कानपुर नगर समेत प्रदेश के 11 जनपदों में सीरो सर्वे का कार्य आज से प्रारम्भ : एसीएस हेल्थ
September 1, 2020 • Mr Arun Mishra

> रविवार 30 अगस्त 2020 को प्रदेश में ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में अन्त्योदय के अन्तर्गत 40लाख से अधिक के सापेक्ष 38 लाख से अधिक कार्डों पर राशन वितरण किया गया : एसीएस होम

> रविवार 30 अगस्त 2020 को पीएचएच राशन कार्ड 3 करोड़ 16 लाख से अधिक के सापेक्ष 3 करोड़ से अधिक राशन कार्डों पर खाद्यान्न वितरण किया गया : एसीएस होम

> प्रदेश में कुल एलोकेशन का 96.59 प्रतिशत गेहूँ, 96.59 प्रतिशत चावल तथा 95.02 प्रतिशत चना वितरित किया गया : एसीएस होम

> आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 4,33,704 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं : एसीएस होम

> प्रदेश में रविवार 30 अगस्त 2020 को एक दिन में 1,36,585 सैम्पल की जांच की गयी : एसीएस हेल्थ

> प्रदेश के सभी प्रमुख कार्यालयों, प्रतिष्ठानों तथा औद्योगिक ईकाईयों में कुल 62,901 हेल्प डेस्क स्थापित किये गये : एसीएस हेल्थ

कोरोना संक्रमण काल में मेजर सर्जरी सरकार की बड़ी उपलब्धि ....

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि 01 - 30 जून अवधि में पिछले वर्ष 53,032 मेजर सर्जरी हुयी थी, इस वर्ष भी कोरोना संक्रमण काल में भी 40,957 मेजर सर्जरी की गयी जो सरकार की बहुत बड़ी उपलब्धि है।

उत्तर प्रदेश के एसीएस हेल्थ श्री अमित मोहन प्रसाद और एसीएस होम श्री अवनीश कुमार अवस्थी 31 अगस्त 2020 को लोकभावन मीडिया सेण्टर में प्रेस वार्ता करते हुए।  (फोटो : उ प्र सरकार सोशल मीडिया)

