मेरठ मण्डल में ज़रूरत पड़ने पर सर्विलांस टीमों को बढ़ाया जाए, इनको बढ़ाते हुए 15 हजार टीम गठित की जाएं
July 2, 2020 • Mr Arun Mishra

उच्च स्तरीय अनलॉक समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने टीम 11 को दिए निर्देश

एनसीआर के जनपदों में आवागमन पर पूरी सतर्कता बरतने से कोविड-19 के प्रसार को रोका जा सकता है : मुख्यमंत्री

पल्स पोलियो अभियान की तर्ज पर संचालित हो 10 दिवसीय सघन सर्विलांस अभियान : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री जी ने मेरठ मंडल के 6 जनपदों गौतम बुद्ध नगर, ग़ाज़ियाबाद, मेरठ, बागपत, बुलंद शहर और हापुड़ में कोविड 19 के दृष्टिगत विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए हैं। जिसके क्रम में सर्विलांस का कार्य शुरू भी हो गया है। पूरे मंडल हेतु ग्रामीण क्षेत्रों की 2375 निगरानी समितियां और शहरी क्षेत्रों की 1516 समेत कुल 3891 निगरानी समितियां गठित की जा चुकी हैं। मेरठ मंडल में गौतम बुद्ध नगर में 532, ग़ाज़ियाबाद में 2161, मेरठ में 1398, बागपत में 493, बुलंद शहर में 1356 और हापुड़ में 545 समेत कुल 7485 सर्विलांस टीमें लगाई गई हैं। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि अगले 12 दिन में 1 - 1 घर तक लोग जाएं। इस हेतु 7000 टीमें लगाई गई हैं जरुरत पड़ने पर इन्हें बढ़ाया जाए और ज़रुरत पड़ने पर 15000 टीमें गठित कर कोरोना संक्रमण  पर प्रभावी रोक लगाई जाए। स्वास्थ्य विभाग ने मेरठ मंडल के लिए अतिरिक्त 50000 एंटीजन टेस्ट किट की उपलब्धता कराई है। मुख्यमंत्री जी ने अपील करते हुए कहा है कि जब गठित टीमें मेरठ मंडल में भ्रमण करें तोह इनको सहयोग प्रदान करें। संदिग्ध का विवरण दें, डरें नहीं सामने आएं ताकि उपचार तुरंत हो सके।    

> मुख्यमंत्री के टीम 11 को दिए निर्देश :

> ग्राम पंचायत तथा वॉर्ड वार मेडिकल स्क्रीनिंग टीम का गठन किया जाए।

> कोविड हेल्प डेस्क स्थापित करके, सुचारु संचालन सुनिश्चित किया जाए।

> कोविड-19 का टेस्ट करते हुए, सरकारी तथा निजी अस्पतालों में आवश्यक ऑपरेशन किए जाएं।

> बिना लक्षण वाले कोविड संक्रमित को भी कोविड चिकित्सालय में भर्ती कराया जाए, इस बात का ध्यान रखे कि वह किसी अन्य बीमारी से ग्रसित न हो।

> खाद्यान्न वितरण अभियान को सुचारु ढंग से संचालित करते हुए, जरूरतमंदों को उपलब्ध कराया जाए खाद्यान्न।

कोविड आपदा के बीच मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी प्रदेश की स्थिति की सतत समीक्षा करते हुए जनहित के विविध विषयों पर निर्णय ले रहे हैं। 2 जुलाई 2020 को लोक भवन में आहूत टीम-11 के साथ उच्च स्तरीय बैठक में मुख्यमंत्री जी ने स्थिति की समीक्षा की और विविध दिशा-निर्देश दिए।   (फोटो : मुख्यमंत्री सूचना परिसर)

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने एनसीआर के जनपदों में आवागमन पर पूरी सतर्कता रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि एनसीआर के जनपदों में सावधानी बरतकर कोविड-19 के प्रसार को रोका जा सकता है। मुख्यमंत्री योगी गुरुवार 2 जुलाई को लोक भवन में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने मेरठ मण्डल के समस्त जनपदों में 10 दिवसीय सघन सर्विलांस अभियान को प्रभावी ढंग से संचालित किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि यह अभियान पल्स पोलियो अभियान की तर्ज पर संचालित किया जाए। अभियान की सफलता के लिए ग्राम पंचायत तथा वॉर्ड वार मेडिकल स्क्रीनिंग टीम का गठन करते हुए घर-घर जाकर मेडिकल स्क्रीनिंग की जाए। इस कार्य के लिए मेरठ मण्डल में 15 हजार टीम गठित की जाएं। उन्होंने मेरठ मण्डल में आवश्यकतानुसार चिकित्सा कर्मियों की संख्या में वृद्धि किए जाने के निर्देश भी दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण की चेन को तोड़ने में कोविड हेल्प डेस्क एक मजबूत कड़ी सिद्ध होगी। इसके दृष्टिगत सभी सरकारी एवं निजी संस्थानों में कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना को प्राथमिकता प्रदान करते हुए इनका सुचारु संचालन सुनिश्चित किया जाए। इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि कोविड हेल्प डेस्क में इंफ्रारेड थर्मामीटर तथा पल्स ऑक्सीमीटर अवश्य उपलब्ध रहे तथा हेल्प डेस्क पर कार्यरत कर्मियों के लिए मास्क, ग्लव्स तथा सेनिटाइजर की व्यवस्था हो। मुख्यमंत्री ने कोविड तथा नॉन कोविड अस्पतालों की सेवाओं की निरंतर मॉनिटरिंग किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सरकारी तथा निजी अस्पतालों में आवश्यक ऑपरेशन किए जाएं। कोविड-19 का टेस्ट करते हुए आवश्यकतानुसार उपचार करें। उन्होंने यह निर्देश भी दिए कि एम्बुलेंस सेवाओं का लाभ सभी जरूरतमंदों को प्राप्त हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिना लक्षण वाले कोविड संक्रमित को भी कोविड चिकित्सालय में भर्ती कराया जाए। इस बात का ध्यान रखे कि वह किसी अन्य बीमारी से ग्रसित न हो। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जनपद में एक क्वारंटीन सेन्टर को निरंतर सक्रिय रखते हुए उसके साथ कम्युनिटी किचन की व्यवस्था भी की जाए। उन्होंने पुलिस बल को संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए सभी उपाय किए जाने के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री ने खाद्यान्न वितरण अभियान के आगामी चरण के लिए सभी व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि खाद्यान्न वितरण अभियान को सुचारु ढंग से संचालित करते हुए सभी जरूरतमंदों को खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में साफ-सफाई की पुख्ता व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए। इस अवसर पर स्वास्थ मंत्री जय प्रताप सिंह, मुख्य सचिव आर के तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार, पुलिस महानिदेशक हितेश सी अवस्थी, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एस पी गोयल, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास तथा पंचायतीराज मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री संजय प्रसाद, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।