मुख्यमंत्री ने जनपद बलरामपुर में एल-2 हॉस्पिटल को कार्यशील किए जाने के निर्देश दिए
June 28, 2020 • Mr Arun Mishra

> मास्क न पहनने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध जुर्माने की कार्रवाई की जाए : मुख्यमंत्री

> बलरामपुर की नेपाल सीमा पर कड़ी निगरानी रखी जाए : मुख्यमंत्री

> बलरामपुर के माफियाओं के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करते हुए, उनकी सम्पत्ति जब्त करने की कार्रवाई की जाए : मुख्यमंत्री

> जैपनीज़ इंसेफ्लाइटिस प्रभावित क्षेत्रों के निवासियों को इसका टीका लगवाया जाए : मुख्यमंत्री

27 जून, 2020 को बलरामपुर के रिज़र्व पुलिस लाइन्स सभागार में कोविड-19 के सम्बन्ध में किए जा रहे कार्यों सहित विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा करते मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी।   (फोटो : मुख्यमंत्री सूचना परिसर)

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने शनिवार 27 जून, 2020 को जनपद बलरामपुर में कोविड-19 के सम्बन्ध में किए जा रहे कार्यों सहित विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने जनपद में एल-2 हॉस्पिटल को कार्यशील किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि खाद्यान्न वितरण के दौरान सभी को राशन मिले और यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे। प्रदेश में आए श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने की कार्यवाही तेजी से की जाए। मुख्यमंत्री ने कोविड-19 की रोकथाम के सम्बन्ध में किए जा रहे कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने हेतु पुलिस व प्रशासन द्वारा इंफोर्समेण्ट की कार्यवाही की जाए। कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव हेतु आवश्यक है कि प्रत्येक व्यक्ति मास्क अवश्य पहने, मास्क न पहनने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध जुर्माने की कार्रवाई की जाए। दोपहिया तथा चार पहिया वाहनों पर निर्धारित संख्या में ही व्यक्ति बैठें, यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट अभी टला नहीं है। कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु आवश्यक है कि प्रत्येक व्यक्ति मास्क पहने, सोशल डिस्टेंसिंग अपनाएं व साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखे। उन्होंने ऐसे समस्त स्थानों पर कोविड हेल्प डेस्क स्थापित करने के निर्देश दिए हैं, जहां बड़ी संख्या में लोग आते हों। मुख्यमंत्री ने जनपद की कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कहा कि जनपद बलरामपुर की नेपाल सीमा पर कड़ी निगरानी रखी जाए। जनपद में किसी भी माफिया को पनपने न दिया जाए। माफियाओं के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करते हुए, उनकी सम्पत्ति जब्त करने की कार्रवाई की जाए। मुख्यमंत्री ने बाढ़ राहत बचाव कार्यों की भी समीक्षा की। उन्होंने 01 जुलाई, 2020 से शुरू हो रहे संचारी रोग नियंत्रण अभियान के सम्बन्ध में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान के तहत स्वास्थ्य तथा अन्य सम्बन्धित विभागों द्वारा जागरूकता अभियान चलाया जाए। जे ई प्रभावित क्षेत्रों के निवासियों को इसका टीका लगवाया जाए। उन्होंने कहा कि जुलाई, 2020 के प्रथम सप्ताह में आयोजित होने वाले वृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम के अन्तर्गत जनपद में यह सुनिश्चित किया जाए कि इस कार्यक्रम के तहत अधिक से अधिक पौधरोपण किया जाए। मुख्यमंत्री ने जनपद में केजीएमयू के प्रस्तावित सैटेलाइट सेण्टर, सरयू नहर परियोजना व थारू जनजाति सांस्कृतिक केन्द्र के निर्माण की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने थारू जनजाति के विकास के लिए संचालित योजनाओं का लाभ थारू जनजाति के लोगों तक पहुंचाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जनपद में पर्यटन विकास की सम्भावनाओं को तलाशा जाए। मुख्यमंत्री ने आयुष्मान भारत योजना, गन्ना भुगतान, खाद्यान्न वितरण, स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना, सामूहिक विवाह योजना, पेंशन योजना, छात्रवृत्ति योजना, विद्युत आपूर्ति, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना, एक जनपद-एक उत्पाद योजना की भी समीक्षा की। इसके उपरान्त, मुख्यमंत्री ने संयुक्त हॉस्पिटल, बलरामपुर का औचक निरीक्षण किया। इस अवसर पर योगी जी के साथ जिलाध्यक्ष प्रदीप सिंह, सदर विधायक पलटूराम जी, उतरौला विधायक राम प्रताप वर्मा जी, गैसड़ी, शैलेश सिंह, समेत अन्य जनप्रतिनिधि सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।