कोलकाता नाईट राइडर्स ने राजस्थान रॉयल्स को 37 रनों से हराया
October 1, 2020 • Mr Arun Mishra

> कोलकाता के गेंदबाजों के सधे हुए प्रदर्शन के आगे राजस्थान रॉयल्स के बल्लेबाजों ने निराश किया।

> कोलकाता की तरफ से मावी ने 20 रन पर दो विकेट, नागरकोटी ने 13 रन पर दो विकेट और चक्रवर्ती ने 25 रन पर दो विकेट लिए जबकि कमिंस, नारायण और यादव को एक-एक विकेट मिला।

> लगातार दो मैचों में विस्फोटक पारियां खेलने वाले सैमसन इस बार नौ गेंदों में आठ रन बनाकर आउट हो गए।

> राजस्थान रॉयल्स के टॉम करेन ने 19वें ओवर में नारायण की गेंदों पर तीन छक्के मारकर अपना अर्धशतक 35 गेंदों में पूरा किया।

कोलकाता नाइट राइडर्स के शिवम मावी 30 सितंबर 2020 को राजस्थान रॉयल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच ड्रीम 11 इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के सीजन 13 के मैच 12 के मैच के दौरान संयुक्त अरब अमीरात के दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम, दुबई में आयोजित मैन ऑफ़ द मैच बने। 

दुबई (वार्ता)। कोलकाता नाईट राइडर्स ने अपने टीम मालिक और बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख़ खान की मौजूदगी में जबरदस्त गेंदबाजी का प्रदर्शन करते हुए राजस्थान रॉयल्स को बुधवार को 37 रन से हराकर आईपीएल-13 में राजस्थान टीम के विजय रथ को रोक दिया। कोलकाता ने ओपनर शुभमन गिल के 47 रन और अन्य बल्लेबाजों के उपयोगी योगदान से 20 ओवर में छह विकेट पर 174 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया और राजस्थान की मजबूत बल्लेबाजी को 20 ओवर में नौ विकेट पर 137 रन पर रोक दिया। राजस्थान के लिए टॉम करेन ने नाबाद 54 रन बनाये। कोलकाता ने इस तरह तीन मैचों में दूसरी जीत हासिल की जबकि राजस्थान को दो जीत के बाद पहली हार का सामना करना पड़ा। राजस्थान ने अपने पहले दो मुकाबलों में 200 से ऊपर का स्कोर बनाकर जीत हासिल की थी लेकिन इस मैच में कोलकाता के गेंदबाजों के सधे हुए प्रदर्शन के आगे उसके बल्लेबाजों ने ख़ासा निराश किया। राजस्थान की आधी पारी तो 42 रन पर निपट गयी थी जिसके बाद उसके पास वापसी करने के लिए ताकत नहीं बची। तेज गेंदबाज शिवम मावी ने संजू सैमसन और जोस बटलर के विकेट लेकर राजस्थान के शीर्ष क्रम की कमर तोड़ दी। लगातार दो मैचों में विस्फोटक पारियां खेलने वाले सैमसन इस बार नौ गेंदों में आठ रन बनाकर आउट हो गए। बटलर ने 16 गेंदों में एक चौके और दो छक्कों की मदद से 21 रन बनाये। कप्तान स्टीवन स्मिथ तीन रन बनाकर पैट कमिंस का शिकार बने। कमलेश नागरकोटी ने पारी के आठवें ओवर में रोबिन उथप्पा और रियान पराग के विकेट झटक लिए। एक ओवर में पांच छक्के मारकर स्टार बन चुके राहुल तेवतिया को स्पिनर वरुण चक्रवर्ती ने बोल्ड कर दिया। तेवतिया ने 10 गेंदों में एक छक्के की मदद से 14 रन बनाये। श्रेयस गोपाल पांच रन बनाकर सुनील नारायण की गेंद पर आउट हुए जबकि जोफ्रा आर्चर को चक्रवर्ती ने आउट किया। आर्चर ने एक छक्का मारा और छह रन बनाये। टॉम करेन एकतरफा कोशिश कर मैच को अंतिम ओवर तक ले जाने का प्रयास कर रहे थे ताकि रन रेट में कुछ सुधार हो सके। जयदेव उनादकट ने नौ रन बनाये और उन्हें चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने आउट किया। करेन ने 19वें ओवर में नारायण की गेंदों पर तीन छक्के मारकर अपना अर्धशतक 35 गेंदों में पूरा किया। यह इस मैच का पहला अर्धशतक था। करेन 36 गेंदों में दो चौकों और तीन छक्कों की मदद से 54 रन बनाकर नाबाद रहे। अंकित राजपूत ने नाबाद सात रन बनाये। मावी ने 20 रन पर दो विकेट, नागरकोटी ने 13 रन पर दो विकेट और चक्रवर्ती ने 25 रन पर दो विकेट लिए जबकि कमिंस, नारायण और यादव को एक-एक विकेट मिला। इससे पहले राजस्थान ने इस मुकाबले में टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया और उसके गेंदबाजों ने सधी हुई गेंदबाजी का प्रदर्शन किया। लेकिन राजस्थान के बल्लेबाज अपने गेंदबाजों की मेहनत को परवान नहीं चढ़ा सके। कोलकाता का 174 का स्कोर इस बड़े मैदान में राजस्थान पर भारी पड़ा। तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर ने काफी तेज गति के साथ गेंदबाजी करते हुए चार ओवर में मात्र 18 रन देकर दो विकेट लिए। आर्चर ने युवा बल्लेबाज गिल को अपनी ही गेंद पर कैच किया। गिल ने 34 गेंदों पर 47 रन में पांच चौके और एक छक्का लगाया। गिल ने सुनील नारायण के साथ पहले विकेट के लिए 36 रन जोड़े। नारायण को बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट ने आउट किया। नारायण ने 14 गेंदों पर 15 रन में दो चौके और एक छक्का लगाया। नीतीश लेग स्पिनर राहुल तेवतिया की गेंद पर आउट हुए। राणा 17 गेंदों में दो चौकों और एक छक्के की मदद से 22 रन बनाकर आउट हुए। आंद्रे रसेल ने 14 गेंदों पर 24 रन में तीन छक्के उड़ाए लेकिन उनके खतरनाक पारी का अंकित राजपूत ने अंत कर दिया। कप्तान दिनेश कार्तिक मात्र एक रन बनाकर जोफ्रा की उठती गेंद पर विकेटकीपर जोस बटलर को कैच थमा बैठे। पेट कमिंस 10 गेंदों में 12 रन बनाकर टॉम करेन की गेंद पर आउट हुए। इयोन मोर्गन ने 23 गेंदों में में एक चौके और दो छक्कों की मदद से नाबाद 34 रन बनाकर कोलकाता को चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचाया। राजस्थान की तरफ से जोफ्रा के दो विकेट के अलावा राजपूत, उनादकट, करेन और तेवतिया ने एक - एक विकेट लिया।