क्वारेंटाइन सेण्टर के लोगों ने कायाकल्प कार्य में सहयोग प्रदान कर किया श्रमदान
May 3, 2020 • Mr Arun Mishra
फर्रुखाबाद (जिला संवाददाता)। मुख्य विकास अधिकारी के निर्देशों के क्रम में शनिवार 2 मई को समस्त सहायक विकास अधिकारी, पंचायत द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के क्वारेंटाइन सेंटरों का निरीक्षण किया गया। मुख्य विकास अधिकारी राजेन्द्र पेंसिया के निर्देश के क्रम में सहायक विकास अधिकारियों द्वारा क्वारेंटाइन सेंटरों का भ्रमण कर उनमें रह रहे लोगों को मा प्रधानमंत्री के मन की बात कोरोना कविता के एवं शासन के अन्य निर्देशों के बारे में जानकारियां दी गईं। ग्राम पंचायत हाथीपुर विकास खंड बढ़पुर प्राथमिक विद्यालय में स्थापित क्वारेंटाइन सेण्टर में जो 29 लोग क्वारेंटाइन हैं उन्हें मा प्रधानमंत्री के सन्देश जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी द्वारा जारी निर्देशों की जानकारी सत्यनारायण सिंह सहायक विकास अधिकारी पंचायत द्वारा दी गई तो उनके द्वारा प्रेरित होकर प्राथमिक विद्यालय ने कायाकल्प कार्य में नि शुल्क सहयोग प्रदान करने और श्रमदान करने की सहमति दी गई। ग्राम हाथीपुर के क्वारेंटाइन सेण्टर पर रह रहे लोग मा प्रधानमंत्री के संदेशों के जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी के संदेशों से प्रेरित होकर उनके द्वारा विद्यालय के सुंदरीकरण कार्य में श्रमदान कर कार्य किया जा रहा है। क्वारेंटाइन सेण्टर हाथीपुर में प्रवास कर रहे लोगों में राजू एवं नौरंगी लाल ने श्रमदान कर शौचालयों में टाइल्स लगाने का कार्य किया जा रहा है तथा वहीं रामलडैते, वीर सिंह, आनंद, इत्यादि शौचालय में रनिंग वाटर हेतु टंकी रखवाने, पाइप फिटिंग करने व हैंडवाश स्टेशन निर्माण कार्य में श्रमदान कर रहे हैं। क्वारेंटाइन सेण्टर हाथीपुर में प्रवास कर रहे श्रीमती शकुंतला, श्रीमती रेखा एवं श्रीमती प्रेमा आदि महिलाएं विद्यालय में कड़ी झाड़ियाँ काटने, पौधों की घास साफ़ करने एवं पौधों की सिंचाई करने के कार्यों में श्रमदान कर रही हैं। इनके प्रयासों से जहाँ विद्यालय साफ़ व सुन्दर हुआ है वहीं पौधे भी पुनः हरे भरे हो गए हैं साथ ही विद्यालय के कायाकल्प के कार्य भी पूर्ण हो रहे हैं। प्रवासियों द्वारा श्रमदान के समय हैंड वाश, मास्क पहनने एवं सामाजिक दूरी आदि निर्देशों को पूर्णतयः पालन किया जा रहा है।  ग्राम प्रधान हाथीपुर कबीर खान क्वारेंटाइन सेण्टर पर नियमित उपस्थित रहकर अपनी देख रेख में कार्य संपन्न करा रहे हैं।