आम जनता की समस्याओं का निस्तारण त्वरित से किया जाए : केशव प्रसाद मौर्य
March 17, 2020 • Mr Arun Mishra
लखनऊ (सूचना एवं जनसंपर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने जन समस्याओं का निस्तारण पूरी तत्परता, गम्भीरता व संवेदनशीलता के साथ करने के निर्देश सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिए हैं। श्री मौर्य सोमवार को अपने कैम्प कार्यालय पर आयोजित जनता दर्शन में प्रदेश के विभिन्न जनपदों से आए लोगों की समस्याएं सुन रहे थे। केशव मौर्य ने विभिन्न लोगों की समस्याएं उनसे सीधे रू-ब-रू  होते हुए सुनी व उनके निस्तारण के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने सम्बन्धित  अधिकारियों  को निर्देश दिए कि  कि जन समस्याओं का निस्तारण त्वरित गति से किया जाय तथा निर्धारित समयसीमा के अंदर किया जाय। उन्होंने कहा कि जन समस्याओं का निस्तारण त्वरित गति से करना सरकार की प्रमुख प्राथमिकता है। अधिकारी शासन की प्रतिबद्धताओं व जन आकांक्षाओं के अनुरूप अपने दायित्वों का निर्वहन करें। समस्याओं के निस्तारण में लापरवाही य हीलाहवाली किसी भी दशा में क्षम्य नहीं होगी। जनता दर्शन में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, राजस्व, अवैध अतिक्रमण, भूमि विवाद, आवास आवंटन, सड़क निर्माण कराने दबंगों के खिलाफ कार्रवाई कराने, मार्गों के पुनर्निर्माण आदि से सम्बन्धित विभिन्न विभागों के प्रकरण आए। जनता दर्शन में  हरदोई, ललितपुर, सीतापुर, अयोध्या, प्रतापगढ़, प्रयागराज, बस्ती, सिद्धार्थ नगर, हापुड़, कौशांबी, आदि विभिन्न जिलों से आए लोगों  ने अपनी समस्यायें रखीं। उप मुख्यमंत्री ने सभी को आश्वस्त किया कि नियमानुसार सभी लोगों की समस्याओं का समाधान शीघ्र किया जायेगा। इस दौरान कई जनप्रतिनिधियों व विधायकों ने भी उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से मिलकर क्षेत्रीय समस्याओं व सड़कों के निर्माण के संबंध में अपनी बात रखी जिसका उन्होंने पूरी तरह से समाधान कराने का आश्वासन दिया। जनता दर्शन मे प्रतापगढ़ के गेनाऊ पत्नी श्रीनाथ के कैंसर से पीड़ित होने के कारण इलाज हेतु सहायता तथा प्रयागराज के रामप्रताप व बस्ती के राम यज्ञ के संबंध में इलाज हेतु सहायता राशि उपलब्ध कराने के लिए आवश्यक कार्यवाही किए जाने का अनुरोध किया गया। कतिपय मामलों में उप मुख्यमंत्री ने जिला अधिकारी हरदोई, जिलाधिकारी प्रयागराज व पुलिस अधीक्षक कौशांबी से दूरभाष पर वार्ता करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिये।