित कश्मीरी फिल्म 'नूरेह' भी दिखाई गई। समारोह में उपस्थित नूरेह फिल्म के निर्देशक ने इस फिल्म के बारे में बताया कि यह फिल्म एक छोटी लड़की की कहानी है, जो अभी भी बेहतर जिंदगी की आशा करती है। उन्होंने कहा कि वह वैसी फिल्म बनाना चाहते थे, जो आज के समय में प्रांसगिक हो। उन्होंने भारतीय पैनोरमा में इस फिल्म के चयन के लिए आईएफएफआई के निर्णायक मंडल को धन्यवाद दिया। भारतीय पैनोरमा भाग में समकालीन (कंटेम्पररी) भारतीय सिनेमा को दिखाया गया है। इस वर्ष भारतीय पैनोरमा में कुल 26 फीचर फिल्में और 15 गैर-फीचर फिल्में दिखाई जाएंगी। हिन्दी के अतिरिक्त भारतीय पैनोरमा की फीचर फिल्मों में कुछ कम बोली जाने वाली भाषाओं जैसे खासी/गारो, पनिया, इरूला तथा पंगचेनपा की फिल्में भी दिखाई जाएंगी। फीचर फिल्म के अन्य वर्गों में पांच मराठी फिल्में- तुझया ऐला, आनंदी गोपाल, भोंगा, माई घाट तथा फोटो प्रेम है। इस श्रेणी में तीन-तीन मलयालम और बांग्ला फिल्में, दो तमिल फिल्में और एक कन्नड़ फिल्म को शामिल किया गया है। फीचर फिल्म की श्रेणी में मुख्यधारा सिनेमा का उपवर्ग रखा गया है, जिसके तहत 'गली ब्वाय', 'उरीः द सर्जिकल स्ट्राइक', 'सुपर-30' तथा 'बधाई हो' जैसी लोकप्रिय फिल्में दिखाई जाएंगी।  इस श्रेणी के अंतर्गत तेलुगु फिल्म 'एफ-2' भी दिखाई जाएगी।