जिला मुख्यालय पर नव-निर्मित सर्किट हाउस का लोकार्पण
February 23, 2020 • Mr Arun Mishra
卐 उप मुख्यमंत्री ने 61 करोड़ 6 लाख 7 हजार रूपये की 55 परियोजनाओं का किया शिलान्यास / लोकार्पण।  
卐 सरकार ने गरीबों की गरीबी दूर करने के लिए अपना पूरा खजाना खोल रखा है: उप मुख्यमंत्री, उ प्र 
卐 प्रान्तीय खण्ड की लगभग 26 कि मी, निर्माण खण्ड 1 की 1.5 कि मी, निर्माण खण्ड-2 की लगभग 13 कि मी के कार्यों का शिलान्यास।
卐 ग्रामीण अभियंत्रण विभाग की ओर से आर जी रोड शाहगंज तिराहे के पास सरदार वल्लभ भाई पटेल गेट के निर्माण कार्य का शिलान्यास।
लखनऊ (का ० उ ० सम्पादन)। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने सोनभद्र जिले के विधान सभा क्षेत्र घोरावल के सरदार वल्लभ भाई पटेल इण्टर मीडिएट कालेज भगवास (औराही) के मैदान में सोनभद्र जिले की 61 करोड़ 6 लाख 7 हजार की लागत की लोक निर्माण विभाग की 55 परियोजनाओं का लोकार्पण / शिलान्यास इलेक्ट्रानिक बटन दबाकर किया। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग प्रान्तीय खण्ड की लगभग 26 कि मी लम्बी 28 करोड़ 3 लाख 58 हजार की 27 परियोजनाओं, लोक निर्माण विभाग निर्माण खण्ड 1 की 1.5 कि मी लम्बी, 14 करोड़ 86 लाख 80 हजार लागत की 1.5 कि मी लम्बी व लोक निर्माण विभाग निर्माण खण्ड-2 की लगभग 13 कि मी लम्बी 11 करोड़ 65 लाख 53 हजार की लागत की 19 परियोजनाओं यानी कुल 40 कि मी व ग्रामीण अभियंत्रण विभाग की ओर से 10 लाख 42 हजार की लागत से निर्मित आर जी रोड शाहगंज तिराहे के पास सरदार वल्लभ भाई पटेल गेट के निर्माण यानी कुल 54 करोड़ 66 लाख 33 हजार की लागत से 54 परियोजनाओं का शिलान्यास व जिला मुख्यालय पर 6 करोड़ 39 लाख 74 हजार की लागत से निर्मित सर्किट हाउस का लोकार्पण किया। इस मौके पर विधायक, घोरावल डॉ अनिल कुमार मौर्या व अन्य प्रबुद्ध लोगों ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, जिले के प्रभारी मंत्री डॉ सतीष चन्द्र द्विवेदी के साथ ही जनप्रतिनिधियों व गणमान्यजनों को पुष्प गुच्छ, अंग वस्त्रम् व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। उप मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर आयोजित जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि सोनभद्र में इतना सोने का भण्डार मिला है कि सोनभद्र जिले के साथ ही उत्तर प्रदेश व देश की गरीबी को दूर करने में मदद करेगा। सोनभद्र जिले की सार्थकता प्राकृतिक सम्पदाओं के दृष्टिगत बढ़ती जा रही है। उन्होंने कहा कि सोनभद्र जिले में सोना के अलावा यूरेनियम का भी भण्डार मिलने की संभावना है। ललितपुर में प्लेटिनम भी मिला है। सोनभद्र जिला जहां स्वर्ण का भण्डार है, वहां विशेष रूप से नाग देवता भी रहते हैं, नाग देवता हमारे भोले बाबा के गले के हार हैं। उन्होंने केन्द्र सरकार व प्रदेश सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि देश में मोदी सरकार व उत्तर प्रदेष में योगी सरकार ने गरीबों की गरीबी दूर करने के लिए गरीबी के खिलाफ अपना पूरा खजाना खोल रखा है। अब हर घर को जल देने की योजना चल रही है। प्रधानमंत्री जी  व मुख्यमंत्री जी गरीबों को आवास दे रहे हैं, अब कोई भी गरीब कच्चे मकान में नहीं रहेगा। सभी गरीबों का मकान प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत बनाये जा रहे हैं। महिलाओं के हितों का ध्यान रखते हुए उज्जवला योजना के तहत रसोई गैस देने का काम किया