जिन प्रयोजनों हेतु धनराशि स्वीकृत की गई है, उसी प्रयोजनों हेतु व्यय की जाए : उप मुख्यमंत्री
August 24, 2020 • Mr Arun Mishra

> राज्य सड़क निधि से विभिन्न जनपदों के 145 मार्गों के चालू कार्यों हेतु धनराशि आवंटित की गई है।

> राज्य सड़क निधि के अन्तर्गत जनपद लखनऊ में लोहिया पथ पर सामान्य मरम्मत के साथ नवीनीकरण कार्य हेतु धनराशि अवमुक्त की गई है।

> राज्य / प्रमुख / अन्य जिला मार्ग योजनान्तर्गत 6 जनपदों के 7 चालू कार्यों हेतु धनराशि अवमुक्त की गई है।

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के निर्देशों के अनुपालन में उ प्र शासन द्वारा राज्य सड़क निधि से विभिन्न जनपदों के 145 मार्गों के चालू कार्यों हेतु अवशेष धनराशि के सापेक्ष 52 करोड़ 79 लाख 47 हजार रुपए की धनराशि का आवंटन किया गया है। इन 145 कार्यों में जनपद सीतापुर में 23, झांसी में 12, अलीगढ़ में 10, वाराणसी में 10, कानपुर नगर में 9, सहारनपुर में 9, हरदोई में 8, कन्नौज में 5, मुरादाबाद में 5, देवरिया में 5, अमरोहा में 5, लखीमपुर - खीरी में 5, महोबा में 4, अम्बेडकरनगर में 4, चित्रकूट में 4, जालौन में 4, बिजनौर में 4, बदायूं में 3, गाजीपुर में 2, बलियां में 2, मेरठ में 2, रायबरेली में 2, तथा शामली, चन्दौली, प्रयागराज, लखनऊ, बरेली, बाराबंकी, आगरा, बहराईच में 1 - 1 मार्गों पर कार्य चल रहा है। राज्य सड़क निधि के अन्तर्गत जनपद लखनऊ में लोहिया पथ पर सामान्य मरम्मत के साथ नवीनीकरण कार्य हेतु (विक्रमादित्य चैराहे से 1090 चौक तक) 01 करोड़ 35 लाख 17 हजार रुपए की धनराशि उ प्र शासन द्वारा अवमुक्त की गई है। इस सम्बन्ध में आवश्यक शासनादेश उ प्र शासन लोक निर्माण अनुभाग - 1 द्वारा जारी कर दिए गए हैं। जनपद झांसी, बुलन्दशहर, कौशाम्बी, अलीगढ़, जालौन, अमेठी में स्वीकृत 7 चालू कार्यों हेतु राज्य / प्रमुख / अन्य जिला मार्ग योजनान्तर्गत 23 करोड़ 45 लाख 98 हजार रुपए की धनराशि उ प्र शासन के अनुभाग - 11 द्वारा अवमुक्त की गयी है। इस सम्बन्ध में आवश्यक शासनादेश जारी कर दिये गये हैं। जारी शासनादेश में निर्देशित किया गया है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि जिन प्रयोजनों हेतु धनराशि स्वीकृत की गई है, उसी प्रयोजनों हेतु व्यय की जाए। समस्त कार्य निर्धारित व अनुमोदित मानकों एवं विशिष्टियों के अनुरूप सम्पादित कराए जाएं, ताकि उच्च गुणवत्ता सुनिश्चित हो सके। श्री मौर्य ने निर्देश दिये हैं कि आवंटित धनराशि का सदुपयोग जारी दिशा - निर्देशों के अनुरूप किया जाए तथा सभी कार्य निर्धारित समय - सीमा के अन्तर्गत अनिवार्य रूप से पूरे किये जाएं।