आईआईटी कानपुर की नर्सरी में पुष्प प्रदर्शनी आयोजित
February 23, 2020 • Mr Arun Mishra
卐 प्रथम वर्ग में 900 गमले, दूसरे वर्ग में 2000 से अधिक गमलों के माध्यम से 220 प्रजातियों के पुष्प प्रदर्शित किए।
卐 पुष्प प्रदर्शनी का मुख्य आकर्षण संस्थान के डायमंड जुबली वर्ष लोगो की रंगोली रहा।
कानपुर (काo उo सम्पादन)। विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी आईआईटी कानपुर की नर्सरी में पुष्प प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। पुष्प प्रदर्शनी का उद्घाटन श्रीमती अरुणा करंदीकर के द्वारा किया गया। पुष्प प्रदर्शनी दो वर्गों में आयोजित की गयी है, पहले वर्ग में संस्थान के घरों से तथा दुसरे वर्ग में छात्रावास, निदेशक  निवास व अथिथिगृह शामिल हुए। पहले वर्ग में विभिन्न प्रजातियों के लगभग 900 गमले थे, जिसमें की प्रथम पुरस्कार म० न० 443 के प्रो जे जी राव को द्वितीय पुरस्कार म० न० 672 के नवप्रीत सिंह तथा तृतीय पुरस्कार म० न० 625 के एन नीलकंटन को प्राप्त हुआ। दुसरे वर्ग में 2000 से अधिक विभिन्न प्रजातियों के गमले थे, जिसमें कि छात्रावास संख्या हॉल – 7 को प्रथम स्थान, छात्रावास संख्या हॉल – 3 को द्वितीय स्थान तथा छात्रावास संख्या हॉल – 12 ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। आईआईटी कानपुर नर्सरी में इस वर्ष ट्यूलिप के पौधे को उगाने का प्रयास किया गया था जो की सफल रहा। पुष्प प्रदर्शनी के निर्णायक मण्डल में सीएसए के सेवानिवृत्त प्रोफेसर शामिल थे। संस्थान की नर्सरी में कल्प वृक्ष,  कपूर, चन्दन, रुद्राक्ष, विक्सा प्रजातियों के पौधे लगे हुए हैं। संस्थान की नर्सरी में एक हर्बल गार्डन भी बना हुआ है जिसमें सर्पगंधा, अश्वगंधा, सतावर, कपूरी, तुलसी, दमवेल इत्यादि भी मौजूद हैं। पुष्प प्रदर्शनी में लगभग 220 प्रजातियों के फूलों तथा हरी पत्तियों के पौधे, कट फ्लावर, सब्जियों इत्यादि लगाये गए हैं, जिसमें कि पैंजी, रेनन्कुलर्स, लेडीज-पर्स, डॉग फ्लावर प्रमुख हैं। रविवार दिनांक 23 फरवरी 2020 को पुष्प प्रदर्शनी प्रातः 8 बजे से सायं 6 बजे तक देखने के लिए सभी लोगों के लिए खुला रहेगा तथा वीमेन एसोसिएशन द्वारा मेले का आयोजन किया जायेगा। पुष्प प्रदर्शनी का मुख्य आकर्षण संस्थान के डायमंड जुबली वर्ष लोगो की रंगोली रहा, जिसे सभी लोगों ने इसे खूब सराहा और उसके साथ अपनी तश्वीर कैद की।