मंडी शुल्क तथा विसंगतियों को समाप्त करने पर व्यापारी कल्याण बोर्ड ने मुख्यमंत्री जी का जताया आभार
June 11, 2020 • Mr Arun Mishra

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश व्यापारी कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष मनीश कुमार गुप्ता की अध्यक्षता में बुधवार 10 जून को विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ जवाहर भवन स्थित (सातवें तल) सभागार में एक बैठक आयोजित की गयी। इस अवसर पर श्री गुप्ता ने विभिन्न विभागों द्वारा व्यापारियों और उद्यमियों के कल्याण हेतु समस्त योजनाओं की जानकारी, विभागों के द्वारा गत प्रतिमाह प्राप्त होने वाले राजस्व, प्रदेश से प्राप्त आय के सापेक्ष वेतनमद में विभिन्न व्ययों में एवं विभिन्न प्रकार के निर्माण आदि में व्यय, समस्त व्ययों के उपरान्त शुद्ध वार्षिक लाभ, राजस्व वृद्धि के सबंध में महत्वपूर्ण सुझाव, करापवंचन में रोकथाम हेतु सुझाव, उद्योगों में एवं फैक्टरियों में कार्यरत कर्मचारियों और श्रमिकों के कल्याण के सम्बन्ध में योजनाओं के सम्बन्ध में, कोविड-19 की परिस्थितियों में व्यापार, उद्योग, निर्यात एवं कामगारों के प्रोत्साहन हेतु प्रयास एवं सुझाव प्राप्त किये गये। बैठक में व्यापारी कल्याण बोर्ड के सदस्यों ने बताया कि भारत सरकार के कृषि मंत्रालय द्वारा पूरे प्रदेश में मंडियों के मंडी शुल्क तथा उसकी विसंगतियों को समाप्त किया। इसी के अनुपालन में प्रदेश सरकार द्वारा आदेश जारी कर दिया गया है। कृषि मंडी परिक्षेत्र को परिसर में बदल दिया गया है। परिसर के बाहर सम्पूर्ण व्यापार को मंडी शुल्क को खत्म कर दिया है। इसके लिये बोर्ड ने प्रधानमंत्री जी व प्रदेश के मुख्यमंत्री जी का आभार व्यक्त किया। उन्होंने बताया कि इससे प्रदेश के किसानों को पूरे देश में अपने उत्पादन को सम्पूर्ण देश में कही भी बेचने की सुविधा हो गयी है। इससे किसानों की आमदनी में बढ़ोत्तरी होगी। बैठक में व्यापारी कल्याण बोर्ड के सदस्यों के अतिरिक्त विभिन्न विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।