कानपुर से अलीगढ़ नेशनल हाईवे का कार्य प्रगति पर, एनएच 2 से जुड़ेगा अलीगढ़ - कानपुर हाईवे
June 29, 2020 • Mr Arun Mishra

उत्तर प्रदेश के अंदर कार्यों को पूरा करने में लाएं तेजी : केशव प्रसाद मौर्य

एनएचएआई व परिवहन मंत्रालय समेत अन्य विभागों के अधिकारियों को उप मुख्यमंत्री के स्पष्ट निर्देश

कहा विभागों के तारतम्य में उत्पन्न हो रही केवल जटिल समस्याओं को ही संज्ञान में लाएं। जिन मामलों को कैबिनेट से पास कराने की जरूरत हो तो तथ्यात्मक विवरण के साथ उसका भी प्रस्ताव तत्काल प्रस्तुत किया जाए।

 

पर्यटन मंत्रालय के महत्वपूर्ण रामायण सर्किट के तहत राम वन गमन मार्ग के बारे में उप मुख्यमंत्री जी ने कहा कि इस मार्ग का निर्माण हर हाल में होना है और इसके लिए शीघ्रातिशीघ्र सारी कार्यवाही पूरी की जाए।

>> इंडो नेपाल बॉर्डर परियोजना के तहत बनाई जाने वाली सड़कों के बारे में वन विभाग व अन्य संबंधित विभागों से शीघ्र अनापत्ति लें : उप मुख्यमंत्री

>> प्रयागराज रिंग रोड हेतु भूमि अधिग्रहण की कार्यवाही शीघ्र सुनिश्चित की जाए : उप मुख्यमंत्री

>> फाफामऊ ब्रिज हेतु भूमि अधिग्रहित भूमि के मुआवजा वितरण की प्रक्रिया चालू है : उप मुख्यमंत्री

 

> अन्य चालू कार्य जिनपर हुई चर्चा :

> वाराणसी रिंग रोड के कार्य प्रगति पर।

> दिल्ली - मेरठ नेशनल हाईवे का कार्य प्रगति पर।

> ऊंचाहार में आरओबी के कार्य प्रगति पर। 

> लखनऊ - सुल्तानपुर - वाराणसी नेशनल हाईवे का कार्य प्रगति पर। 

> गोरखपुर से वाराणसी नेशनल हाईवे का कार्य प्रगति पर।

> लखनऊ रिंग रोड का कार्य प्रगति पर। 

लखनऊ के तथागत सभागार में राज्य मंत्री एवं केंद्र तथा प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ राष्ट्रीय राजमार्गों से संबंधित विभिन्न कार्यों की समीक्षा करते उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य।     (फोटो : बी एल यादव)

