ग्राम पंचायतों में पशुओं के टीकाकरण हेतु वैक्सीनेटर एवं ईयर टैगिग कार्य हेतु सहायक की होगी नियुक्ति
January 9, 2020 • Mr Arun Mishra
प्रतापगढ़। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी ने एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से अवगत कराया है कि राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अन्तर्गत कुल 1241 ग्राम पंचायतों के प्रत्येक ग्राम पंचायतों में एक वैक्सीनेटर जो टीकाकरण का कार्य सम्पादित करेगें एवं एक सहायक जो कि समस्त छोटे बड़े पशुओं में ईयर टैगिंग का कार्य सम्पादित करेगें जिनका चयन लगभग 1000 पशुओं के आधार पर किया जाना है जो कि ग्रामसभा की खुली बैठक आहूत कर ग्राम प्रधानों के माध्यम से हाईस्कूल की योग्यता एवं 50 वर्ष से उम्र के ऊपर न हो के आधार पर पूर्व से विभागीय प्रशिक्षित क्रियाशील इच्छुक एवं सक्षम पैरावेट व पशुमित्रों को तथा प्रत्येक विकास खण्ड स्तर पर स्थापित फामर्स फिल्ड स्कूल से वैक्सीनेटरोंं/सहायकों के रूप में कार्य करने हेतु प्रेरक किसानों का व लीड फारमर्स (प्रेरक किसान) लिखित सहमति के आधार पर वरीयता दी जायेगी तथा विभागीय पशु चिकित्साधिकारी/पशुधन प्रसार अधिकारी की खुली बैठक में उपस्थिति सुनिश्चित हो। चयनोपरान्त वैक्सीनेटर को विभागीय प्रशिक्षण अवधि 1.5 दिन टीकाकरण, टैगिंग हेतु सहायक को 0.5 दिन तथा 1.0 दिन इन ऑफ की डाटा इन्ट्री हेतु प्रशिक्षण दिया जायेगा। उन्होने बताया है कि प्रत्येक वैक्सीनेटर को मानदेय के रूप में 3.00 रू0 टीकाकरण और सहायक को ईयर टैगिंग हेतु 2.50 रू0 प्रति पशु देय होगा एवं कार्य के दौरान सम्बन्धित को अलग-अलग रंग के प्लास्टिक का एप्रेन उपलब्ध करायी जायेगी। इच्छुक व्यक्ति तत्काल उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी/पशु चिकित्साधिकारी/पशुधन प्रसार अधिकारी व ग्राम प्रधान से सम्पर्क स्थापित कर अपना चयन नियमानुसार एक सप्ताह के अन्दर कार्यालय मुख्य पशु चिकित्साधिकारी विकास भवन प्रतापगढ़ में उपलब्ध कराना सुनिश्चित करे।