गया। गरीबों को पांच लाख रूपये तक के मुफ्त ईलाज की व्यवस्था केन्द्र  व प्रदेश सरकार कर रही है। सरकार ने 86 लाख से अधिक किसानों का 36 हजार करोड़ का कर्जा माफ करने का काम किया और साथ ही किसानों के लिए किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को हर साल 6-6 हजार रूपये उनके खाते में भेजने का काम कर रही है। जो किसान किसी कारण से छूट गये हैं, उनको भी सूचीबद्ध करने का काम चल रहा है। श्री मौर्य ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश के प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने देश के पिछड़े जिलों को सूचीबद्ध करते हुए प्रदेश के आठ जनपदों को भी पिछड़े जिले में शामिल किया है, जिसमें सोनभद्र जिला भी शामिल है। सोनभद्र जिले को अति पिछड़े की श्रेणी से बाहर लाने के लिए केन्द्र व प्रदेश सरकार विशेष योजनाएं  सोनभद्र जिले में चला रही है। उन्होंने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम-2019 एक अच्छा कानून है, यह कानून सिर्फ नागरिकता देने के लिए है। किसी की नागरिकता छीनने का अधिकार इस कानून में नहीं है। नागरिकता संशोधन अधिनियम-2019 (सीएए) के प्रति नागरिकों को जागरूक किया जाए। समारोह को प्रदेश के राज्यमंत्री बेशिक शिक्षा विभाग, (स्वतंत्र प्रभार)/ जिले के प्रभारी मंत्री डॉ सतीष चन्द्र द्विवेदी ने  संबोधित करते हुए कहा कि लोक निर्माण विभाग द्वारा 55 परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण कार्यों में जिला खनिज निधि व अन्य योजनाओं के माध्यम से जिले में हो रहे चतुर्दिक विकास पर प्रकाश डाला। उप मुख्यमंत्री ने सोनभद्र जिले के भलाई के लिए लगभग 69 कि मी लम्बी 5 महत्वाकांक्षी सड़कों को बनाने व नव निर्मित सर्किट हाउस को तथागत के रूप में उत्कृष्टता के साथ अधूरे कार्यों को पूरा करने की घोषणा की। उप मुख्यमंत्री ने सोनभद्र जिले की तारीफ करते हुए कहा कि सोनभद्र जिला प्राकृतिक रूप से काफी सम्पन्न होने के बावजूद प्रदेश के अति पिछड़े जिलो की श्रेणी में है, जिसके विकास के लिए लोक निर्माण विभाग की 69 कि मी लम्बी सड़कों को बनाये जाने की घोषणा की। उन्होंने 12 कि मी लम्बी बी एस रोड कि मी 56 से वाया पुरौनिया मार्ग का चौड़ीकरण की घोषणा की। इसी प्रकार से 10 कि मी आर जी रोड से सहदेइया बैडाड़ मार्ग के चौड़ीकरण व सुदृढ़ीकरण, 21 कि मी लम्बी घोरावल-गुरूवल-शिल्पी वाया कोलिया घाट मार्ग का चौड़ीकरण, सुदृढ़ीकरण, लगभग 13 कि मी लम्बी शाहगंज-ईनम-नरैना-पापी मार्ग का चौड़ीकरण, सुदृढ़ीकरण व 13 कि मी लम्बी तिलौली-बागेपोखर-सतौहा मार्ग के चौड़ीकरण व सुदृढ़ीकरण तथा जिला मुख्यालय पर निर्मित सर्किट हाउस सोनभद्र को तथागत यानी उत्कृष्ट रूप देने की घोषणा की। इस मौके पर प्रदेश के मा उप मुख्यमंत्री के अलावा प्रदेश के बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री, (स्वतंत्र प्रभार)/जिले के प्रभारी मंत्री डॉ सतीष चन्द्र द्विवेदी, अध्यक्ष जिला पंचायत अमरेष सिंह पटेल, सांसद पकौड़ी लाल, सांसद राज्यसभा रामसकल, विधायक सदर भूपेष चौबे, विधायक घोरावल डॉ अनिल कुमार मौर्या, विधायक ओबरा संजीव कुमार गौड़, पूर्व सांसद छोटेलाल खरवार, तीरथराज, अध्यक्ष जिला सहकारी बैंक एवं पूर्व विधायक राजेन्द्र सिंह, धर्मवीर तिवारी, गोविन्द यादव, श्रवण कुमार, मोहन कुशवाहा, प्रवीण सिंह, सुरेन्द्र मौर्या, कुलदीप पटेल,  सहित भारी संख्या में क्षेत्रीय नागरिकगण आदि मौजूद रहे।