महिला महाविद्यालय में वार्षिक क्रीड़ा प्रतियोगिता का भव्य समापन
January 14, 2020 • Mr Arun Mishra

> छात्राओं ने दिखाए अपने हुनर, विजेता पुरस्कृत।

> महाविद्यालय परिसर में नवगृह वाटिका का उदघाटन।

कानपुर (का ० उ ० सम्पादन)। बीते सोमवार 13 जनवरी को महिला महाविद्यालय में क्रीड़ा विभाग द्वारा वार्षिक क्रीड़ा प्रतियोगिता एवं पुरस्कार वितरण का आयोजन किया गया।  महाविद्यालय की प्राचार्या ने गुब्बारे उड़ाकर कार्यक्रम का रंगारंग शुभारम्भ किया।  शुभारम्भ मशाल दौड़ के साथ संपन्न हुआ। महाविद्यालय क प्राचार्या डॉ बेबी रानी अग्रवाल ने अतिथियों का स्वागत किया तथा छात्राओं का उत्साह वर्धन करते हुए कहा कि खेल जीवन में उच्च आदर्शों का निर्माण करते हैं एवं उच्च सिद्धांतों पर कायम रहना सिखाते हैं, तथा खेलों के माध्यम से जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए कठिन संघर्ष करने की प्रेरणा भी देते हैं। मुख्य अतिथि एस पी साउथ ने अपने उद्बोधन में कहा कि आज के परिवेश में शिक्षा के साथ साथ खेलकूद का बड़ा महत्त्व है इससे विद्यार्थियों में शारीरिक विकास के साथ साथ मानसिक विकास भी होता है जिससे वे और अधिक अनुशासित, स्वस्थ, सक्रीय व् समयनिष्ठ हो जाते हैं तथा आसानी से जीवन में कठिन परिस्थितियों का सामना कर सकते हैं। छात्राओं को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि खेलों में खेल की भावना होना बहुत आवश्यक है। खेल हमें सिखाते हैं कि वास्तव जीवन एक प्रतियोगिता है जिसमें हार जीत का सिलसिला चलता रहता है। हार और जीत से कटुता और अहंकार का भाव उत्पन्न नहीं होना चाहिए। क्रीड़ा विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ दीपाली निगम ने क्रीड़ा आख्या प्रस्तुत करते हुए कहा कि वार्षिक क्रीड़ा प्रतियोगिता के अंतर्गत विगत दिवस 16 दिसंबर 2019 से 31 दिसंबर 2019 तक विभिन्न क्रीड़ा प्रतियोगिताओं का आयोजन भी किया गया जिनमें छात्राओं ने बढ़ चढ़ कर प्रतिभाग किया। विजयी छात्राओं को अतिथियों द्वारा पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर महाविद्यालय परिसर में अतिथियों एवं प्राचार्या द्वारा नवगृह वाटिका का उदघाटन भी किया गया। इस वाटिका में मुख्य रूप से बेलपत्र, पलाश, खैर, विधारा, केला, गूलर, शमी, अश्वगंधा, लटजीरा आदि पौधे रोपित किये गए।    

वार्षिक क्रीड़ा प्रतियोगिताओं में छात्राओं के साथ साथ महाविद्यालय की शिक्षिकाओं व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों ने भी उत्साहपूर्वक प्रतिभागिता की। कार्यक्रम का संचालन क्रीड़ा समिति की सदस्य डॉ प्रज्ञा श्रीवास्तव द्वारा एवं धन्यवाद ज्ञापन क्रीड़ा समिति की अध्यक्ष डॉ प्रतिभा श्रीवास्तव द्वारा किया गया। कार्यक्रम में क्रीड़ा समिति की उपाध्यक्ष डॉ साधना पांडेय, डॉ दीपाली निगम, डॉ पूजा श्रीवास्तव, डॉ पारुल अवस्थी तथा समस्त महाविद्यालय परिवार उपस्थित रहा।

प्रतियोगिता विजेताओं में -

>100 मीटर रेस में बी ए थर्ड इयर की निधि सैनी को गोल्ड, बी ए फर्स्ट इयर की गुड़िया शर्मा को सिल्वर और बी ए फर्स्ट इयर की ज्योति सिंह को ब्रोंज मैडल मिला।

>200 मीटर रेस में बी ए थर्ड इयर की निधि सैनी को गोल्ड, बी ए सेकंड इयर की हीरा सोनकर को सिल्वर और बी ए फर्स्ट इयर की ज्योति सिंह को ब्रोंज मैडल मिला।

>400 मीटर रेस में बी ए फर्स्ट ईयर की श्रेया गुप्ता को गोल्ड, एम ए फर्स्ट इयर की कीर्ति शर्मा को सिल्वर और बी ए  थर्ड इयर की प्रियंका पाल को ब्रोंज मैडल मिला।

>800 मीटर रेस में बी ए सेकंड इयर की आशिका पाल को गोल्ड, बी ए सेकंड इयर की गौरी तिवारी को सिल्वर और बी ए  फर्स्ट इयर की श्रेया गुप्ता को ब्रोंज मैडल मिला।

>लॉन्ग जम्प स्पर्धा में बी ए थर्ड ईयर की निधि सैनी को गोल्ड, बी ए थर्ड ईयर की गौरी तिवारी को सिल्वर और बी ए फर्स्ट इयर की श्रेया गुप्ता को ब्रोंज मैडल मिला।

>400 मीटर रिले रेस में बी ए फर्स्ट ईयर की टीम नैंसी, शिवानी, राशि और श्रेया ने गोल्ड, बी ए सेकंड इयर की टीम विदुषी, गुड़िया, दिव्या और निधि ने सिल्वर व बी ए थर्ड इयर की टीम निधि, कीर्ति, गौरी और निशा ने ब्रोंज मैडल जीता।

>बैडमिंटन में बी ए फर्स्ट ईयर की श्रेया गुप्ता ने गोल्ड और बी ए  फर्स्ट ईयर की वंशिका ने सिल्वर मैडल जीता।

>शतरंज प्रतियोगिता में बी ए सेकंड इयर की सालक गुप्ता ने गोल्ड और बी ए थर्ड इयर की प्रीती प्रताप ने सिल्वर मैडल जीता।

>कबड्डी में बी ए सेकंड इयर ने प्रथम पुरस्कार व बी ए फर्स्ट इयर ने द्वितीय पुरस्कार जीता।

>प्रवक्ताओं की प्रतियोगिता शॉर्टपुट में प्रथम डॉ पूजा श्रीवास्तव, द्वितीय डॉ नीता मिश्रा व तृतीय डॉ नम्रता तिवारी रहीं।

>शिक्षणेत्तर कर्मचारी हेतु आयोजित शॉर्टपुट प्रतियोगिता में धर्मवीर को गोल्ड, घनश्याम को सिल्वर और पप्रिया को ब्रोंज मैडल मिला।