मुख्य सचिव, उ प्र शासन के नोडल अधिकारियों एवं जिलाधिकारियों को निर्देश
April 28, 2020 • Mr Arun Mishra

मुख्य सचिव, उ प्र शासन के नोडल अधिकारियों एवं जिलाधिकारियों को निर्देश

नोडल अधिकारी कोविड 19 रिस्पांस हेतु स्थापित इकाइयों का मुख्य चिकित्सा अधिकारी संग करें निरीक्षण

> जिन चिकित्सालयों में सभी व्यवस्थायें सुनिश्चित कर ली गई हैं, वहीं आपातकालीन सेवाएं प्रारम्भ की जाएं : मुख्य सचिव

> जो व्यक्ति क्वारंटाइन हैं अथवा शेल्टर होम्स में हैं, उनके मोबाइल पर आरोग्य सेतु ऐप्प को अवश्य डाउनलोड करा दिया जाये : राजेन्द्र कुमार तिवारी

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने निर्देश दिये हैं कि कोविड - 19 हेतु समस्त स्थापित किये गये तथा स्थापित किये जा रहे कोविड केयर सेण्टर्स, लेवल 1, 2 एवं 3 कोविड हाॅस्पिटल्स, क्वारंटाइन सेण्टर्स तथा आश्रय गृहों का मुख्य चिकित्सा अधिकारी के साथ निरीक्षण कर यह सुनिश्चित कर लिया जाये कि समस्त आवश्यक सुविधायें, उपकरण आदि चालू हालत में उपलब्ध हैं तथा स्वच्छता एवं अन्य समुचित व्यवस्थायें भी उच्च स्तर की हैं। इस सम्बन्ध में अपनी आख्या प्रमुख सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य को भी उपलब्ध करायें। मुख्य सचिव ने यह निर्देश सम्बन्धित जनपदों के नोडल अधिकारियों एवं सभी जिलाधिकारियों को दिये हैं। उन्होंने कहा कि निजी चिकित्सालयों में आपात चिकित्सा किये जाने के सम्बन्ध में स्थानीय आई0एम0ए0 एवं नर्सिंग होम एसोसिएशन के साथ बैठक कर यह सुनिश्चित कर लिया जाये कि शासकीय अथवा निजी चिकित्सालयों में जहां भी आपात चिकित्सा की जा रही है, वहां कोविड - 19 के दृष्टिगत सभी चिकित्सकों एवं चिकित्सा कर्मियों को आवश्यक प्रशिक्षण दे दिया गया है तथा इसके प्रोटोकाॅल से अवगत कराते हुये इसका अनुपालन सुनिश्चित कराया जा रहा है। श्री तिवारी ने कहा कि सभी चिकित्सालयों में आवश्यक सुरक्षा उपकरण जैसे पीपीई, एन-95 मास्क भी पर्याप्त संख्या में उपलब्ध होने चाहिये। उन्हीं चिकित्सालयों में आकस्मिक चिकित्सा की अनुमति प्रदान की जाये, जहां ये सभी व्यवस्थायें सुनिश्चित कर ली गई हैं। किसी भी चिकित्सालय में कोई संक्रमण न फैले यह अवश्य सुनिश्चित कर लिया जाये। मुख्य सचिव ने कहा कि कई जनपदों में ‘आरोग्य सेतु’ ऐप्प प्रयोग किये जाने की संख्या 20 प्रतिशत से भी कम है। ‘आरोग्य सेतु’ ऐप्प का सभी व्यक्तियों द्वारा डाउनलेाड किया जाना आवश्यक है। सभी शासकीय कर्मचारियों एवं नागरिकों द्वारा इस ऐप्प को शत-प्रतिशत डाउनलोड कराया जाना सुनिश्चित कराया जाये। जो व्यक्ति कोविड हाॅस्पिटल में क्वारंटाइन हैं अथवा शेल्टर होम्स में हैं, उनके मोबाइल पर भी इस ऐप्प को अवश्य डाउनलोड करा दिया जाये।