अस्थायी स्क्रीनिंग कैम्प, आश्रय स्थलों में पर्याप्त सुविधा उपलब्ध करायी जाए : श्रीमती रेणुका कुमार
April 11, 2020 • Mr Arun Mishra

> जिलाधिकारी अस्थायी स्क्रीनिंग कैम्प/आश्रय स्थलों में स्वयं जाकर निरीक्षण करें।

> अस्थायी स्क्रीनिंग कैम्प, आश्रय स्थलों में शाम 7 से 8 के मध्य एवं सुबह 9 से 11 के मध्य लोगों को भोजन उपलब्ध कराया जाये।

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश की अपर मुख्य सचिव, राजस्व विभाग रेणुका कुमार ने कोविड - 19 के कारण लॉकडाउन से उत्पन्न स्थिति से निपटने हेतु अस्थायी स्क्रीनिंग कैम्प, आश्रय स्थलों में पर्याप्त सुविधा उपलब्ध कराने के संबंध में सभी मंडलायुक्त एवं जिलाधिकारियों को पत्र प्रेषित किया है। जिसके द्वारा अस्थायी रुकीनिंग कैम्प, आश्रय स्थल स्थापित करने एवं इनमें पर्याप्त भोजन व्यवस्था, पेयजल, साफ शौचालय, समुचित साफ-सफाई तथा इनमें रखें गये व्यक्तियों में सोशल डिस्टेसिंग बनाये रखने व पर्याप्त चिकित्सा सुविधा की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं। अपर मुख्य सचिव ने कहा कि कोविड - 19 के संक्रमण को रोकने हेतु cluster containment operations के दृष्टिगत क्यारंटाइन किये गये व्यक्तियों हेतु अस्थायी स्क्रीनिंग कैम्प/आश्रय स्थल स्थापित किये गये हैं। उन्होंने कहा कि अस्थायी स्क्रीनिंग कैम्प/आश्रय स्थलों में सायं को 7 से 8 के मध्य एवं सुबह 9 से 11 के मध्य लोगों को पर्याप्त मात्रा में भोजन उपलब्ध कराया जाये। जिलाधिकारी अस्थायी स्क्रीनिंग कैम्प/आश्रय स्थलों में स्वयं जाकर निरीक्षण कर ले एवं इनमें पायी गयी कमियों को तुरन्त दूर किया जाये। उन्होंने बताया कि कोविड-19 की महामारी से उत्पन्न स्थिति से निपटने हेतु अस्थाई आश्रय स्थल/क्वारंटाइन कैम्प संचालित करने हेतु राजस्व अनुभाग-10 के 1 अप्रैल के शासनादेश द्वारा पूर्व में ही जनपदों को पर्याप्त धनराशि अवमुक्त की जा चुकी है।