खाते में पेंशन अंतरण के बाद मुख्यमंत्री ने लाभार्थियों से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया संवाद
June 5, 2020 • Mr Arun Mishra
> मुख्यमंत्री ने जनपद जालौन, बरेली, देवरिया, बहराइच, मेरठ, मथुरा और वाराणसी के विभिन्न पेंशन लाभार्थियों से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उनकी कुशलक्षेम पूछी तथा पेंशन के संबंध में जानकारी प्राप्त की।

> अप्रैल में जहां लाभार्थियों को 871.48 करोड़ रुपए अग्रिम पेंशन के रूप में जारी किया गया था, वहीं गुरुवार को 1301.84 करोड़ रुपए जारी किया गया है।

> मुख्यमंत्री से बोले पेंशन भोगी

> पेंशन की राशि से उन्हें घर चलाने में बड़ी सहूलतें मिल रही हैं।

> समय से मिल पा रहा है सभी सरकारी योजनाओं का लाभ।

> पहले हमें कोई पूछता नहीं था, अब सीधे मुख्यमंत्री हमसे बात कर रहे हैं।

लखनऊ, 4 जून, 2020। कोरोना संकट में लॉकडाउन के दौरान जिस वक्त लोगों के सामने रोजी-रोटी को लेकर चिंता थी, उस वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उनके लिए पालनहार बने हैं। अपने खाते में सहायता राशि पाकर लोग जहां खुश हैं, वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का लगातार धन्यवाद कर रहे हैं। गुरुवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग में लाभार्थियों ने मुख्यमंत्री से बातचीत करते हुए कहा कि उनकी सभी चिंता खत्म हो गई है। राशन के साथ साथ उन्हें अपने भरण-पोषण के लिए आर्थिक मदद भी मिल रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बातचीत करते हुए कहा कि बुजुर्गों, निराश्रित महिलाओं, दिव्यांगजनों और कुष्ठावस्था पेंशन के 86.71 लाख लाभार्थियों को सरकार ने राशन के साथ उनके खाते में अग्रिम पेंशन की व्यवस्था की। अप्रैल में जहां 871.48 करोड़ रुपए अग्रिम पेंशन के रूप में जारी किया गया था, वहीं गुरुवार को 1301.84 करोड़ रुपए जारी किया गया है। अब तक सरकार की तरफ से 2173.32 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस दौरान वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए लाभार्थियों से बातचीत भी की। जालौन के पेंशन धारक राजाराम ने कहा कि इस संकट में हमें समय से राशन और पैसा सरकार की तरफ से मिल रहा है, ये हमारे लिए सौभाग्य की बात है। पहले हमें कोई पूछता नहीं था, अब सीधे मुख्यमंत्री हमसे बात कर रहे हैं। बमौरी देवी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का धन्यवाद करते हुए कहा कि इस पैसे से उनके घर का खर्चा चलेगा। मुख्यमंत्री ने बमौरी देवी से बातचीत करते हुए कहा कि आपके खाते में 1500 रुपए भेजा गया है। इसमें 500 रुपए पेंशन का है और 1000 रुपए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भेजे गए गरीब कल्याण पैकेज का आपके खाते में पहुंचा है। बरेली की ऊषा शुक्ला और रीता पाण्डेय ने कहा कि पेंशन की राशि से उन्हें घर चलाने में बड़ी सहूलतें मिल रही हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री को धन्यवाद करते हुए कहा कि संकट की घड़ी में प्रधानमंत्री हमें 1000 रुपए अतिरिक्त दे रहे हैं। इससे हमारे परिवार को बड़ा सहारा मिला है। देवरिया के दिव्यांग अजय कुमार ने कहा कि जिस वक्त हमें अपने परिवार के भरण-पोषण की चिंता सता रही थी, उस वक्त मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री ने हमें आर्थिक रूप से मजबूत किया। हमारे परिवार के भरण-पोषण के लिए जहां धनराशि दिया, वहीं मुफ्त में राशन भी मुहैया करवाया। दुर्गेश कुमार ने कहा कि हम दुकान पर काम भी करते हैं। लॉकडाउन में जो सहायता सरकार ने हमारी की है, हम कभी नहीं भूलेंगे। बहराइच के कृष्णा ने कहा कि उन्हें पेंशन के साथ साथ समय से राशन मिल रहा है। जिससे उनके परिवार का भरण-पोषण हो रहा है। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री का धन्यवाद किया। मिश्रीलाल ने मुख्यमंत्री से कहा कि हम लोगों तक जो सुविधा पहुंच रही है, वह काबिलेतारीफ है। मेरठ के रवि कुमार ने कहा कि एक बल्ब फैक्ट्री में काम करते हैं। लॉकडाउन में जब सब कुछ बंद हो गया, तो चिंता सता रही थी। लेकिन सरकार ने हमारी मदद की है और फैक्ट्री से वेतन मिलता रहा है। वहीं, नितिन कुमार ने कहा कि हम इस मदद के लिए सरकार के लिए आभारी हैं। मथुरा की उर्मिला देवी और वीरो देवी ने राधे-राधे बोलते हुए मुख्यमंत्री से बात शुरू की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने उनका पूरा ख्याल रखा है। रहने के लिए आवास, भोजन की व्यवस्था के साथ खाते में पैसा भेजा। वाराणसी के मोहम्मद खान ने मुख्यमंत्री को शुक्रिया बोलते कहा कि हम जैसे बुजुर्गों के लिए पेंशन का राशि किसी संजीवनी से कम नहीं है। सबसे बड़ी बात यह है कि पेंशन हमें समय से और पूरी मिल रही है। वहीं, चंदा गुप्ता ने हर-हर महादेव कहते हुए मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया। चंदा ने कहा कि जिस तरह मुख्यमंत्री लगातार काम कर रहे हैं, उससे हम जैसे लोगों को समय से सभी सरकारी योजनाओं का लाभ मिल पा रहा है।