छात्राओं में राष्ट्रप्रेम व अनुशासन की भावना जागृत करने में बहुमूल्य योगदान दे रही है एनसीसी
November 30, 2019 • Mr Arun Mishra

> महिला महाविद्यालय पी जी कॉलेज में एनसीसी दिवस का आयोजन।

कानपुर (का ० उ ० सम्पादन)। बीते शुक्रवार को महिला महाविद्यालय में एनसीसी दिवस के अवसर पर महाविद्यालय की एनसीसी शाखा 17 यू पी (जी) बटालियन द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आयोजन का शुभारम्भ मुख्य अतिथि सूबेदार मेजर हरबंशलाल, बीएचए राजीव सिंह, प्राचार्या डॉ बी आर अग्रवाल द्वारा माता सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण व दीप प्रज्ज्वलन कर किया गया। अतिथियों का स्वागत करते हुए डॉ बी आर अग्रवाल ने कहा कि महिला महाविद्यालय में एनसीसी की यह शाखा वर्ष 2013 से कार्यरत है। तबसे लेकर अबतक ये छात्राओं में निरंतर राष्ट्रप्रेम अनुशासन व सदाचार की भावना जागृत करने में अपना योगदान दे रही है। मुख्य अतिथि सूबेदार मेजर हरबंसलाल ने अपने वक्तव्य में छात्राओं को एनसीसी द्वारा विभिन्न छेत्रों में प्रदान किये जाने वाले अवसरों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि राज्य व केंद्र सरकार की नियुक्तियों में एनसीसी कैडेट्स को प्राथमिकता दी जाती है। बीएचएम राजीव सिंह ने कहा कि एनसीसी अपनी तरह का एकमात्र संगठन है, जोकि एक साथ बहुत बड़ी संख्या में युवाओं को नेतृत्व, अनुशासन, एकता, साहसिक सैन्य व शारीरिक प्रशिक्षण व सामुदायिकता की भावना का विकास करने का प्रशिक्षण प्रदान करता है। ले० ऋचा छिब्बर ने अपने वक्तव्य में कहा कि प्रतिवर्ष नवंबर के चौथे रविवार को एनसीसी दिवस मनाया जाता है। एनसीसी कैडेट्स को धर्म निरपेक्षता, उत्तम चरित्र, नेतृत्व की भावना व मिल-जुल कर कार्य करना सिखाया जाता है ताकि ये कैडेट्स जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में सफल हो सकें। सांस्कृतिक कार्यक्रमों के अंतर्गत छात्राओं ने देशभक्ति गीत व नृत्य प्रस्तुत किया। वनडे मातरम् गीत पर नृत्य प्रस्तुत करते हुए छात्राओं ने शानदार पिरामिड बनाया। सांस्कृतिक कार्यक्रम खुशबू लालवानी, ख़ुशी सिंह, फलक, जानकी, प्रिया व कोमल आदि छात्राओं के द्वारा प्रस्तुत किये गए। मंच संचालन कैडेट्स दिव्या सिंह व धन्यवाद ज्ञापन डॉ ऋचा छिब्बर द्वारा किया गया। कार्यक्रम में डॉ वंदना शर्मा, डॉ रश्मि चतुर्वेदी, डॉ प्रज्ञा श्रीवास्तव, डॉ ममता दीक्षित, डॉ रश्मि सिंह, डॉ खुशबू दुआ सहित अन्य उपस्थित रहीं।