जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद
February 21, 2020 • Mr Arun Mishra
卐 नियमित मॉनीटरिंग के लिए सभी स्कूलों में बायोमेट्रिक उपस्थिति अनिवार्य रूप से लगाई जाएगी: मण्डलायुक्त
卐 शिक्षा गुणवत्ता की क्रास चैकिंग के लिए मण्डल के कुशल शिक्षकों का चयन किया गया है: मण्डलायुक्त 
卐 समस्त शिक्षकों की छुट्टी के आवेदन ऑनलाइन किए जाएंगे: मण्डलायुक्त 
卐 मिशन प्रेरणा व कायाकल्प की मॉनीटरिंग के लिए मण्डलायुक्त ने जिला स्तर की कोर कमेटी का गठन किया। 

कानपुर नगर (सूचना विभाग)। "मिशन प्रेरणा" लक्ष्य 2020 एवं ऑपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत "मण्डलीय  गोष्ठी" का आयोजन सीएसए सभागार में अध्यक्ष मण्डलायुक्त की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। मण्डलायुक्त ने दीप प्रज्जवलित कर गोष्ठी का शुभारंभ किया। मण्डलायुक्त महोदय ने अपने सम्बोधन में कहा कि मिशन प्रेरणा, मिशन कायाकल्प योजना में जितना पैसा चाहिए सरकार देने को तैयार है। अब सभी जनपदों में फाइव स्टार स्कूल बनाने है जिसमें बेहतर व्यवस्थाओं के साथ उच्च कोटि की शिक्षा सभी बच्चों को दी जाए। उन्होंने कहा कि प्राइवेट स्कूलों से भी ज्यादा बड़ी संख्या में डिग्री होल्डर शिक्षक सरकारी स्कूलों में बच्चों को पढ़ा रहे हैं, उन्हें और बेहतर तरीके से बुनियादी शिक्षा कक्षा 1 से कक्षा 5 तक उनकी श्रेणी के हिसाब से दी जाये इसके लिए सरकार द्वारा लगातार मॉनेटरिंग की जायेगी। मिशन प्रेरणा के अंतर्गत मण्डल के सभी स्कूलों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दिया जाना बच्चों में एक्टिविटी के साथ बेहतर वातारवण देना सरकार की प्राथमिकता है। शिक्षा की गुणवत्ता की क्रास चैकिंग के लिए मण्डल के कुशल शिक्षकों का चयन किया गया है जो प्रेरक के तौर पर स्कूलों में औचक निरीक्षण कर शिक्षा की गुणवत्ता चेक करेंगे, इस मिशन प्रेरणा के अंतर्गत बच्चों की उपस्थिति तथा अभिभावकों की बैठकें आयोजित कराई जायेंगी। उन्होंने कहा कि प्रेरक अपनी सक्रिय भूमिका निभाएंगे। उन्होंने कहा कि शिक्षा की क्रान्ति के माध्यम से सभी अध्यापकों की ऑनलाइन मॉनीटरिंग, उनके द्वारा पढ़ाए जाने की प्रतिदिन की स्थिति पोर्टल के माध्यम से अपलोड की जाएगी तथा शिक्षा की गुणवत्ता और बेहतर बनाने के लिए सरकार द्वारा 5000 वीडियो टिप्स जो विभिन्न संस्थाओं द्वारा अपलोड की गई हैं, सभी शिक्षकों को उसे प्रतिदिन देखने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि अध्यापकों की उपस्थिति नियमित मॉनीटरिंग के लिए सभी स्कूलों में बायोमेट्रिक उपस्थिति भी अनिवार्य रूप से लगाई  जाएगी। स्कूलों में विभिन्न एक्टिविटी आयोजित की जाएंगी, जिसके तहत खेलकूद, बच्चों के कौशल विकास आदि क्षेत्र में बच्चों को सशक्त किये जाने की कार्यवाही की जायेगी, बच्चों के ज्ञान की स्थिति के लिए सभी कक्षो में एक मॉनिटरिंग चार्ट भी लगाया  जाएगा जिसमें प्रत्येक बच्चों द्वारा उनकी लर्निंग स्थिति का भी आकलन अंकित