बीमारियों से लड़ने एवं शरीर को स्वस्थ रखने में अत्याधिक सहायक है कामन योगा प्रोटोकाल : डॉ एच आर नागेन्द्र
June 21, 2020 • Mr Arun Mishra

> नियमित योगाभ्यास से व्यक्ति शारीरिक रूप से स्वस्थ्य होता है : कुलपति, छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय

कानपुर (का उ सम्पादन)। रविवार 21 जून को छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय, कानपुर द्वारा छठे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय, कानपुर एवं रोटरी क्लब द्वारा आयोजित कार्यक्रम योगाभ्यासों का सजीव प्रसारण, समय- प्रात: 8:00 बजे से 8:45 बजे तक फेसबुक लाइव पर किया गया। योग शिक्षकों (सुश्री सोनाली धनवानी, अजीत श्रीवास्तव) एवं बीएस-सी योग के 06 विद्यार्थियों नियति, प्रियंका, रूपाली, कंचन, शिवेन्द्र एवं साकार अहमद द्वारा विश्वविद्यालय के योग केन्द्र में फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए योगाभ्यास किया। इस कार्यक्रम का उदघाटन प्रातः 8:00 बजे विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो नीलिमा गुप्ता, डिस्ट्रिक्ट गवर्नर इलेक्ट रो डी सी शुक्ला, छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ अनिल कुमार यादव, आर्गेनाइजिंग सेकेट्री डॉ प्रवीन कटियार, रोटरी क्लब आफ कानपुर के अध्यक्ष रो अनिल सरन गर्ग, प्रोग्राम कन्वेनर रो गौरव अग्रवाल जैन एवं रोटरी क्लब आफ कानपुर के सचिव रो गौरव तिवारी द्वारा दीप प्रज्ज्वलन से हुआ। योग पर वेबिनार कार्यक्रम भी आयोजित हुआ, इस वेबिनार के मुख्य अतिथि एवं मुख्य वक्ता थे - पदमश्री, कलाधिपति, स्वामी विवेकानंद र मी विवेकानंद योग अनुसंधान संस्थान, बेंगलुरू के डॉ एच आर नागेन्द्र। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो नीलिमा गुप्ता द्वारा की गयी तथा इस वेबिनार के विशिष्ट अतिथि थे डिस्ट्रिक्ट गवर्नर इलेक्ट रो डी सी शुक्ला। इस कार्यक्रम का भी सजीव प्रसारण फेसबुक लाइव पर सायं 7:00 बजे से किया गया। विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो नीलिमा गुप्ता ने अपने उद्घाटन उद्बोधन में योग की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए इसे स्वस्थ एवं सफल जीवन का एक आवश्यक अंग बताया। उन्होंने कहा कि नियमित योगाभ्यास से व्यक्ति शारीरिक रूप से स्वस्थ्य होता है साथ ही साथ मानसिक रूप से दृढ़ होता है और धनात्मक उर्जा से परिपूर्ण होता है। उन्होंने विश्वविद्यालय के बी एस-सी योग पाठ्यक्रम व योग केन्द्र की सुविधाओं एवं विशेषताओं के विषय में बताया। विशिष्ट अतिथि रो डी सी शुक्ला ने अपने उद्बोधन में कहा कि सभी को योगाभ्यास अवश्य करना चाहिए। योग के माध्यम से हम सम्पूर्ण स्वास्थ्य को प्राप्त कर सकते हैं। मुख्य अतिथि एवं वेबिनार के वक्ता डॉ एच आर नागेन्द्र ने सभी को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की बधाई देते हुए कहा कि इस बार का अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस भिन्न है क्योंकि इस बार हम घर में रहकर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मना रहे हैं। आनलाइन प्लेटफार्म की वजह से करोड़ों की संख्या में व्यक्ति अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस में सम्मिलित होंगे और योग का ज्ञान प्राप्त करेंगे। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के आयुष मंत्रालय ने कामन योगा प्रोटोकाल सीवाईपी बनाया है। यह प्रोटोकाल बीमारियों से लड़ने एवं शरीर को स्वस्थ रखने में अत्याधिक सहायक है। इस प्रोटोकाल की जानकारी आयुष मंत्रालय की वेबसाइट से प्राप्त की जा सकती हैसभी लोग कामन योगा प्रोटोकाल का पालन करें तो उनका इम्युन सिस्टम भी अच्छा होगा। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए इम्युन सिस्टम का अच्छा होना आवश्यक है। योग शरीर को स्वस्थ व शक्तिशाली रखता है, साथ ही साथ शरीर को पाजिटिव हेल्थ, स्वस्थ मस्तिष्क एवं मन की ओर अग्रसर करता है। छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय कानपुर एवं इण्डियन योग एसोसिएशन द्वारा योगा-एक नया भविष्य विषय पर वेबिनार का आयोजन किया गया। इस वेबिनार का प्रसारण दरदर्शन के स्पोर्टस चैनल डीडी स्पोर्टस पर सायं 7:00 बजे से 9:00 बजे तक किया गया। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस एवं वेबिनार के संबंध में कार्यक्रम के चेयरपरसन रवि सचिव, इण्डियन योग एसोसिशन ने प्रकाश डाला। कार्यक्रम की संरक्षक एवं छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो नीलिमा गुप्ता ने सभी का स्वागत किया। मुख्य अतिथि डॉ एच आर नागेन्द्र, पद्मश्री, कुलाधिपति, स्वामी विवेकानंद योग अनुसंधान संस्थान, बेंगलूरू एवं अध्यक्ष इण्डियन योग एसोसिएशन व विशिष्ट अतिथि थे–आर सुब्रामण्डयम, सचिव, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार ने अपने उद्बोधन प्रस्तुत किए। आमंत्रित वक्तागणों में साध्वी भगवती सरस्वती, डॉ राजवी एच मेहता, प्रो एम एल बी भट्ट, वेद प्रकाश शर्मा, श्रीमती एकता, डॉ हरि शंकर सिंह, डॉ प्रवीन कटियार आदि ने उपस्थिति दर्ज की।