अन्य प्रदेशों से आ रहे कुशल व अकुशल श्रमिकों को मदद दिलाने में सहयोग प्रदान करें जन प्रतिनिधि : उप मुख्यमंत्री
May 29, 2020 • Mr Arun Mishra
केशव प्रसाद मौर्य ने कार्यकर्ताओं को किया निर्देशित 
चकरोडों के निर्माण में कहीं कोई विवाद की स्थिति बने तो वहां पर किसी भी दशा में कानून व्यवस्था नहीं बिगड़ने देना है तथा पूरी कोशिश करना है कि आपसी झगड़े न होने पाएं।
 
卐 उच्च स्तर की समस्याओं को संकलित कर प्रेषित करें समाज सेवी : उप मुख्यमंत्री
卐 कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत पूरी सतर्कता व सजगता के साथ सार्वजनिक गतिविधियां संपादित हों : उप मुख्यमंत्री 
 
 
लखनऊ। उ प्र के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण (कोविड-19) के दृष्टिगत भारत सरकार व राज्य सरकार द्वारा नागरिकों की सुविधा के लिये बहुत ही कारगर कदम उठाये गये हैं। उन्होंने समाज सेवियों व स्वैच्छिक संगठनों से अपील की है कि वे इस संकट काल में नागरिकों को खासतौर से अन्य प्रदेशों से आ रहे कुशल व अकुशल श्रमिकों को मदद दिलाने में सहयोग प्रदान करें। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य गुरूवार 28 मई को जनपद कौशाम्बी के विभिन्न समाज सेवियों से वेबिनार के जरिये संवाद कर रहे थे। उप मुख्यमंत्री ने कौशाम्बी के विभिन्न लोगों से वार्ता करते हुए वहां की स्थितियों व समस्याओं के बारे में जानकारी हासिल की तथा विभिन्न लोगों के सुझाव भी सुने और उन्हें आश्वस्त किया कि प्रत्येक नागरिक की हर समस्या का हर सम्भव निदान किया जाएगा। उन्होंने लोगों से अपील की कि राशन सामग्री वितरण, लोगों को राशन कार्ड बनवाने व श्रमिकों का पंजीकरण करवाने, चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध कराने जैसे कार्यों में पूरी सतर्कता व सजगता के साथ सामाजिक दूरी बनाये रखते हुये तथा मास्क लगाकर सहयोग प्रदान करें। उन्होंने कहा कि जो समस्याएं उच्च स्तर की हैं उनको संकलित कर, उन्हें भेंजे। उन समस्याओं का निराकरण लखनऊ से कराया जायेगा। उन्होने कहा कि मनरेगा के तहत तमाम कार्य कराये जा रहे हैं। चकरोडों के निर्माण में कहीं कोई विवाद की स्थिति बने तो वहां पर किसी भी दशा में कानून व्यवस्था नहीं बिगड़ने देना है तथा पूरी कोशिश करना है कि आपसी झगड़े न होने पाएं। जनप्रतिनिधि व समाजसेवी प्रशासन से समन्वय बनाकर पहले विवाद को समाप्त करायें, उसके बाद वह निर्माण कार्य प्रारम्भ कराएं। श्री मौर्य ने कहा कि गेहूं खरीद कार्यों में भी किसानों का सहयोग किया जाए तथा जो हैण्डपम्प खराब हैं, उन्हे ठीक कराएं। तालाबों को भरवाएं, किसान सम्मान निधि के तहत पात्र लोगों को धन दिलवाएं, गौशालाओं में पशुओं की देखभाल करें तथा मजदूरों को काम दिलाने में भी सभी लोग सहयोग प्रदान करें।