मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम के भव्य मंदिर के निर्माण का मार्ग अब सम्पूर्ण अवरोधों से मुक्त: योगी आदित्यनाथ
November 10, 2019 • Mr Arun Mishra

> मुख्यमंत्री ने मा0 उच्चतम न्यायालय के निर्णय का स्वागत किया।

> फैसले ने भारत की लोकतांत्रिक व्यवस्था को और सुदृढ़ किया : मुख्यमंत्री

> उच्चतम न्यायालय के निर्णय को लेकर उत्तर प्रदेश के लोगों ने जो शांति और सौहार्द दिखाया है उसके लिए वह सभी बधाई के पात्र हैं।

> प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का 'एक भारत श्रेष्ठ भारत' का संकल्प पूर्ण करेगा मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम का भव्य मंदिर: योगी आदित्यनाथ

लखनऊ (का ० उ ० सम्पादन)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि करीब 492 वर्ष पुराने दुनिया के सबसे बड़े विवाद का जिस शांति व सौहार्दपूर्ण तरीके से समाधान हुआ है, उसने भारत की लोकतांत्रिक व्यवस्था को और सुदृढ़ किया है। इसने विश्व को यह संदेश भी दिया है कि भारत की न्यायपालिका और जनता में बड़े से बड़े विवाद का सर्वसम्मति और सर्वस्वीकार्यता के साथ समाधान कर सकने की परिपक्वता एवं क्षमता है। उन्होंने निर्णय के लिए माननीय उच्चतम न्यायालय का हृदय से अभिनंदन करते हुए शांति और सौहार्द के पक्षधर सभी व्यक्तियों के प्रति साधुवाद ज्ञापित किया। योगी ने कहा कि माननीय उच्चतम न्यायालय ने दुनिया के इस सबसे पुराने मामले को सत्य और न्याय की जिस कसौटी पर रखकर निर्णय दिया है, वह सचमुच जय-पराजय से कहीं आगे जाकर भारत के लोकतंत्र और न्यायपालिका, दोनों के प्रति देश और दुनिया के विश्वास एवं सम्मान को और मजबूती प्रदान करेगा। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि न्यायपालिका के निर्णय ने इस सत्य को भी प्रमाणित किया है कि मामले को लम्बित रखने के बजाय न्याय की कसौटी को ध्यान में रखकर जो फैसला आएगा वह सर्वस्वीकार्यता का प्रतीक बनेगा। श्रीराम जन्मभूमि का फैसला इसी बात का प्रमाण है। माननीय उच्चतम न्यायालय के इस निर्णय ने भारत के आमजन का विश्वास जीता है। भारत के आम जनमानस और उसमें भी खासतौर पर उत्तर प्रदेश की जनता ने जिस सकारात्मकता और सहृदयता से इस निर्णय को स्वीकार किया है, वह अभिनंदन की पात्र है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्णय को लेकर उत्तर प्रदेश के लोगों ने जो शांति और सौहार्द दिखाया है उसके लिए वह सभी बधाई के पात्र हैं। उन्होंने विश्वास दिलाया कि प्रदेश में शांति तथा प्रत्येक नागरिक की सुरक्षा राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। गोरक्षपीठाधीश्वर ने विश्वास व्यक्त किया कि अब अयोध्या में भगवान श्रीराम जी जन्मभूमि पर प्रभु श्रीराम का भव्य मंदिर बनेगा। यह मन्दिर भव्य भारत का एक राष्ट्र मंदिर बनकर मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की कीर्ति के अनुसार ही भारत की कीर्ति को दुनिया के कोने-कोने तक पहुंचाएगा। उन्होंने कहा कि इससे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का 'एक भारत श्रेष्ठ भारत' का संकल्प पूर्ण होगा। योगी ने कहा कि प्रदेश में शांति और सौहार्द के वातावरण को बनाए रखने में अपने दायित्वों के निर्वहन के लिए सभी साधु संतों, समस्त धर्म गुरुओं, प्रबुद्धजन एवं प्रदेश के समस्त प्रशासनिक अधिकारियों एवं कर्मचारियों के प्रति हृदय से आभार व्यक्त किया। उन्होंने बेहतर वातावरण को बनाए रखने में राज्य सरकार का सहयोग करने के लिए देश और प्रदेश की मीडिया को हार्दिक धन्यवाद देते हुए आशा व्यक्त की कि उत्तर प्रदेश के लोग इसी प्रकार नैतिक दायित्वों और आपसी एकता के आधार पर देश और दुनिया को वसुधैव कुटुम्बकम का संदेश देते रहेंगे।