अरीबा बनी मिस महिला महाविद्यालय, आयुषी तिवारी ने जीती नृत्य प्रतियोगिता
February 23, 2020 • Mr Arun Mishra

> महिला महाविद्यालय में वार्षिक पुरस्कार वितरण एवं विदाई समारोह (विंटेज 2020) का आयोजन संपन्न।

> बीए तृतीय वर्ष की छात्राओं की हुई विदाई, अंतर्राष्ट्रीय मात्र भाषा दिवस भी मनाया गया।

कानपुर (का ० उ ० सम्पादन)। शनिवार 22 फरवरी को महिला महाविद्यालय किदवई नगर में ज्ञान सरोवर परिषद् के तत्वावधान में वार्षिक पुरस्कार वितरण एवं विदाई समारोह (विंटेज 2020) का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ प्राचार्या डॉ बेबी रानी अग्रवाल, चीफ प्रॉक्टर डॉ सीमा वर्मा, विभागाध्यक्ष राजनीति शास्त्र विभाग के द्वारा सरस्वती प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया गया। प्राचार्या ने छात्राओं को शुभाशीष देते हुए कहा कि छात्राएं महाविद्यालय से ज्ञान, संस्कार एवं सुखद अनुभव लेकर जाएं तथा जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में सफलता प्राप्त करें इसलिए महाविद्यालय में उनके व्यक्तित्व निर्माण हेतु विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं। डॉ सीमा वर्मा ने प्रॉक्टोरियल बोर्ड का परिचय देते हुए महाविद्यालय की अनुशासन व्यवस्था में उसकी विशिष्ट भूमिका पर प्रकाश डालते हुए कहा कि ज्ञान सरोवर परिषद् ने छात्रसंघ चुनाव में सदैव मेधावी छात्राओं का सर्व सम्मीत्ती से चयन किया है। इस वर्ष भी कई पदों पर मेधावी छात्राओं का चयन किया गया है जिनमें - एमए द्वितीय वर्ष की आयुषी गुप्ता (अध्यक्ष), बीएड की अपर्णा त्रिपाठी (उपाध्यक्ष), बीए तृतीय वर्ष की आयुषी तिवारी (सचिव), बीए तृतीय वर्ष की आफरीन (उपसचिव) बनाई गईं। इसके अतिरिक्त विभिन्न समितियों का गठन भी किया गया है जिनमें - दिव्या सिंह अनुशासन समिति, पिंकी पटेल सांस्कृतिक समिति, आशी सिंह साहित्यिक समिति, आकांक्षा द्विवेदी छात्र समस्या समिति, फेमिना खान पर्यावरण समिति, नैंसी यादव क्रीड़ा समिति और अरीबा को लाइब्रेरी का प्रभार दिया गया। पुरस्कार वितरण की श्रंखला में बीए, एमए की छत्राओं को विभिन्न गतिविधियों में प्रतिभागिता हेतु पुरस्कृत किया गया। पुरस्कारों के क्रम में कु रितिका कपूर बीए प्रथम वर्ष को पूर्ण उपस्थिति हेतु पुरस्कृत किया गया। अन्य पुरस्कारों में शैक्षणिक एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता 141 छात्राएं, एनसीसी बेस्ट कैडेट 4 छात्राएं, प्रॉक्टोरियल बोर्ड की पदाधिकारी 4 छात्राएं, विभिन्न समितियों की प्रभारी 7 छात्राएं, बीए तृतीय एवं एमए द्वितीय में सर्वोच्च अंक 24 छत्राएं, एनएसएस की 4 छत्राएं रहीं। बीए द्वितीय वर्ष की छात्राओं ने बीए तृतीय वर्ष की छात्राओं को विदाई दी। छात्राओं द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गए तथा नृत्य एवं गायन की भावभीनी प्रस्तुति की गई। आयुषी तिवारी व मधु कुमारी के नृत्य को सराहा गया। मिस एमएमवी के चयन में निर्णायक मंडल में डॉ मोहिनी अग्रवाल, डॉ दीपाली निगम, डॉ पूजा श्रीवास्तव तथा नृत्य प्रतियोगिता में डॉ दीपाली श्रीवास्तव एवं श्रीमती सुमनलता ने भूमिका का निर्वहन किया। उक्त कार्यक्रम की सफलता में डॉ अलका कटिहार, डॉ इंदुमती सिंह, डॉ ममता गंगवार, डॉ मोहिनी अग्रवाल, डॉ वंदना शर्मा, डॉ मनीषा शुक्ला, डॉ रश्मि चतुर्वेदी, डॉ अर्चना श्रीवास्तव, डॉ साधना पांडेय, डॉ रश्मि सिंह, डॉ अरुणिमा खरे, डॉ मंजरी एवं डॉ पुष्पलता सहित प्रॉक्टोरियल बोर्ड के समस्त सदस्यों तथा महाविद्यालय की समस्त प्रवक्ताओं का सक्रीय सहयोग रहा। मिस महिला महाविद्यालय की विजेता कु अरीबा, प्रथम रनर अप कु दिव्या सिंह, द्वितीय रनर अप कु मेघा सिंह रहीं। मिस एलिगेंट की विजेता कु श्वेता मिश्रा, मिस फैशनेबल कु आशी सिंह बनीं। वहीं नृत्य में विजेता आयुषी तिवारी, प्रथम रनर अप मानसी श्रीवास्तव व द्वितीय रनर अप आयुषी शुक्ला रहीं। इसी भव्य आयोजन के साथ महाविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस भी मनाया गया जिसमें हिंदी विभाग की एसो प्रो डॉ ज्योति किरन ने कहा कि जन्म लेने के बाद मानव जो प्रथम भाषा सीखता है, उसे उसकी मात्र भाषा कहते हैं। मातृभाषा किसी भी व्यक्ति की सामाजिक एवं भाषायी पहचान होती है, सभी संस्कार एवं व्यवहार इसी के द्वारा संभव हैं। इस अवसर पर महाविद्यालय की छात्राओं ने भी अपने विचार रखे।