ग्राम जसमई के प्रधान, ग्राम सचिव एवं आशा से सहयोग न करने के कारण स्पष्टीकरण तलब
March 31, 2020 • Mr Arun Mishra

> ग्राम आदिउली में मौके पर जाकर 7 लोगों को ग्राम के क्वारेंटाइन सेंटर भेजा गया।

> बाहर से आये समस्त व्यक्तियों को क्वारेंटाइन सेंटर में रखना सुनिश्चित करें: मुख्य विकास अधिकारी

फर्रुखाबाद (जिला संवाददाता)। अद्योहस्ताक्षरी द्वारा मंगलवार 31 मार्च को जिलाधिकारी के निर्देशानुसार ग्राम अदिउली, जसमई एवं नूरपुर विकास खण्ड बढ़पुर का निरीक्षण किया गया।  निरीक्षण के दौरान सहायक विकास अधिकारी, पंचायत, ग्राम सचिव एवं ग्राम प्रधान उपस्थित थे। ग्राम अदिउली को निरीक्षण की पूर्व सुचना के उपरांत भी ग्राम सचिव विलम्ब से उपस्थित हुए। निरीक्षण के दौरान ग्राम सचिव एवं प्रधान द्वारा बताया गया कि ग्राम में 7 लोग अन्य प्रदेशों से आये हैं लेकिन कई बार कहने के उपरान्त भी क्वारेंटाइन सेण्टर में नहीं रह रहे हैं। अद्योहस्ताक्षरी द्वारा मौके पर जाकर सभी 7 लोगों को ग्राम के क्वारेंटाइन सेंटर में भेजा गया साथ ही निर्देशित किया गया 14 दिन क्वारेंटाइन सेंटर पर न रहने पर वैद्यानिक कार्यवाही की जायेगी। कोविड 19 महामारी होने के बावजूद ग्राम सचिव के विलम्ब से आने, फील्ड में रहकर काम न करने के सम्बन्ध में स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिए गए। ग्राम नूरपुर का निरीक्षण कर पाया गया कि ग्राम स्कूल में क्वारेंटाइन सेंटर में ग्राम में बाहर से आये 8 लोग रह रहे हैं। मौके पर उपस्थित ग्राम सचिव एवं ग्राम प्रधान द्वारा बताया गया कि ग्राम में कुल 64 लोग बाहर से आये हैं जिनमें से 8 लोगों को क्वारेंटाइन में रखा गया है। अद्योहस्ताक्षरी मुख्य विकास अधिकारी डॉ राजेन्द्र पैंसिया द्वारा निर्देशित किया गया कि बाहर से आये समस्त व्यक्तियों को क्वारेंटाइन सेंटर में रखना सुनिश्चित करें। साथ ही ग्राम रोजगार सेवक को क्वारेंटाइन सेंटर में आवश्यक व्यवस्था में सहयोग के लिए रहने हेतु निर्देशित किया गया।  ग्राम जसमई का निरीक्षण करने पर पाया गया कि ग्राम में बाहर से आये हुए व्यक्तियों को क्वारेंटाइन सेण्टर में नहीं रखा गया है तथा कोरोना रैपिड रिस्पांस टीम, फर्रुखाबाद ने अवगत कराया कि ग्राम में पहुँचने पर ग्राम सचिव शैलेन्द्र त्रिपाठी, ग्राम प्रधान एवं आशा द्वारा सहयोग नहीं किया जाता है। ग्राम प्रधान, ग्राम सचिव एवं आशा आज भी अनुपस्थित थे और सहयोग न करने के लिए इनका स्पष्टीकरण तलब करने के निर्देश दिए गए। 31 मार्च को कार्यालय कक्ष में सहायक विकास अधिकारी (आई एस बी) कायमगंज अरुण मिश्रा द्वारा मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करने के लिए 11000 रूपए की चेक मुख्य विकास अधिकारी को सौंपी गई। सीडीओ के कार्यालय कक्ष में डॉ नीतू मसीह, प्रधानचार्या रखा गर्ल्स इंटर  कॉलेज, फतेहगढ़ द्वारा गरीबों को वितरण करने हेतु 1000 मास्क उपलब्ध कराए गए।