गोरखपुर महोत्सव में स्थानीय कलाकारों को अधिक से अधिक अवसर प्रदान किये जाएं : योगी आदित्यनाथ
January 4, 2020 • Mr Arun Mishra

> मुख्यमंत्री ने गोरखपुर में गोरखपुर महोत्सव की तैयारियों के सम्बन्ध में बैठक की।

लखनऊ (का ० उ० सम्पादन)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीते शनिवार गोरखपुर में गोरखपुर महोत्सव की तैयारियों के सम्बन्ध में बैठक की। उन्होंने निर्देश दिये कि गोरखपुर महोत्सव में स्थानीय कलाकारों को अधिक से अधिक अवसर प्रदान किये जाएं। लोक कला एवं लोक संस्कृति को बढ़ावा देते हुए महोत्सव को सफल बनाया जाए। उन्होंने कहा कि शासकीय योजनाओं को भी महोत्सव से जोड़ने का कार्य किया जाए। साथ ही, उन्होंने गोरखपुर महोत्सव के अलग-अलग दिवसों के लिए अलग-अलग थीम पर आधारित कार्यक्रमों का आयोजन किये जाने के निर्देश दिये। 11 से 13 जनवरी तक चलने वाले इस महोत्सव का शुभारंभ राज्यपाल या केंद्रीय पर्यटन मंत्री कर सकते हैं जबकि समापन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे। महोत्सव में कई राज्यों की संस्कृति और कला का भी समागम देखने को मिलेगा। शनिवार को गोरखनाथ मंदिर सभागार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महोत्सव की तैयारियां जांची। इस दौरान उन्होंने निर्देश दिया कि हर दिन अलग-अलग थीम मसलन युवा, महिला के अलावा सरकारी योजनाओं प्रधानमंत्री आवास, बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ, कन्या सुमंगला आदि पर आधारित हो। लोक कला व लोक संस्कृति का बढ़ावा देना ही महोत्सव का मुख्य उद्देश्य है। बैठक में बताया गया कि महोत्सव में होने वाली शिल्प प्रदर्शनी में 12 राज्यों से शिल्पी आ रहे हैं। बैठक में कमिश्नर जयंत नार्लिकर, डीएम के विजेयन्द्र पांडियन, जीडीए उपाध्यक्ष अनुज सिंह, सीडीओ हर्षिता माथुर, नगर आयुक्त अंजनी सिंह सहित कई अधिकारी मौजूद रहे।