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने सोमवार 31 अगस्त 2020 को लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने आज भारत सरकार द्वारा जारी की गयी अनलॉक - 4 गाइडलाइन के अनुसार कल से प्रदेश में कन्टेनमेन्ट जोन के बाहर के क्षेत्रों में अधिक गतिविधियों को खोलने के लिए दिशा - निर्देश जारी किये गये हैं। श्री अवस्थी ने बताया कि समस्त स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक एवं कोचिंग संस्थान छात्रों एवं सामान्य शैक्षणिक कार्य हेतु 30 सितम्बर, 2020 तक बन्द रहेंगे। यद्यपि निम्नलिखित गतिविधियों को शुरू करने की अनुमति होगी। उन्होंने बताया कि ऑनलाइन / दूरस्थ शिक्षा हेतु अनुमति जारी रहेगी और इन्हें प्रोत्साहित किया जाएगा। 21 सितम्बर, 2020 से स्कूलों में टीचिंग तथा नॉन टीचिंग स्टॉफ को ऑनलाइन शिक्षा / परामर्श सम्बन्धी कार्यों के लिए बुलाया जा सकता है। इसके लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जाएगी। उन्होंने बताया कि कन्टेनमेन्ट जोन के बाहर पड़ने वाले क्षेत्रों में कक्षा 9 से 12 तक के विद्यार्थियों को अध्यापकों से मार्ग - दर्शन हेतु स्कूलों में स्वैच्छिक आधार पर जाने की अनुमति होगी। श्री अवस्थी ने बताया कि राष्ट्रीय कौशल प्रशिक्षण संस्थानों, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों, राष्ट्रीय कौशल विकास निगम अथवा राज्य कौशल विकास मिशनों में अथवा भारत सरकार / राज्य सरकार में पंजीकृत अल्पकालिक प्रशिक्षण केन्द्रों में कौशल अथवा व्यवसायिक प्रशिक्षण की अनुमति होगी। राष्ट्रीय उद्यमिता एवं लघु व्यवसाय एवं विकास संस्थान, भारतीय उद्यमिता संस्थान, उद्यमिता विकास संस्थान उत्तर प्रदेश और उनके प्रशिक्षण प्रदान करने वालों को भी अनुमति होगी। उन्होंने बताया कि यह व्यवस्था 21 सितम्बर, 2020 से लागू होगी। इसके लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जाएगी। उन्होंने बताया कि उच्च शिक्षा संस्थानों में केवल शोधार्थियों तथा तकनीकी एवं व्यवसायिक प्रोग्रामों जिनमें प्रयोगशाला सम्बन्धी कार्यों की आवश्यकता पड़ती हो से सम्बन्धित परास्नातक के छात्रों को अनुमति होगी किन्तु ऐसा कोविड - 19 के दृष्टिगत परिस्थितियों के मूल्यांकन के सम्बन्ध में उच्च शिक्षा विभाग और गृह मंत्रालय के मध्य विचार - विमर्श के उपरान्त ही होगा। श्री अवस्थी ने बताया कि 07 सितम्बर, 2020 से मैट्रो रेल को चरण-बद्ध तरीके से चलाया जाएगा। 21 सितम्बर, 2020 से समस्त सामाजिक, अकादमिक, खेल, मनोरंजन, साँस्कृतिक, धार्मिक, राजनीतिक कार्यक्रमों एवं अन्य सामूहिक गतिविधियों को (अधिकतम 100 व्यक्ति) शुरू करने की अनुमति होगी। जिनमें फेस-मॉस्क का प्रयोग, सोशल डिस्टेन्सिंग का अनुपालन तथा थर्मल स्कैनिंग और हाथ धोने सेनेटाइजर की व्यवस्था करना अनिवार्य होगा। शादी-विवाह सम्बन्धी समारोह में अधिकतम 30 व्यक्ति और अन्तिम संस्कार में अधिकतम 20 व्यक्तियों के शामिल होने की अनुमति 20 सितम्बर, 2020 तक जारी रहेगी। इसके बाद अधिकतम 100 व्यक्तियों की सीमा लागू होगी। समस्त सिनेमा हॉल, तरण-ताल, मनोरंजन–पार्क, थिएटर, सभागार और इस प्रकार के अन्य स्थान बन्द रहेंगे यद्यपि ओपेन एयर–थियेटरों को 21 सितम्बर, 2020 से शुरू करने की अनुमति होगी। श्री अवस्थी ने बताया कि 65 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति, सह-रुग्णता अर्थात एक से अधिक अन्य बीमारियों से ग्रसित व्यक्ति, गर्भवती स्त्रियां और 10 वर्ष की आयु से नीचे के बच्चे, सिवाय ऐसी परिस्थितियों के जिनमें स्वास्थ्य सम्बन्धी आवश्यकताओं हेतु बाहर निकलना जरूरी हो, घरों के अन्दर ही रहेंगे। आरोग्य-सेतु ऐप शुरूआती संक्रमण के खतरे को पहचानने और संक्रमण के विरुद्ध व्यक्ति एवं समुदाय को सुरक्षा प्रदान करता है। कार्यालयों एवं कार्यस्थलों पर समस्त कर्मचारियों / कार्मिकों को संक्रमण से बचाव हेतु अपने मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड कर लेना चाहिए। उन्होंने बताया कि प्रत्येक शुक्रवार रात्रि 10.00 बजे से सोमवार प्रातः 05.00 बजे तक कतिपय प्रतिबन्धों के साथ व्यवस्था लागू रहेगी। श्री अवस्थी ने बताया कि कल प्रदेश में ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में अन्त्योदय (राशन कार्ड योजना) के अन्तर्गत 40,76,189 के सापेक्ष 3870719 कार्डों पर राशन का वितरण किया गया, जो कि 94.96 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि पीएचएच राशन कार्ड 3,16,66,001 के सापेक्ष 3,00,04,771 राशन कार्डों पर खाद्यान्न का वितरण किया गया, जो कि 94.75 प्रतिशत है। इस प्रकार कुल 35742190 कार्ड के सापेक्ष 33875490 राशन कार्डों पर खाद्यान्न का वितरण किया गया जो कि 94.78 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि अन्त्योदय योजना के अन्तर्गत 38,440.884 मी टन गेहूँ का वितरण, 25,627.256 मी टन चावल तथा 3,868.487 मी टन चना का वितरण किया गया। उन्होंने बताया कि पीएचएच राशन कार्डों के अंतर्गत पूरे प्रदेश में गेहूँ 