करोना की इस त्रासदी से जूझ रहे लोगों को मिलेगा लाभ : मानवेन्द्र सिंह
May 15, 2020 • Mr Arun Mishra

> भाजपा कानपुर बुंदेलखंड क्षेत्रीय अध्यक्ष ने राहत पैकेज घोषणाओं पर केंद्र की मोदी सरकार को धन्यवाद ज्ञापित किया।

कानपुर (क्षेत्रीय मीडिया प्रभारी, भाजपा कानपुर बुंदेलखंड)। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिल्ली में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित किए गए राहत पैकेज के विवरण के द्वितीय भाग की घोषणा की। इसमें कुल मिलाकर के 9 राहत पैकेज की घोषणा की गई है जिसमें से 3 प्रवासी मजदूरों के लिए हैं। एक शिशु कल्याण मुद्रा लोन, एक रेडी ठेले वालों के लिए, एक हाउसिंग सेक्टर के लिए, एक आदिवासी क्षेत्रों में रोजगार सृजन के लिए तथा छोटे और मझोले किसान के लिए दो योजनाओं की घोषणा की गई है। निर्मला सीतारमण के साथ ही वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने संयुक्त रूप से बताया कि प्रवासी मजदूर एवं शहरी गरीब लोगों के लिए 3500 करोड़ रुपए का राशन मुफ्त दिया जाएगा। राज्य सरकारों के माध्यम से यह पूर्ति होगी इससे आठ करोड़ प्रवासी मजदूरों को सहायता मिलेगी चाहे उनके कार्ड बने हों या न बने हों। दूसरी मुख्य घोषणा थी वन नेशन वन राशन कार्ड यानी कि अब पूरे भारत में कोई भी व्यक्ति अपना राशन कार्ड दिखाकर किसी भी राशन डिपो से राशन प्राप्त कर सकता है। यह एक पोर्टेबिलिटी के रूप में हो गया है। तीसरी घोषणा कम कीमत पर किराए का घर योजना है जो आने वाले समय में प्रवासी मजदूरों को मिलेंगे तथा उनके लिए नए मकान बनाने की भी योजना है। चौथी घोषणा शिशु लोन मुद्रा वालों के लिए जिनको 3 माह तक किश्त अब नहीं देनी थी, साथ में उनको आगे के लोन में ब्याज में छूट मिलेगी। कुल 1500 करोड़ की छूट दी जाएगी जिससे तीन करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा। पांचवी घोषणा रेहड़ी और ठेला लगाने वालों के लिए है जिसमें 5000 करोड़ की मदद लगभग 50 लाख लोगों को दी जाएगी जो कि प्रति व्यक्ति ₹10,000 तक होगी। छठी घोषणा हाउसिंग सेक्टर के लिए है जो मिडल इनकम ग्रुप में यानि कि 6 से 18 लाख रुपए सालाना आय वाले जो लोग हैं उनको 70 हजार करोड रुपए की क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम की अवधि बढ़ा दी गई है। जिससे ढाई लाख परिवारों को लाभ मिलेगा। सातवीं योजना आदिवासी ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के लिए कैंपा फंड में 6000 करोड़ रुपए दिए जाने की है। बाकी की दो घोषणाएं किसान हेतु है जिसमें आठवीं घोषणा 30,000 करोड़ रुपए के अतिरिक्त इमरजेंसी फंड नाबार्ड के माध्यम से है। जिसमें 3 करोड़ छोटे मझोले किसानों को लाभ मिलेगा। इसी प्रकार नौवीं योजना किसान क्रेडिट कार्ड की है जिसमें कि 2 लाख करोड़ की योजना से ढाई करोड़ में किसानों को लाभ मिलेगा। इसमें मछुआरे और पशुपालक भी अब शामिल कर लिए गए हैं। भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेंद्र सिंह ने इन घोषणाओं के साथ - साथ पूर्व में भी की गई घोषणाओं पर केंद्र की मोदी सरकार एवं केंद्रीय मंत्रियों को धन्यवाद ज्ञापित किया और कहा कि इन सब योजनाओं से करोना की इस त्रासदी से जूझ रहे लोगों को और जनता को बहुत लाभ मिलेगा।