बुधवार 3 जून को 987 पूल टेस्ट किये गये, पूल टेस्ट में 161 पूल पॉजीटिव पाये गये : प्रमुख सचिव स्वास्थ्य
June 5, 2020 • Mr Arun Mishra

कामगारों और श्रमिकों को सकुशल प्रदेश वापस लाने हेतु 55 और ट्रेन को सहमति प्रदान की गई है : एसीएस होम

> प्रदेश में अब तक 1669 ट्रेन के माध्यम से 22.67 लाख से अधिक कामगार एवं श्रमिक को लाये जाने की व्यवस्था की गई : एसीएस होम

> ट्रेन एवं बसों के माध्यम से अब तक 26.19 लाख से अधिक लोगों को उनके गृह जनपद में सकुशल पहुंचाया जा चुका है : एसीएस होम

> प्रदेश में गुजरात से सर्वाधिक 530 ट्रेन से 7 लाख 76 हज़ार से अधिक कामगारों और श्रमिकों को लेकर प्रदेश में आ चुकी हैं : एसीएस होम

> बुधवार को 10,563 सैम्पल की कोरोना जांच की गयी : प्रमुख सचिव स्वास्थ्य

> आशा वर्कर्स द्वारा अब तक 12,39,380 कामगारों और श्रमिकों से उनके घर पर जाकर सम्पर्क किया गया : प्रमुख सचिव स्वास्थ्य 

> 12,39,380 कामगारों और श्रमिकों में से 80,960 लोगों के सैम्पल लेकर जांच की गई जिसमें से 2583 लोग पॉजीटिव पाये गये : प्रमुख सचिव स्वास्थ्य 

> निगरानी समितियों की 1 लाख से अधिक सर्विलांस टीम द्वारा अब तक 4 करोड़ 11 लाख लोगों का सर्वेक्षण किया गया : प्रमुख सचिव स्वास्थ्य

> सह-रूग्णता (को-मोर्बिडिटी) से ग्रसित लोगों में कोरोना संक्रमण की दर 83 प्रतिशत है : प्रमुख सचिव स्वास्थ्य

गुरुवार 4 जून को लोक भवन मीडिया सेल में प्रेस वार्ता करते ए सी एस होम श्री अवनीश कुमार अवस्थी व प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद। (फोटो : उ प्र सरकार)