3,85,849.383 मी टन, चावल 2,57,232.922 मी टन तथा चना 29,972.154 मी टन चने का वितरण किया गया। इस प्रकार से कुल 4,24,290.267 मी टन गेहूं, 2,82,860.178 मी टन चावल तथा 33,840.641 मी टन चना का वितरण पूरे प्रदेश में किया गया है। उन्होंने बताया कि इस प्रकार से कुल एलोकेशन का 96.59 प्रतिशत गेहूँ, 96.59 प्रतिशत चावल तथा 95.02 प्रतिशत चना वितरित किया गया है। श्री अवस्थी ने बताया कि पुलिस विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही में अब तक धारा 188 के तहत 2,11,838 लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की गई। प्रदेश में अब तक 1,39,72,092 वाहनों की सघन चेकिंग में 70,304 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 71,70,69,959 रुपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 4,33,704 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। उन्होंने बताया कि कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1166 लोगों के खिलाफ 860 एफआईआर दर्ज करते हुए 399 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। फेक न्यूज के अन्तर्गत अब तक 2407 मामलों में संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गयी है। उन्होंने बताया कि अब तक प्रदेश में 89 एफआईआर दर्ज करते हुए 26 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के कन्टेनमेंट जोन में 85,90,990 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन कन्टेनमेंट जोन में कोरोनो पॉजीटिव लोगों की संख्या 40,954 तथा इन्टीट्यूशल क्वारंटीन किये गये लोगों की संख्या 31,307 है। उन्होंने बताया कि कल उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम द्वारा संचालित 5130 बसों के माध्यम से 6.37 लाख लोगों ने यात्रा की। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड - 19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में 1,36,585 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 56,26,897 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटे में कोरोना के 5061 नये मामले आये हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 54,788 कोरोना के एक्टिव मामले हैं, जिसमें 27,263 मरीज होम आइसोलेशन, 2657 लोग प्राइवेट हास्पिटल में तथा 260 मरीज सेमी पेड फैसिलिटी में तथा इसके अतिरिक्त शेष कोरोना संक्रमित एल-1, एल-2, एल-3 के कोरोना अस्पतालों में हैं। उन्होंने बताया कि वर्तमान में 50 प्रतिशत से अधिक लोग होम आइसोलेशन में हैं। प्रदेश में अब तक 1,72,140 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में रहने वाले लोग थर्मामीटर तथा पल्स ऑक्सीमीटर साथ रखें। उन्होंने बताया कि यदि किसी को खांसी, बुखार या सांस फूले तो तत्काल हेल्पलाइन नं0 18001805145 अथवा सी0एम0 हेल्पलाइन नं0 1076 पर सम्पर्क करें। श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश के सभी प्रमुख कार्यालयों, प्रतिष्ठानों तथा औद्योगिक ईकाईयों में कुल 62,901 हेल्प डेस्क स्थापित किये गये हैं। उन्होंने बताया कि कार्यालय, प्रतिष्ठान में आने वालों में पल्स ऑक्सीमीटर तथा थर्मामीटर के माध्यम से प्रारम्भिक जांच की जाती है। उन्होंने बताया कि यहां पर विभाग के एक्सर्पट डॉक्टर व विशेषज्ञ उपलब्ध रहते हैं, जो उन्हें उचित सलाह देने के साथ ही कोरोना संक्रमण के प्रति बचाव व जागरुक करने संबंधी जानकारी भी उपलब्ध कराते हैं। श्री प्रसाद ने बताया कि कल से 11 जनपदों लखनऊ, कानपुर नगर, गोरखपुर, आगरा, गाजियाबाद, बागपत, मुरादाबार, मेरठ, वाराणसी, प्रयागराज तथा कौशाम्बी में सीरो सर्वे का कार्य प्रारम्भ किया जा रहा है। कल से पहले चरण का प्रशिक्षण भी दिया जायेगा तथा दूसरे चरण की 03 सितम्बर से प्रशिक्षण कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि 04 - 06 सितम्बर के चयनित समूहों में से प्रत्येक जनपद से 1080 लोगों का ब्लड सैम्पल लिया जायेगा। उन्होंने बताया कि ब्लड सैम्पल को केजीएमयू के माध्यम से इसकी जांच भी की जाएगी। उन्होंने बताया कि कल प्रदेश के कुछ जेलों में भी कोविड - 19 से संक्रमित मरीज पाए गए हैं। जेल में संक्रमण न फैले इसके लिए कैदियों हेतु अलग से प्रोटोकॉल जारी किया जा रहा है। सरकार ने कोविड - 19 के जांच एवं इलाज की निःशुल्क व्यवस्था की है। उन्होंने कहा कि लोग घबराए नहीं, स्वस्थ एवं प्रसन्न रहें तथा मास्क का उपयोग करते हुए दो गज की दूरी बनाकर रखें। श्री प्रसाद ने बताया कि नॉन कोविड के अंतर्गत 01 - 30 जून अवधि में पिछले वर्ष 53,032 मेजर सर्जरी हुयी थी, इस वर्ष भी कोरोना संक्रमण काल में भी 40,957 मेजर सर्जरी की गयी जो सरकार की बहुत बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष सरकारी अस्पतालों में माइनर सर्जरी के 89,238 हुयी थी, जबकि इस वर्ष 66,845 माइनर सर्जरी हुयी हैं। उन्होंने बताया कि 29 अगस्त को सरकारी अस्पतालों में 6145 बच्चों की डिलीवरी हुयी जिनमें 5959 नार्मल तथा 184 सिजेरियन डिलीवरी हुयी।