डॉ हर्षवर्धन ने राज्यों को व्यक्तिगत स्वच्छता के माध्यम से कोरोना वायरस रोकथाम की सलाह दी
February 22, 2020 • Mr Arun Mishra

> डॉ हर्षवर्धन ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ नोवेल कोरोना वायरस (कोविड 19) पर उठाए गए कदमों और तैयारियों की समीक्षा की।

> राष्ट्रीय स्तर पर रियल टाइम आधार पर मामलों की निगरानी के लिए लगाया गया है विशेष निगरानी वेब उपकरण।

> नियमित रूप से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से तैयारियों की नियमति समीक्षा की जा रही है।

> अभी तक लगभग 4 लाख यात्रियों की कोरोना वायरस स्क्रीनिंग की गई है।

> इंटीग्रेटेड डिज़ीज़ कण्ट्रोल प्रोग्राम आईडीसीपी के तहत लगभग 22 हज़ार लोगों को सामुदायिक निगरानी में रखा गया।

नई दिल्ली (का ० उ ० सम्पादन)। केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने शुक्रवार को मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ नोवेल कोरोना वायरस (कोविड 19) से उत्पन्न स्थिति से निपटने में अब तक उठाए गए कदमों और तैयारियों की समीक्षा की। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री को बताया गया कि केन्द्रीय स्तर पर संबंधित मंत्रालयों के साथ घनिष्ठ सहयोग से एहतियात के विभिन्न उपाए किए गए हैं। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण सचिव ने बताया कि राज्यों को नियमित रूप से स्क्रीनिंग तथा निगरानी से संबंधित सटीक आवश्यक सूचना को समय पर वेबपोर्टल पर अद्यतन करनी चाहिए। वेबपोर्टल पर राष्ट्रीय स्तर पर रियल टाइम आधार पर मामलों की निगरानी के लिए विशेष निगरानी वेब उपकरण लगाया गया है। उन्होंने बताया कि राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों ने रिपोर्ट दी है कि गंभीर स्थिति को टालने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा जारी प्रोटोकॉल तथा दिशा-निर्देशों का पालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कर्मियों के सुरक्षा उपकरण तथा मास्क का पर्याप्त भंडार है। स्वास्थ्य सचिव ने यह भी बताया कि राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों तथा संबंधित केन्द्रीय मंत्रालयों/विभागों के साथ नियमित रूप से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से तैयारियों की नियमति समीक्षा की जा रही है। डॉ हर्षवर्धन को यह भी बताया गया कि सभी 21 हवाई अड्डों, 12 प्रमुख तथा 65 गैर-प्रमुख, बंदरगाहों और सीमा क्रॉसिंग पर यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है। अभी तक सभी 3,835 विमानों तथा 3,97,148 यात्रियों की स्क्रीनिंग की गई है। अभी तक 2,707 नमूनों की जांच की गई है जिसमें से 3 नमूने केरल में पॉजिटिव पाए गए थे। सभी तीनों रोगियों की अस्पताल से छुट्टी कर दी गई है और वे अब घर में अलग रह रहे हैं। वुहान से वापस लाए गए सभी भारतीय कोविड 19 के लिए निगेटिव पाए गए हैं और क्वांरटाइन सुविधाओं से अपने घर से चले गए है। 34 राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों में एकीकृत बीमारी निगरानी कार्यक्रम (आईडीएसपी) नेटवर्क के माध्यम से अभी 21,805 व्यक्तियों को सामुदायिक निगरानी में रखा गया है। डॉ हर्षवर्धन ने एक बार फिर सभी राज्यों से आग्रह किया है कि वे उच्च सतर्कता रखें, यद्यपि देश के किसी भाग से कोई नया पॉजिटिव मामला नहीं पाया गया है। उन्होंने राज्यों को व्यक्तिगत स्वच्छता के माध्यम से रोकथाम के लिए लोगों में जागरूकता बढ़ाने के काम को जारी रखने की सलाह दी।