अस्पताल में भर्ती मरीजों को किसी भी प्रकार की परेशानी न होने पाए, इसकी मुकम्मल व्यवस्था सुनिश्चित की जाए : उप मुख्यमंत्री
August 11, 2020 • Mr Arun Mishra

> शहरी क्षेत्रों में कोरोना जांच के लिए कुल 12 सेंटर बनाए गए हैं, ग्रामीण क्षेत्रों में भी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर जांच की व्यवस्था भी सुनिश्चित की गयी है : जिलाधिकारी

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य प्रयागराज के सर्किट हाउस में जनपद के जनप्रतिनिधियों व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कोरोना वैश्विक महामारी की रोकथाम एवं उससे जुड़ी समस्याओं पर बैठक करते हुए।  (फोटो : बी एल यादव)

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने सोमवार 10 अगस्त 2020 को प्रयागराज के सर्किट हाउस के सभागार में कोविड-19 की समीक्षा बैठक की। बैठक में उन्होंने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने एवं अस्पताल में भर्ती मरीजों के लिए की गयी व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। जिलाधिकारी भानु चन्द्र गोस्वामी के द्वारा अस्पताल में भर्ती मरीजों के लिए की गयी व्यवस्थाओं एवं कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए किए जा रहे कार्यक्रमों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी। जिलाधिकारी ने बताया कि शहरी क्षेत्रों में जांच के लिए कुल 12 सेंटर बनाए गए हैं, इसके साथ ही साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर जांच की व्यवस्था भी सुनिश्चित की गयी है। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि मोबाइल टीम के द्वारा बड़े - बड़े गांवों एवं कस्बों में जांच की कार्यवाही की जाए, जिससे कि अधिक से अधिक लोगों का परीक्षण हो सके और कोरोना के लक्षण वाले मरीजों को चिन्हित कर उनकी जांच करते हुए पाॅजीटिव पाये जाने वाले मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराया जा सके और संक्रमण को अधिक से अधिक रोका जा सके। उन्होंने कहा कि कोरोना से ठीक हुए लोगों को प्रेरित करें कि वे लोगों को कोरोना वायरस के बारे में बताये कि कोरोना वायरस से घबड़ाने की जरूरत नहीं है। समय से जांच कराने पर आसानी से व्यक्ति ठीक हो जाता है। लोगो को इस बात के लिए जागरुक किया जाए कि यदि उनके अंदर किसी प्रकार के लक्षण हों तो वो स्वंय अस्पताल आकर अपना परीक्षण कराए। उप मुख्यमंत्री ने कोविड अस्पतालों में वेंटिलेंटर, बेड तथा मरीजों के खाने - पीने सहित अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि अस्पताल में भर्ती मरीजों को किसी भी प्रकार की परेशानी न होने पाए, इसकी मुकम्मल व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि कोविड अस्पताल में प्रति मरीज कितना व्यय किया जाता है, इसकी भी जानकारी लोगों को रहे। उन्होंने एल-1, एल-2 एवं एल-3 अस्पतालों में बेडों की पर्याप्त मात्रा में व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के लिए कहा है। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड अस्पताल के रूप में चिन्हित प्राइवेट अस्पताल में प्रति मरीज कितना चार्ज निर्धारित है, इसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए, जिससे कि प्राइवेट अस्पताल लोगों से मनमानी ढंग से चार्ज न कर सकें। उप मुख्यमंत्री ने होम आइशोलेशन की व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कहा कि होम आइशोलेशन के लिए निर्धारित मानकों का कड़ाई से अनुपालन किया जाए तथा हाॅटस्पाट के लिए निर्धारित मानक के अनुसार ही स्थानों को प्रतिबंधित किया जाए न कि अधिक। उप मुख्यमंत्री ने कंट्रोल रूम की क्रियाशीलता के बारे में भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कंट्रोल रूम में लोगों के द्वारा जो भी शिकायतें दर्ज करायी जाएं, उनका प्राथमिकता पर निस्तारण किया जाए। बैठक में उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित करते हुए कहा कि मरीजों के साथ अच्छा व्यवहार किया जाए। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि टीम भावना के साथ कार्य करते हुए पूर्ण प्रयास किया जाए कि किसी भी व्यक्ति की कोरोना के कारण मृत्यु न होने पाए। उप मुख्यमंत्री ने शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर साफ - सफाई एवं सैनेटाइजेशन की व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने का निर्देश सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को दिया है। उन्होंने चलाये जा रहे ‘‘गन्दगी भारत छोड़ों अभियान’’ के तहत ‘‘गन्दगी प्रयागराज छोड़ो अभियान’’ चलाये जाने का निर्देश दिया है। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने सरकार द्वारा संचालित योजनाओं को पारदर्शिता के साथ क्रियान्वित करते हुए पात्र लोगों को लाभान्वित कराए जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के लाभ से कोई भी पात्र व्यक्ति छूटने न पाए। राशन वितरण की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि राशन वितरण कार्यक्रम के तहत सभी पात्रों को मानक के अनुसार अनिवार्य रूप से राशन उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने कहा कि राशन वितरण में अनियमितता या लापरवाही बरतने वाले लोगों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए। बैठक में सांसद फूलपुर श्रीमती केशरी देवी पटेल, जिला पंचायत अध्यक्ष रेखा सिंह, मा0 विधायक शहर उत्तरी हर्षवर्धन वाजपेयी, विधायक कोरांव राजमणि कौल, जिलाधिकारी भानु चन्द्र गोस्वामी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक  अभिषेक दीक्षित, नगर आयुक्त रवि रंजन, मुख्य विकास अधिकारी आशीष कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी जी एस वाजपेयी सहित स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारीगण एवं अन्य सम्बंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।