ग्रामीण आवासीय अभिलेख (घरौनी) के डिजिटल वितरण कार्यक्रम में मुख्यमंत्री सम्मिलित होंगे
October 10, 2020 • Mr Arun Mishra

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा 11 अक्टूबर, 2020 को 'स्वामित्व योजना' के अन्तर्गत किए जाने वाले ग्रामीण आवासीय अभिलेख (घरौनी) के डिजिटल वितरण कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी अपने सरकारी आवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सम्मिलित होंगे। यह जानकारी शुक्रवार 9 अक्टूबर को देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि भारत सरकार की 'स्वामित्व योजना' के अन्तर्गत आधुनिक तकनीक से आबादी सर्वेक्षण एवं अभिलेख संक्रिया का कार्य उत्तर प्रदेश के सभी जनपदों में गतिमान है। प्रवक्ता ने ग्रामीण आवासीय अभिलेखों के लाभ की जानकारी देते हुए बताया कि इससे ग्रामवासियों को आबादी क्षेत्र में स्थित सम्पत्तियों (भवन, प्लॉट आदि) के प्रमाणित दस्तावेज प्राप्त होंगे, जिनका उपयोग बैंकों से लोन आदि प्राप्त करने में किया जा सकेगा। साथ ही, ग्रामीण क्षेत्रों में सम्पत्ति सम्बन्धी विवादों में काफी कमी आएगी। आबादी क्षेत्र का प्रारम्भिक डाटा तैयार होने से विकास हेतु सरकारी योजनाएं संचालित करने में सुगमता होगी। इस प्रकार स्वामित्व योजना के अन्तर्गत तैयार अभिलेखों से ग्रामीण क्षेत्रों में वित्तीय तरलता एवं वित्तीय सुदृढ़ता के साथ ही विकास की प्रक्रिया को गति मिलेगी।