हेमा मालिनी का नया सन्देश, सोशल डिस्टेंसिंग अपनाएं
March 28, 2020 • Mr Arun Mishra

मथुरा (वायरल बॉलीवुड)। पूरे देश में कोरोना का कहर देखने को मिल रहा है। 21 दिन के लॉकडाउन के चलते कई लोगों की रोजी-रोटी भी छिन गई है।  सबसे ज्यादा प्रभावित हो गए हैं दिहाड़ी मजदूर जिनके पास अब ना काम है और ना ही खाने के लिए रोटी। ये भी पलायन करने को मजबूर हो गए हैं। अब इसी तबके की मदद करने के लिए कई लोग आगे आए हैं। ड्रीम गर्ल हेमा मालिनी जो एक्ट्रेस होने के अलावा मथुरा से भाजपा सांसद भी हैं ने इस मुश्किल की घड़ी में सभी मंदिर, मस्जिद, और चर्च से मदद करने की अपील की है। उन्होंने इन धार्मिक स्थलों से गरीबों को सहारा देने की बात कही है। उन्होंने ट्वीट किया कि - मैं इस मौके पर सभी मंदिर, मस्जिद और चर्च से निवेदन करती हूं कि वो गरीब लोगों की लॉकडाउन के दौरान मदद करें। ये सभी लोग बेरोजगार और बेघर हो गए हैं। उनके भले के लिए आप सभी दिल खोलकर दान करें। हेमा मालिनी ने उन गुरुद्वारों की भी तारीफ की है जिन्होंने इस संकट के समय में बेसहारा लोगों को आशा की किरण दिखाई है। हेमा ने लिखा- मैं इस बात से काफी खुश हूं कि देश के सभी गुरुद्वारे गरीब और जरूरतमंदो का पेट भरने का काम कर रहे हैं। ये सभी गुरु नानक देव जी के सच्चे भक्त हैं जिनके लिए सेवा ही सबसे बड़ी प्राथमिकता है। नवरात्रि की शुभकामनाओं के साथ सासंद हेमा मालिनी ने शनिवार को अपने लोकसभा क्षेत्र मथुरा की जनता को अपने संदेश के माध्यम से वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग और घर पर रहकर सुरक्षित रहने की अपील की है। सांसद हेमा मालिनी ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी ने बड़ा रूप ले लिया है। दूसरे देशों में इस महामारी ने कई लोगों की जान भी ले ली है। वहीं, भारत में भी जहां इसकी संख्या 100 थी वहीं इसकी संख्या बढ़कर 700 के आसपास हो गई है, इससे अनुमान लगाया जा सकता है यह कोरोना वायरस कितना बड़ा रूप ले रहा है। इन दिनों फैल रहे कोरोना वायरस के दुष्प्रभाव को लेकर चिंतित हेमा मालिनी ऑडियो-वीडियो एवं सोशल मीडिया संदेशों के माध्यम से अपने निर्वाचन क्षेत्र के नागरिकों से जुड़ी हैं और लगभग हर दिन एक संदेश भेज रही हैं। उन्होंने शुक्रवार को जारी किए गए वीडियो में मथुरा शहर के होलीगेट पर लॉकडाउन के बीच रोजमर्रा की चीजों की खरीदारी की छूट के समय में लोगों की अनावश्यक भीड़ और मोटर साइकिल पर परिवार सहित घूमते लोगों की मीडिया में प्रसारित और प्रकाशित तस्वीरों का जिक्र करते हुए इसे बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।