धार्मिक स्थलों के आस-पास फूल माला व प्रसाद आदि बेचने वालों की भी सूची बना ली जाए
June 11, 2020 • Mr Arun Mishra

जिला योजना समिति की बैठक में उप मुख्यमंत्री ने किया निर्देशित

卐 उप मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिग के माध्यम से जिला योजना समिति की बैठक में कानपुर के जन प्रतिनिधियों व अधिकारियों संग की समीक्षा।
 
वेबिनार में उप मुख्यमंत्री ने दिए दिशा निर्देश:
 
卐 गर्मी के मौसम में पर्याप्त जल आपूर्ति हेतु नगर निगम, जलकल विभाग व जल निगम के अधिकारी समन्वय बनाकर कार्य करें।
 
卐 विद्युत की निर्बाध आपूर्ति बनी रहे। 
 
卐 मनरेगा के तहत काम करने वाले श्रमिकों का भुगतान समय से किया जाना सुनिश्चित किया जाए।
 
卐 किसानों के प्रपत्रों की त्रुटियों को दूर कराते हुए किसान सम्मान निधि का लाभ दिलाना सुनिश्चित किया जाए।
 
卐 वाहनों में निर्धारित प्रोटोकाल से अधिक सवारियां न बैठने दी जाएं।
 
卐 फसलों के हुए नुकसान के बारे में सर्वे कराते हुये तत्काल आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाए। 
 
卐 जिलाधिकारी टीम बनाकर निरीक्षण कराएं और निर्धारित प्रोटोकाल का अनुपालन अनिवार्य रूप से कराया जाए।
 
 
लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बुधवार 10 जून को वेबिनार के जरिये कानपुर नगर के जन प्रतिनिधियों व वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों से संवाद करते हुए कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत परिस्थितियों की समीक्षा की। उन्होंने जन प्रतिनिधियों की समस्याएं सुनी व उनके सुझाव भी लिये तथा अधिकारियों को व्यापक दिशा निर्देश दिए। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि गर्मी के दृष्टिगत पानी की कोई कमी नहीं होनी चाहिए, इसके लिये नगर निगम, जलकल विभाग व जल निगम के अधिकारी समन्वय बनाकर कार्य करें। उन्होंने कहा कि विद्युत की निर्बाध आपूर्ति बनी रहे, इसके लिये भी केस्को के अधिकारी लगातार सजग व सतर्क रहें। उन्होंने जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक व मुख्य चिकित्सा अधिकारी समेत अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन लोगों ने आरोग्य सेतु ऐप नहीं डाउनलोड किया है, उन्हें  ऐप जरूर डाउनलोड करा लिया जाए। धार्मिक स्थलों के आस-पास फूल माला व प्रसाद आदि बेचने वाले तथा रेहड़ी, पटरी दुकानदारों की भी सूची बना ली जाए, ताकि उन्हें आवश्यक सूविधाएं उपलब्ध कराई जा सकें। श्री मौर्य ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा के तहत काम करने वाले श्रमिकों का भुगतान समय से किया जाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा, यह भी देख लिया जाए कि जो नए राशन कार्ड बने हैं, उनके राशन का उठान भी हो जाना चाहिये। उन्होंने कहा कि राशन के उठान वाले गोदामों पर निगरानी रखी जाए। उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि किसान सम्मान निधि की धनराशि उपलब्ध कराने में जिन किसानों के प्रपत्रों आदि की कोई त्रुटियां रह गयीं हों, तो उन त्रुटियों को दूर कराते हुए किसान सम्मान निधि का लाभ दिलाना सुनिश्चित किया जाए। प्राइवेट अस्पतालों में कोविड-19 के मरीजों के ईलाज के बारे में जन प्रतिनिधियों द्वारा दिए गए सुझावों पर उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी व मुख्य चिकित्सा अधिकारी तथा अन्य सम्बन्धित बैठक कर विचार कर लें और आवश्यकता अनुरूप सुविधाओं को दृष्टिगत रखते हुये, उपचार की सूविधा नियमानुसार देय हो, तो दे दी जाए। उन्होंने कहा कि सामाजिक दूरी का हर हाल में अनुपालन सुनिश्चित किया जाए। वाहनों में निर्धारित प्रोटोकाल से अधिक सवारियां न बैठने दी जाएं। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों के हितों को सर्वोपरि रखा जाए तथा अभी हाल ही में आंधी, बारिश, ओला आदि से फसलों के हुए नुकसान के बारे में सर्वे कराते हुये तत्काल आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाए। श्री मौर्य ने निर्देश दिये कि जहां भी निर्माण कार्य चल रहे हैं, वहां जिलाधिकारी टीम बनाकर निरीक्षण कराएं और निर्धारित प्रोटोकाल का अनुपालन अनिवार्य रूप से कराया जाए। उन्होंने निर्देश दिये कि कोरोना के दृष्टिगत जो भी जरूरी जानकारियां हों वह जिलाधिकारी द्वारा बनाये गये व्हाट्सअप ग्रुप के जरिये जन प्रतिनिधियों को भी शेयर करें तथा सप्ताह में एक बार स्थानीय जन प्रतिनिधियों के साथ जिलाधिकारी व अन्य सम्बन्धित अधिकारी वर्चुअल संवाद करें, जिससे कहीं भी संवाद हीनता की स्थिति न बने और कहीं कोई भ्रम की स्थिति न पैदा हो। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि क्वारंटाइन सेन्टरों में भोजन व शौचालय तथा अन्य व्यवस्थाओं का निरीक्षण कराया जाता रहे तथा जो कमियां हों, उन्हे दूर कराया जाए। कतिपय विद्यालयों में फीस के मुद्दे पर भी जन प्रतिनिधियों ने सुझाव दिए कि केवल ट्यूशन फीस ही ली जाए। उप मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को निर्देश दिये कि इस सम्बन्ध में निर्धारित नियमों का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए। जिलाधिकारी कानपुर नगर ने बताया कि आज ही प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों की सभी धर्म गुरूओं के साथ बैठक हुई है और यह निर्णय लिया गया है कि कानपुर में 30 जून तक धार्मिक स्थलों पर आम लोग नहीं जाएंगे। वेबिनार के दौरान आद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना, राज्यमंत्री उच्च शिक्षा, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी श्रीमती नीलिमा कटियार, विधायक सर्वश्री अभिजीत सिंह सांगा, सुरेन्द्र मैथानी, महापौर श्रीमती प्रमिला पाण्डेय सहित अन्य जनप्रतिनिधि व प्रशासनिक अधिकारी प्रमुख रूप से मौजूद रहे।