किया जाएगा जिसका भौतिक सत्यापन प्रेरक टीम द्वारा समय-समय पर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि समस्त शिक्षकों की ऑनलाइन छुट्टी के आवेदन किए जाएंगे तथा समस्त अध्यापकों की ऑनलाइन सेवा पुस्तिका भी बनाई जाएगी। मिशन प्रेरणा व कायाकल्प की मॉनीटरिंग के लिए मण्डलायुक्त ने  जिला स्तर की कोर कमेटी का गठन किया जिसमें जनपद स्तर पर सीडीओ, बीएसए, डीपीआरओ, डीडीओ जनपद की समीक्षा करेंगे तथा मंडल स्तर पर एडी बेसिक तथा जेडी समीक्षा करेंगे। गोष्ठी में विशिष्ट अतिथि के रूप में विजय किरन आनन्द महानिदेशक बेसिक शिक्षा उ प्र ने अपने उद्बोधन में कहा कि समस्त स्कूलों में बेहतर वातावरण बनाने का संकल्प प्रदेश सरकार ने लिया है, जिसके माध्यम से शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाना तथा प्रत्येक स्थिति में उनकी श्रेणी के आधार पर लर्निंग क्षमता बढ़ाने के उद्देश्य से समस्त बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दी जाए, इसके लिए बेहतर  वातावरण के साथ बच्चों के लिए विद्यालय में पुस्तकालय, स्मार्ट क्लासेस उन्हें मुहैया कराये जाने के उद्देश्य से कार्य किया जा रहा है।

इसके तहत मिशन कायाकल्प योजना में पैसे की कमी नहीं है ब्लॉक स्तर पर कार्य करते हुए जनपद के समस्त स्कूलों को 5 स्टार स्कूल की सुविधा उपलब्ध कराकर उनकी शिक्षा की गुणवत्ता प्रत्येक दशा में  बढ़नी चाहिए। जनपद तथा मंडल के समस्त दिव्यांगों को स्कूल तक लाने की पहल सरकार ने की है इसके तहत समस्त स्कूलों में दिव्यांग जनों के हिसाब से वातावरण दिया जाएगा तथा समस्त दिव्यांगों की टैगिंग करते हुए उन्हें उनकी आवश्यकता अनुसार शिक्षा मटीरियल उपलब्ध कराया जाएगा। जिलाधिकारी डॉ ब्रह्म देव राम तिवारी ने अपने संबोधन में कहा कि बच्चों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करते हुए उन्हें यह बताना है कि आज उनके द्वारा जो भी प्राकृतिक संसाधन प्रयोग किए जा रहे हैं उनका संयोजन करने के लिए उन्हें बताया जाए कि कैसे उन्हें जल संचयन, वृक्षारोपण तथा अन्य महत्वपूर्ण विषयों की गोष्ठी करते हुए मिलने वाली मूलभूत प्राकृतिक सुविधाओं को सजो कर रखना है। उन्होंने कहा कि कायाकल्प योजना के तहत जनपद के समस्त स्कूलों में एक कार्य योजना बनाई जाए जिसे जीपीडीपी में अपलोड करते हुए उसकी डिमाण्ड भेजा जाए। उन्होंने कहा कि इसके साथ-साथ गांव की भी योजना बनाते हुए समस्त गांवों का विकास कराने की योजना समस्त विभाग वार बनाई जाए। उन्होंने कहा कि 2022 तक इस योजना से आच्छादित होना है इसके लिए सभी स्कूलों को 5 स्टार की श्रेणी में लाने के उद्देश्य से सभी अध्यापक अपनी योजना बनाते हुए कार्य करें। कार्यक्रम के आंत में मंडलायुक्त महोदय ने उपस्थित सभी को मिशन प्रेरणा एवं समस्त मण्डल के स्कूलों का कायाकल्प कराने के सम्बन्ध में उपस्थित सभी को शपथ भी दिलाई। गोष्ठी में जिलाधिकारी कानपुर देहात, जिलाधिकारी फर्रुखाबाद, जिलाधिकारी इटावा तथा समस्त मुख्य विकास अधिकारी उपस्थित रहे।