माँ गंगा के पावन तट पर रहने वाले निवासियों को वर्षों से अपेक्षित मेट्रो परियोजना के शुभारम्भ पर शुभकामनायें: योगी आदित्यनाथ
November 15, 2019 • Mr Arun Mishra

लखनऊ मेट्रो का प्रोजेक्ट 3 साल में हुआ था, कानपुर मेट्रो का कार्य 2 साल में होगा: हरदीप सिंह पुरी

> मुख्यमंत्री एवं केन्द्रीय आवासन और शहरी कार्य राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) ने कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के निर्माण कार्य का शुभारम्भ किया।

> इस परियोजना के 09 कि0मी0 लम्बाई के प्रथम सेक्शन पर लगभग 2000 करोड़ रु0 की लागत आएगी।

> परियोजना कानपुर के निवासियों के लिए उपयोगी और मील का पत्थर साबित होगी, ये शिलान्यास नहीं शुभारम्भ है : मुख्यमंत्री योगी

> बिना अप्रूवल प्रोजेक्ट का शिलान्यास कर दो, वाह वाही लूट लो और फिर कभी उसकी चर्चा न करो, ये वही लोग हैं जो नारे अच्छे देते हैं लेकिन नारे की आड़ में लूट घसूट को अंजाम भी देते हैं: मुख्यमंत्री योगी

> शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों को मिलाकर अब तक प्रदेश में 27 लाख लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आच्छादित किया जा चुका है: मुख्यमंत्री योगी

कानपुर (का ० उ ० सम्पादन)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं केन्द्रीय आवासन और शहरी कार्य राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हरदीप सिंह पुरी ने बीते शुक्रवार को कानपुर स्थित आई0आई0टी0 गेट के सामने मेट्रो रेल परियोजना के निर्माण कार्य का बटन से डिगर ड्रिल हैवी मशीन चलाकर शुभारम्भ किया। इस परियोजना में आई0आई0टी0 कानपुर से नौबस्ता तक निर्मित किए जाने वाले कॉरिडोर-1 के अन्तर्गत आई0आई0टी0 कानपुर के मोतीझील तक प्राथमिक सेक्शन चयनित किया गया है। इस सेक्शन की कुल लम्बाई लगभग 09 किलोमीटर है। इस परियोजना के प्रथम सेक्शन पर लगभग 2000 करोड़ रुपए की लागत आने की सम्भावना है। इस अवसर पर बटन दबाकर शिलापट का अनावरण करने के बाद कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वर्तमान सरकार में समस्त औपचारिकताओं को पूर्ण कर शिलान्यास के समय ही निर्धारित समय सीमा में परियोजना के उद्घाटन की तिथि तय कर दी जाती है। उन्होंने कहा कि कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के प्रथम सेक्शन का कार्य 30 नवम्बर, 2021 तक पूरा होना है। यह परियोजना कानपुर के निवासियों के लिए उपयोगी और मील का पत्थर साबित होगी। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि सरकार जनता के कल्याण व उत्थान के लिए प्रतिबद्ध है। भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेन्स की नीति अपनाते हुए किसी भी परियोजना के तहत किए जाने वाले व्यय का अनुश्रवण किया जाता है। इसी क्रम में पूर्व में हुई 341 किलोमीटर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की निविदा को निरस्त करते हुए नवीन निविदा आमंत्रित की गई। इसमें लगभग 3000 करोड़ रुपए की बचत हुई और कम मूल्य के टेण्डर हुए। उन्होंने कहा कि अगले 02 माह में बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास किया जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वर्ष 1947 से वर्ष 2017 तक प्रदेश के मात्र 02 शहरों में हवाई सेवा उपलब्ध थीं। वर्ष 2017 से अब तक के मात्र पौने तीन वर्ष के कार्यकाल में 07 शहर हवाई सेवा से जुड़ चुके हैं और 11 अन्य शहरों में एयर कनेक्टिविटी का कार्य प्रगति पर है। उन्होंने कहा कि 27 लाख लोगों को बिना किसी भेदभाव के प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिया जा चुका है। योगी ने कहा कि पूर्व सरकार में प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के अंदर स्वीकृत 18000 लाभार्थियों को लाभान्वित नहीं किया गया हम लोगों ने 17 महीनों में 1250000 परिवारों को एक एक आवास उपलब्ध करा चुके हैं। शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों को मिलाकर अब तक प्रदेश में 27 लाख लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आच्छादित किया जा चुका है। प्रदेश सरकार प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी जी के 2022 तक प्रत्येक गरीब को छत देने के लक्ष्य की ओर अग्रसर है।  

केन्द्रीय आवासन और शहरी कार्य राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी ने जब मार्च 2017 में  सत्ता संभाली तबसे अबतक उत्तर प्रदेश में 85 किलोमीटर से अधिक मेट्रो लाइन ऑपरेशनल हुई है। वर्तमान सरकार के कार्य वास्तवित धरातल पर दिखायी दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि वर्ष 2016 में इस प्रोजेक्ट का फाउंडेशन स्टोन ले कर दिया था, न उस समय कोई चर्चा हुई थी पैसा कितना लगेगा कहाँ से आएगा और कैसे ये प्रोजेक्ट होगा! उन्होंने कहा कि कानपुर की जनसँख्या अधिक है और आने वाले समय में ये बढ़ेगी इसपर सचिव दुर्गा शंकर  मिश्रा ने ध्यान केंद्रित कर मेहनत की और इस परियोजना का अप्रूवल मार्च 2019 को ले लिया गया जिसके क्रम में आज शुभारम्भ संपन्न हो रहा है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में 685 किलोमीटर स्केल पर मेट्रो दौड़ रही है जिसमें रोज़ाना 75 लाख लोग सफर करते हैं। उन्होंने कहा कि जब यूपी के विकास के आँकड़े सामने आते हैं तोह पूरा देश ऊपर उठता है। कार्यक्रम में औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना, नागरिक उड्डयन मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता 'नन्दी', प्राविधिक शिक्षा मंत्री  कमल रानी वरुण, उच्च शिक्षा राज्यमंत्री नीलिमा कटियार, कानपुर की महापौर प्रमिला पाण्डेय सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, केन्द्रीय आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय सचिव डी0एस0 मिश्रा, उ0प्र0 मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के प्रबन्ध निदेशक कुमार केशव तथा मंडलायुक्त सुधीर एम बोबड़े, जिलाधिकारी विजय विश्वास पंत, पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल, अपर पुलिस महानिदेशक कानपुर ज़ोन प्रेम प्रकाश, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंत देव तिवारी समेत शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।