कोविड-19 की त्रासदी के दौरान पहली बार विधान मण्डल सत्र आज से प्रारम्भ
August 20, 2020 • Mr Arun Mishra

> सत्र के सुरक्षित और सुचारु संचालन के लिए निर्धारित व्यवस्थाओं का अनुपालन किया जाए :  विधान सभा अध्यक्ष

> विगत सत्र से 6 महीने के अन्दर विधानसभा का सत्र बुलाया जाना संवैधानिक बाध्यता है : नेता सदन

19 अगस्त 2020 को विधान भवन में आयोजित सर्वदलीय बैठक में मा0 विधान सभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित, मा0 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना व अन्य।   (फोटो : उत्तर प्रदेश विधान सभा)

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश विधान सभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने 20 अगस्त, 2020 से प्रारम्भ हो रहे विधान सभा सत्र के सुरक्षित व सुचारु संचालन के लिए सभी दलों से सहयोग प्रदान करने का अनुरोध किया है। बुधवार 19 अगस्त 2020 को यहां विधान भवन में आहूत एक सर्वदलीय बैठक में उन्होंने कहा कि यह सत्र अत्यन्त विषम परिस्थितियों में आहूत किया गया है। कोविड-19 की महामारी के दृष्टिगत सत्र के सामान्य संचालन के लिए विशेष व्यवस्था की गई है। उन्होंने सभी दलीय नेताओं से आह्वान किया सत्र के सुरक्षित और सुचारु संचालन के लिए निर्धारित व्यवस्थाओं का अनुपालन किया जाए। इस अवसर पर मुख्यमंत्री तथा नेता सदन योगी आदित्यनाथ जी ने सत्र के सुरक्षित संचालन में सत्ता पक्ष के पूर्ण सहयोग का आश्वासन देते हुए कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 की त्रासदी के दौरान पहली बार विधान मण्डल सत्र प्रारम्भ हो रहा है। जब तक कोविड-19 की कोई वैक्सीन अथवा उपचार ढूँढ़ नहीं लिया जाता, तब तक संक्रमण से बचाव ही उपाय है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की वैश्विक महामारी के मामले में तुलनात्मक रूप से दुनिया में भारत की तथा देश में उत्तर प्रदेश की स्थिति बेहतर है।  मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विगत सत्र से 6 महीने के अन्दर विधानसभा का सत्र बुलाया जाना संवैधानिक बाध्यता है। इसके तहत यह कार्यवाही की जा रही है। कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए प्रोटोकाॅल बनाया गया है। इसके तहत भीड़ एकत्र न हो, दो गज की दूरी, मास्क जरूरी आदि व्यवस्थाएं की गई हैं। सत्र के सुरक्षित व सुचारु संचालन के लिए विधानसभा सचिवालय द्वारा भी व्यवस्था बनाई गई है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 प्रोटोकाॅल तथा विधानसभा सचिवालय की व्यवस्था का पालन करके यह सन्देश दिया जा सकता है कि हम सभी प्रकार की सम-विषम परिस्थितियों में लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं को आगे बढ़ा सकते हैं। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि पक्ष एवं विपक्ष के सभी सदस्यों के सहयोग से विषम परिस्थितियों में भी सदन को सुरक्षित व सुचारु रूप से चलाया जा सकता है। बैठक में समाजवादी पार्टी के नरेन्द्र सिंह वर्मा, बहुजन समाज पार्टी के लालजी वर्मा, कांग्रेस पार्टी की आराधना मिश्रा, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के ओम प्रकाश राजभर तथा अपना दल के नील रतन सिंह पटेल ‘नीलू’ ने अपने-अपने दलों की ओर से पूरा सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया।