लोक निर्माण अनुभाग-12 के 13 चालू कार्यों हेतु धनराशि की गई अवमुक्त
July 2, 2020 • Mr Arun Mishra

> उ प्र प्रमुख जिला मार्ग सुधार परियोजना के अन्तर्गत विभिन्न जिलों के 07 चालू कार्यों हेतु धनराशि अवमुक्त की गयी है।

> उ प्र कोर रोड नेटवर्क डेवलपमेन्ट प्रोग्राम के अन्तर्गत स्वीकृत 04 चालू कार्यों हेतु धनराशि अवमुक्त की गयी है। 

> इण्डो-नेपाल बार्डर मार्ग निर्माण परियोजना की भूमि अध्यप्ति के 02 चालू कार्यों हेतु धनराशि अवमुक्त की गयी है।

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के निदेशों के क्रम में एशियन डेवलपमेन्ट बैंक के ऋण से सहायतित उत्तर प्रदेश प्रमुख जिला मार्ग सुधार परियोजना के अन्तर्गत विभिन्न जिलों के 07 चालू कार्यों हेतु 150 करोड़ रुपए की धनराशि उ प्र शासन द्वारा अवमुक्त की गयी है। इन परियोजनाओं की स्वीकृत लागत 1614 करोड़ 46 लाख रुपए है तथा इन कार्यों के लिये अब तक 775 करोड़ 3 लाख 91 हजार रुपए की धनराशि आवंटित की जा चुकी है। उप मुख्यमंत्री जी के निर्देशों के क्रम में ही विश्व बैंक के ऋण से प्रस्तावित उ प्र कोर रोड नेटवर्क डेवलपमेन्ट प्रोग्राम के अन्तर्गत स्वीकृत 04 चालू कार्यों हेतु 40 करोड़ रुपए की धनराशि अवमुक्त की गयी है। मार्ग चैड़ीकरण के इन 04 कार्यों की कुल लम्बाई 262.38 किमी है तथा इनकी स्वीकृत, प्राविधिक लागत 1412 करोड़ 7 लाख 8 हजार रुपए है, जिसके सापेक्ष अब तक 490 करोड़ 36 लाख 42 हजार रुपए की धनराशि अवमुक्त की जा चुकी है। इण्डो-नेपाल बार्डर मार्ग निर्माण परियोजना की भूमि अध्याप्ति के 02 चालू कार्यों हेतु उ प्र शासन द्वारा 5 करोड़ 51 लाख रुपए की धनराशि अवमुक्त की गयी है। इस सम्बन्ध में आवश्यक शासनादेश लोक निर्माण अनुभाग-12 द्वारा जारी कर दिये गये हैं। उप मुख्यमंत्री ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वह स्वीकृत धनराशि के व्यय के बारें में जारी दिशा-निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करें।