बलिया, प्रतापगढ़ तथा जौनपुर में आरटी पीसीआर की नई लैब शीघ्र प्रारम्भ की जा रही है : एसीएस हेल्थ
September 22, 2020 • Mr Arun Mishra

> मुख्यमंत्री ने आज स्वयं पहली उच्चस्तरीय इन्वेस्ट प्राधिकृत समिति की बैठक की अध्यक्षता की :अवनीश अवस्थी

> अब तक प्रदेश में कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 446 लोगों को गिरफ्तार किया गया है : एसीएस होम 

> 20 सितम्बर को फेसबुक के 08, व्हाटस एप के 01 व ट्विटर के 05 समेत कुल 17 मामले साइबर सेल को आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रेषित : एसीएस होम

> प्रदेश में अब तक कुल 86,76,627 सैम्पल की जांच की गयी है : एसीएस हेल्थ

> प्रदेश में रिकवरी का प्रतिशत बढ़कर 80.69 हुआ : एसीएस हेल्थ

अपर मुख्य सचिव सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी व अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद 21 सितम्बर 2020 को लोकभवन, लखनऊ में कोविड-19 के संबंध में पत्रकार वार्ता करते हुये। (फोटो : उ प्र सरकार)

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह (एसीएस होम) अवनीश कुमार अवस्थी ने सोमवार 21 सितम्बर 2020 को लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने राजस्व संग्रह में वृद्धि के लिए सभी विभागों को प्रभावी योजना बनाकर उसके अनुरूप कार्य करने के निर्देश दिए हैं। शासन एवं जनपद स्तर पर राजस्व प्राप्ति की गहन मॉनिटरिंग की जाए। उन्होंने बताया कि जीएसटी के तहत राजस्व संग्रह कार्य की वे स्वयं समीक्षा करेंगे। उन्होनें बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि आत्मनिर्भर भारत अभियान तथा स्टार्टअप योजना का लाभ ज्यादा से ज्यादा पात्र लोगों को मिल सके, इसके लिए राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति (एसएलबीसी) की बैठक में कार्ययोजना बनायी जाए। एमएसएमई इकाइयों के सुदृढ़ीकरण व स्थापना के साथ - साथ युवाओं को स्वावलम्बी बनाने के लिए बैंकों से समन्वय बनाकर उनके लिए ऋण की सुगम व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। श्री अवस्थी ने बताया कि राजस्व वृद्धि किसी भी प्रदेश के विकास के लिए बेहद जरूरी हैं। उन्होंने कहा कि अभी तक सितम्बर माह में जो राजस्व वृद्धि हुयी है, वह पिछले वर्ष के समान्तर या उससे अधिक भी आ सकती है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारी एवं मण्डलायुक्तों को सभी मदों में राजस्व वृद्धि हेतु समीक्षा करने के निर्देश दिये हैं। मुख्यमंत्री जी ने अपर मुख्य सचिव राज्यकर को भी निर्देश दिये हैं कि पूरे विभाग को एक्टीवेट व ट्रेन कराए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी स्वयं शीघ्र ही इनकी समीक्षा करेंगे। मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये हैं  कि आत्मनिर्भर भारत अभियान एवं स्टार्टअप योजना का लाभ अधिक से अधिक पात्र लोगों को दिया जाए। बैंकर्स कमेटी की बैठक बुलाकर कार्यवाही की जाए। एमएसएमई इकाईयों की स्थापना के लिए मजबूती से कार्य करें। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने आज स्वयं पहली उच्चस्तरीय इन्वेस्ट प्राधिकृत समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए सभी निवेशकों, उद्यमी एवं उद्योगपति का स्वागत एवं अभिनन्दन किया। उन्होंने कहा कि यह वर्चुअल माध्यम से होने वाली पहली व अनूठी बैठक थी। इस बैठक की खास बात यह थी कि उत्तर प्रदेश के इज आफ डूंईंग बिजनेस में देश में द्वितीय स्थान पर आने के बाद उद्योग से सम्बन्धित मुख्यमंत्री जी ने पहली बैठक की है। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश देश की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है, जिसका 8 प्रतिशत जीडीपी उ प्र से आता है। मुख्यमंत्री जी प्रदेश की 24 करोड़ जनसंख्या को आगे ले जाने के लिए जिसकी 56 प्रतिशत जो कामकाजी जनसंख्या को रोजगार में आगे बढ़ाकर हुनरमन्द बनाये। उन्होंने कहा कि निवेश मित्र पोर्टल को सिन्गल विन्डो सिस्टम को मजबूत बनाएं  जो इस पूरी व्यवस्था की पूरी धुरी है, को पारदर्शी बनाते हुए सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। श्री अवस्थी ने बताया कि धारा - 188 के तहत 2,28,592 एफआईआर दर्ज करते हये 4,30,995 लोगों को नामजद किया गया है। प्रदेश में अब तक 1,59,60,172 वाहनों की सघन चेकिंग में 73,200 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 83,10,48,064 रुपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 4,38,289 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1248 लोगों के खिलाफ 924 एफआईआर दर्ज करते हुए 446 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि फेक न्यूज के तहत अब तक 2621 मामलों को संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गई है। 20 सितम्बर को कुल 17 मामले, जिनमें फेसबुक के 08, व्हाटस एप के 01 व ट्विटर के 05 मामले को संज्ञान में लिया गया है तथा साइबर सेल को आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रेषित किया है। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में अब तक का सर्वाधिक कुल 1,35,990 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 86,76,627 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटे में कोरोना के संक्रमित 4703 नये मामले आये हैं। प्रदेश में अब तक कुल 2,89,594 लोग पूर्णतया उपचारित होकर डिस्चार्ज किए गए। प्रदेश में 24 घंटे में 6320 लोग उपचारित हुए। प्रदेश में रिकवरी का प्रतिशत बढ़कर 80.69 है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 64,164 कोरोना के एक्टिव मामले हैं। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में 33,040 लोग हैं। श्री प्रसाद ने बताया कि कोविड-19 जांच के लिए बलिया, प्रतापगढ़ तथा जौनपुर में आरटी पीसीआर की नई लैब शीघ्र प्रारम्भ की जा रही है। उन्होनें बताया कि ई - संजीवनी पोर्टल के माध्यम से चिकित्सकीय परामर्श घर बैठ प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि सरकारी कार्यालयों / प्रतिष्ठानों / औद्योगिक प्रतिष्ठानों में 64,560 कोविड हेल्प की स्थापना की गयी है, जिसके माध्यम से 7,69,949 लक्षणात्मक व्यक्तियों की पहचान की गयी है। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,14,515 क्षेत्रों में 3,70,010 सर्विलांस टीमों के माध्यम से 2,43,76,551 घरों के 12,11,12,473 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया हैनिजी चिकित्सालयों में 3822 लोग तथा सेमी पेड एल-1 प्लस में 230 लोग ईलाज करा रहे हैं। उन्होंने बताया कि नॉन कोविड केयर के अन्तर्गत पिछले वर्ष 01 - 20 सितम्बर तक सरकारी चिकित्सालयों में मेजर आपरेशन 14,109 हुए जबकि इस वर्ष इसी अवधि में 10,144 मेजर आपरेशन हुये हैं।