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने गुरुवार 4 जून को लोक भवन मीडिया सेल में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने आज टीम-11 की बैठक में निर्देश दिया है कि 08 जून से मिलने वाली छूट के सन्दर्भ में अध्ययन करते हुए पूरी तैयारी के साथ इस व्यवस्था को लागू किया जाए। उन्होंने पुलिस महानिदेशक को निर्देशित किया है कि पुलिस द्वारा लगातार पेट्रोलिंग की जाए। बाजारों आदि में पुलिस द्वारा नियमित फुट पेट्रोलिंग तथा हाई-वे एवं एक्सप्रेस-वे पर पीआरवी 112 के माध्यम से सघन पेट्रोलिंग सुनिश्चित की जाए। सुरक्षित यातायात पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश देते हुए कहा है कि कहीं भी भीड़ एकत्रित न होने पाए और जीरो टॉलेरंस नीति का पालन किया जाए। श्री अवस्थी ने बताया कि देश में सबसे अधिक कामगार उत्तर प्रदेश में आये हैं। उन्होंने कहा कि दक्षिण के राज्यों से भी हम अपने कामगारों और श्रमिकों को प्रदेश में लाने में सफल हए हैं। प्रदेश में अब तक 1669 ट्रेन के माध्यम से 22.67 लाख से अधिक कामगार एवं श्रमिक को लाये जाने की व्यवस्था की गई है, इनमें से अब तक 1617 ट्रेन से 21.85 लाख से अधिक लोगों को प्रदेश में लाया जा चुका है। इसके साथ ही 55 ट्रेन को और सहमति प्रदान की गई है। उन्होंने बताया कि ट्रेन एवं बसों के माध्यम से अब तक 26.19 लाख से अधिक लोगों को उनके गृह जनपद में सकुशल पहुंचाया जा चुका है। उन्होंने बताया कि विभिन्न माध्यमों से अभी तक 32 लाख से अधिक श्रमिक कामगार प्रदेश में आये हैं। उन्होंने बताया कि गोरखपुर में अब तक 274 ट्रेन से 3,51,862 कामगार एवं श्रमिक आये हैं। लखनऊ में 113 ट्रेन के माध्यम से 1,46,515 लोग आए हैं। वाराणसी में 119, आगरा में 11, कानपुर में 17, जौनपुर में 139, बरेली में 12, बलिया में 71, प्रयागराज में 64, रायबरेली में 22, प्रतापगढ़ में 75, अमेठी में 17. मऊ में 49. अयोध्या में 37, गोण्डा में 71, उन्नाव में 28, बस्ती में 88 ट्रेन जबकि आजमगढ में 43, कन्नौज में 03, गाजीपुर में 33, बांदा में 21, सुल्तानपुर में 28, बाराबंकी में 12, सोनभद्र में 04, अम्बेडकरनगर में 25, हरदोई में 20, सीतापुर में 13, फतेहपुर में 09, फर्रुखाबाद में 02, कासगंज में 09. चंदौली में 17. इटावा में 01, मानिकपुर (चित्रकूट) में 01, एटा में 01, जालौन में 02, रामपुर में 01, शाहजहांपुर में 01, अलीगढ़ में 06, भदोही में 04, मिर्जापुर में 11, देवरिया में 103, सहारनपुर में 04, चित्रकूट में 03, बलरामपुर में 19, मुजफ्फरनगर में 01, लखीमपुर खीरी में 01, महोबा में 01, झांसी में 05, पीलीभीत में 01, महाराजगंज में 01 एवं कौशांबी में 01 ट्रेन आ चुकी हैं। मुरादाबाद, मेरठ, श्रावस्ती, सिद्धार्थनगर, संत कबीर नगर, कुशीनगर, हमीरपुर, बहराइच, में भी ट्रेन आ रही हैं। श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में गुजरात से 530 ट्रेन से 7,76,489 लोग, महाराष्ट्र से 440 ट्रेन से 5,94,349 लोग, पंजाब से 234 ट्रेन से 2,75,335 कामगारों और श्रमिकों को लेकर प्रदेश में आ चुकी हैं। इसके साथ ही तेलंगाना से 23, कर्नाटक से 57, केरल से 15, आन्ध्र प्रदेश से 11, तमिलनाडु से 40, मध्य प्रदेश से 02, राजस्थान से 36, गोवा से 21, दिल्ली से 98, छत्तीसगढ़ से 01, पश्चिम बंगाल से 02, उड़ीसा से 01 ट्रेन, असम से 01 ट्रेन, त्रिपुरा से 01 ट्रेन, हिमाचल प्रदेश से 04 ट्रेन, उत्तराखण्ड से 04, जम्मू-कश्मीर से 02 तथा उत्तर प्रदेश से 91 ट्रेन के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जनपदों में कामगारों और श्रमिकों को पहुंचाया गया है। प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि कल 10,563 सैम्पल की कोरोना जांच की गयी। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 75 जनपदों में 3553 कोरोना के मामले एक्टिव हैं। अब तक 5439 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। आइसोलेशन वार्ड में 3579 मरीजों को जबकि 7895 मरीजों को फैसलिटी क्वारंटीन में रखा गया है। उन्होंने बताया कि कल 987 पूल टेस्ट किये गये, जिसमें से 888 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 99 पूल 10-10 सैम्पल के थे। पूल टेस्ट में 161 पूल पॉजीटिव पाये गये। श्री प्रसाद ने बताया कि आशा वर्कर्स द्वारा कामगारों और श्रमिकों के घर पर जाकर सम्पर्क कर उनके लक्षणों का परीक्षण कर रही हैं, जिसके आधार पर आवश्यकतानुसार कामगारों और श्रमिकों का सैम्पल इकट्ठा कर जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि आशा वर्कर्स द्वारा अब तक 12,39,380 कामगारों और श्रमिकों से उनके घर पर जाकर सम्पर्क किया गया, जिनमें से 80,960 लोगों के सैम्पल लेकर जांच की गई जिसमें से 2583 लोग पॉजीटिव पाये गये। उन्होंने बताया कि ग्राम एवं मोहल्ला निगरानी समितियों के द्वारा निगरानी का कार्य सक्रियता से किया जा रहा है। अब तक 1,04,613 सर्विलांस टीम द्वारा 80,98,156 घरों के 4,11,54,707 लोगों का सर्वेक्षण किया गया। उन्होंने बताया कि सह-रूग्णता (को-मोर्बिडिटी) से ग्रसित लोगों में कोरोना संक्रमण की दर 83 प्रतिशत है। 60 वर्ष या उससे अधिक उम्र के लोगों में संक्रमण की दर 6 प्रतिशत एवं मृत्यु दर 32.6 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि 51-60 वर्ष आयु वर्ग के लोगों को अधिक सावधान रहने की आवश्यकता है। इस आयु वर्ग के लोगों में संक्रमण की दर 8.8 प्रतिशत है, वहीं मृत्यु दर 31.5 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि अधिक उम्र के लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु ज्यादा सावधान रहने की आवश्यकता है।