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने राष्ट्रीय राजमार्ग विकास प्राधिकरण व परिवहन मंत्रालय भारत सरकार तथा अन्य विभागों के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण, बाईपास,ओवर ब्रिज और रिंग रोड के निर्माण शीघ्र से शीघ्र पूरे किए जाएं। उन्होंने कहा कि किसी विभाग द्वारा अगर किसी प्रकार की कोई समस्या आ रही है तो उसका आपस में समन्वय करके समाधान सुनिश्चित करें। यदि कहीं कोई नीतिगत मामला या कोई जटिल मामला हो तो उसे संज्ञान में लाएं और कैबिनेट से पास कराने की जरूरत हो तो तथ्यात्मक विवरण के साथ उसका भी प्रस्ताव तत्काल प्रस्तुत किया जाए। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य सोमवार 29 जून 2020 को यहां लोक निर्माण विभाग मुख्यालय स्थित तथागत सभागार में राष्ट्रीय राजमार्गों के कार्यों की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने एनएचएआई के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे उत्तर प्रदेश के अंदर कार्यों को पूरा करने में तेजी लाएं और निर्धारित समय सीमा के अंदर कार्य पूरा करने का प्रयास करें। उन्होंने कहा कि कार्य धरातल पर नजर आने चाहिए। उत्तर प्रदेश में जो भी परियोजनाएं चल रही हैं, उन्हें तत्काल पूरा किया जाए और जिन परियोजनाओं पर प्रक्रियात्मक कार्रवाई होनी है, उसको भी शीघ्र पूरा कराया जाए। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही किसी भी दशा में क्षम्य नहीं होगी। श्री मौर्य ने निर्देश दिए कि फ्लाईओवर / आरओबी / रिंग रोड के कार्य में भी तेजी लाई जाए। जो कार्य पहले से तय हो गए हैं, उसमें अनावश्यक रूप से कोई शर्तें ना लगाई जाएं और कार्यों की रफ्तार बढ़ाई जाए। उन्होंने मोर्थ द्वारा कराए जाने तथा कराए जा रहे कार्यों के बारे में भी निर्देश दिए की वह भी अपने कार्यों में गति लाएं। अयोध्या से चित्रकूट तक जाने वाले राम वन गमन मार्ग के बारे में उन्होंने कहा इस मार्ग का निर्माण हर हाल में होना है और इसके लिए शीघ्रातिशीघ्र सारी कार्यवाही पूरी की जाए। उन्होंने कहा कि पर्यटन के दृष्टिकोण से भी इस मार्ग को बनाया जाना नितांत आवश्यक है। फाफामऊ ब्रिज के बारे में बताया गया कि इसका टेंडर कर दिया गया है तथा अंतिम तारीख 7 जुलाई लगी हुई है। भूमि अधिग्रहण का कार्य पूरा हो गया है और मुआवजा वितरण की प्रक्रिया चल रही है। वाराणसी रिंग रोड के चल रहे कार्य को शीघ्र पूरा करने के निर्देश उन्होंने दिए। दिल्ली - मेरठ नशनल हाईवे को भी पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अलीगढ़ से कानपुर तक बनाए जा रहे नेशनल हाईवे को एनएच - 2 से जोड़ने का भी प्रस्ताव बनाया जाए। ऊंचाहार में चल रहे आरओबी के कार्य को भी शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने लखनऊ - सुल्तानपुर - वाराणसी नेशनल हाईवे तथा गोरखपुर से वाराणसी नेशनल हाईवे के कार्य में भी तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने इंडो नेपाल बॉर्डर परियोजना के तहत बनाई जाने वाली सड़कों के बारे में वन विभाग व अन्य संबंधित विभागों से शीघ्र अनापत्ति लेते हुए उनको भी शीघ्र बनाए जाने के निर्देश दिए। प्रयागराज रिंग रोड के बारे में उन्होंने निर्देश दिए कि भूमि अधिग्रहण की कार्यवाही शीघ्र सुनिश्चित की जाए। बताया गया कि लखनऊ रिंग रोड का कार्य तेजी से चल रहा है, इसे भी निर्धारित समय सीमा के अंदर पूरा करने के निर्देश दिए गए। बैठक में  यूटिलिटी शिफ्टिंग सुपरविजन चार्जेज, स्टाम्प ड्यूटी आदि विषयों पर भी चर्चा की गई। बैठक में राज्य मंत्री स्टांप एवं न्यायालय शुल्क एवं पंजीयन (स्वतंत्र प्रभार) रवीन्द्र जायसवाल, राज्य मंत्री लोक निर्माण विभाग चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय, अपर मुख्य सचिव ऊर्जा अरविंद कुमार ,प्रमुख सचिव स्टांप मीना कुमारी मीना, महानिदेशक स्टांप मिनिस्ट्री, प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग नितिन रमेश गोकर्ण, सचिव लोक निर्माण विभाग समीर वर्मा,  प्रबंध निदेशक जल निगम विकास गोठलवाल, विशेष सचिव राजस्व राधेश्याम, विभागाध्यक्ष लोक निर्माण विभाग राजीव रतन सिंह, अधीक्षण अभियंता (एनएच) अशोक कनौजिया, राष्ट्रीय राजमार्ग विकास प्राधिकरण व मोर्थ के वरिष्ठ अधिकारी समेत अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।