जनपद वाराणसी में सेवायोजन कार्यालय इस सम्बन्ध में योजनाबद्ध ढंग से कार्य करे
June 9, 2020 • Mr Arun Mishra

मुख्यमंत्री जी ने रोजगार पर विशेष बल देते हुए कहा 

> वैश्विक महामारी कोविड 19 के लॉकडाउन के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी का पहली बार काशी आगमन हुआ।

> मुख्यमंत्री ने वाराणसी सर्किट हाउस में विकास योजनाओं की प्रगति तथा कोविड-19 सम्बन्धी कार्यों की समीक्षा की।

> कामगारों और श्रमिकों की स्किल मैपिंग कर उन्हें सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योगों में समायोजित किया जाए : मुख्यमंत्री

सर्किट हाउस में विभागीय अधिकारियों के साथ वाराणसी जनपद में चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा बैठक करते मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ। (फोटो : मुख्यमंत्री कार्यालय)

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने सोमवार 8 जून को जनपद वाराणसी के सर्किट हाउस में अधिकारियों के साथ जनपद में संचालित विकास योजनाओं की प्रगति तथा कोविड-19 सम्बन्धी कार्यों की समीक्षा की। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना के संक्रमण को रोकना है। इस समय हम ऐसी स्टेज पर हैं, जहां थोड़ी सी लापरवाही संकट का कारण बन सकती है। वर्तमान में दो कार्य महत्वपूर्ण हैं - कोरोना के संक्रमण को रोकना तथा आर्थिक गतिविधि को तेज करना। इसके लिए छोटी-छोटी चीजों पर ध्यान देना होगा। जैसे कोविड अस्पताल में सीनियर डॉक्टर का राउण्ड लेना, पैरामेडिकल व नर्सिंग स्टाफ का उपलब्ध रहना, समय पर भोजन उपलब्ध होना, गुनगुना पानी उपलब्ध कराना। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना संक्रमण के प्रसार को हर हाल में रोका जाए। सर्विलांस कार्य को प्रभावी करें। आशा वर्कर तथा निगरानी समितियां एक्टिव हों। पॉजिटिव कोरोना केस का इलाज हर हाल में कोविड अस्पताल में हो तथा संदिग्ध मरीज को इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन में रखा जाए। इसके अतिरिक्त अन्य इमरजेंसी सेवायें व महत्वपूर्ण ऑपरेशन कार्य चालू रखे जाएं। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना के कंटेनमेण्ट जोन में विशेष सतर्कता रखी जाए। मेडिकल इंफेक्शन को रोका जाए। उन्होंने कहा कि कामगारों और श्रमिकों की स्किल मैपिंग कर उन्हें सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योगों में समायोजित किया जाए। यहां के श्रमिकों और कामगारों को केंद्र व राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत जहां भी रोजगार की सम्भावनाएं हैं, उसकी मैपिंग कर ली जाए। इस सम्बन्ध में आगामी 06 माह की कार्य योजना बनायी जाए। बड़े जिलों में प्रतिदिन डेढ़ लाख रोजगार के अवसर सृजित हों। प्रधानमंत्री जी द्वारा दिए गए विशेष आर्थिक पैकेज के तहत लोगों को लाभांवित कराया जाए। स्ट्रीट वेंडर को योजना बनाकर लाभान्वित कराया जाए। मुख्यमंत्री जी ने रोजगार पर विशेष बल देते हुए कहा कि जनपद में सेवायोजन कार्यालय इस सम्बन्ध में योजनाबद्ध ढंग से कार्य करे। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कानून-व्यवस्था को बिगाड़ने का प्रयास करने वालों पर सख्ती से कार्रवाई की जाए। पुलिस प्रो-एक्टिव होकर कार्य करे। पूर्व से एहतियाती कदम उठाए। पेट्रोलिंग बढ़ाएं, आपराधिक घटनाओं में त्वरित एवं प्रभावी कार्यवाही की जाए। अवैध असलहों के विरुद्ध अभियान चलाएं। पुलिस की बीट प्रणाली मजबूत हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि अनलॉक-2 शुरू हो गया है। सभी गतिविधियां शुरू हो गई हैं। सुरक्षा का वातावरण आवश्यक है। जनप्रतिनिधियों से संवाद रखें। सरकारी मशीनरी की कार्यप्रणाली ऐसी हो कि लोग अच्छा महसूस करें। प्रदेश में टीम भावना से कार्य हुआ, जिसका अच्छा परिणाम दिखा। इसी प्रकार भविष्य में भी बिना किसी शिथिलता के कार्य करना है। बैठक की शुरुआत में मण्डलायुक्त दीपक अग्रवाल ने जनपद में गतिमान प्रमुख बड़ी योजनाओं का प्रस्तुतीकरण किया। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने जनपद में कोरोना के संक्रमण का नियंत्रण व बचाव तथा आमजन की सहायता हेतु किए गए कार्यों की रिपोर्ट प्रस्तुत की।