गोवंश आधारित ग्राम विकास और आत्मनिर्भर भारत अभियान के अन्तर्गत ग्राम करेन्द के समग्र विकास के लिए सरकार और समुदाय की साझा पहल
July 1, 2020 • Mr Arun Mishra

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश गोसेवा आयोग के अध्यक्ष, प्रो श्याम नन्दन सिंह के द्वारा गोद लिए गए ब्लाक माल के गांव करेन्द के समग्र विकास के लिए उत्तर प्रदेश सरकार और समुदाय की साझा पहल हेतु ग्राम करेन्द में बैठक का आयोजन किया गया। जहाँ पाया गया कि बहुताय किसान फसली ऋण, जमीन आदि समस्याओं से जूझ रहा है। बैंक ऑफ इण्डिया, गहदों के बैंक मैनेजर को आदेशित किया कि सभी किसानों की समस्याओं का समाधान करें तथा किसान क्रेडिट कार्ड बनवायें। ग्राम में गाय के महत्व को बताया गया तथा सभी किसानों को गोवंश पालने की प्रेरणा दी और यह भी बताया कि निराश्रित गोवंश लेने पर 900 रुपए  प्रतिमाह मुख्यमंत्री निराश्रित गोवंश सहभागिता योजना के तहत दिया जाना है। ग्राम के सामुदायिक विकास हेतु एक समूह गोबर के लढे बनाएगा, दूसरा समूह गोबर के गमले बनाएगा, तीसरा समूह गोमूत्र से कीटनाशक बनाएगा एवं चौथा समूह सामान लाने ले जाने हेतु डाला समूह होगा। सर्वे में ज्ञात हुआ है कि ग्राम में अभी भी लोग खुले में शौंच कर रहे हैं। खुले में शौच से मुक्त करने हेतु शौचालय बनवाने हेतु पंचायत अधिकारी को आदेशित किया गया। ग्राम के विकास हेतु विभिन्न समूह बनाये गये हैं। सम्पूर्ण ग्राम में जुलाई माह के प्रथम सप्ताह में वृक्षारोपण का भी अभियान चलाया जाएगा जिससे गोवंश आश्रय स्थल तथा ग्राम को सुन्दर बनाया जाएगा।