मुख्यमंत्री ने कोविड-19 की रिकवरी दर की जनपदवार माॅनिटरिंग किए जाने के निर्देश दिए
October 14, 2020 • Mr Arun Mishra

> मुख्यमंत्री ने अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य को जनपद अयोध्या, वाराणसी तथा सीतापुर में भी रिकवरी दर में वृद्धि सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए।

> मुख्यमंत्री ने वित्त विभाग को केन्द्र की तर्ज पर प्रदेश में भी कर्मचारियों को अग्रिम धनराशि उपलब्ध कराने हेतु योजना तैयार करने के निर्देश दिए।

> कोविड-19 के प्रोटोकाॅल के पूर्ण पालन के लिए लोगों को प्रेरित और प्रोत्साहित किया जाए : मुख्यमंत्री

> मिशन शक्ति अभियान में समाज के सभी वर्गों की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित की जाए : मुख्यमंत्री

> महिला सुरक्षा कार्यक्रम के सम्बन्ध में सभी सम्बन्धित विभाग अपनी-अपनी कार्ययोजना आज ही प्रस्तुत करें : मुख्यमंत्री

> सब्जी और दाल के खुदरा मूल्य को नियंत्रित करने के लिए प्रभावी कार्यवाही की जाए : मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी 13 अक्टूबर 2020 को लोक भवन में आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा करते हुए। (फोटो : मुख्यमंत्री सूचना परिसर)

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने विगत 26 दिनों में प्रदेश में कोविड पाॅजिटिव के एक्टिव मामलों में आयी 44 प्रतिशत की कमी पर संतोष व्यक्त करते हुए निरन्तर सावधानी और सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि अनलाॅक की प्रक्रिया को आगे बढ़ाते हुए आने वाले समय में कई अन्य गतिविधियां भी प्रारम्भ हो जाएंगी। इसलिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम सहित विभिन्न प्रचार माध्यमों का व्यापक उपयोग करते हुए लोगों को संक्रमण से बचाव और सुरक्षा के सम्बन्ध में निरन्तर जागरुक किया जाए। मुख्यमंत्री योगी मंगलवार 13 अक्टूबर को लोक भवन में आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के प्रोटोकाॅल के पूर्ण पालन के लिए लोगों को प्रेरित और प्रोत्साहित किया जाए। मुख्यमंत्री ने कोविड-19 की रिकवरी दर की जनपदवार माॅनिटरिंग किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जनपद लखनऊ में कोविड-19 की रिकवरी दर को और बेहतर किया जाए। इसके लिए एक प्रभावी रणनीति तैयार कर जनपद में टेस्टिंग कार्य में वृद्धि के साथ-साथ एसजीपीजीआई, केजीएमयू तथा आरएमएलआईएमएस में उपचार व्यवस्था को सुदृढ़ बनाया जाए। उन्होंने अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य को जनपद अयोध्या, वाराणसी तथा सीतापुर में भी रिकवरी दर में वृद्धि सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं तथा बालिकाओं की सुरक्षा व सम्मान के दृष्टिगत शारदीय नवरात्र से प्रारम्भ किए जाने मिशन शक्ति अभियान में समाज के सभी वर्गों की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित की जाए। व्यापारिक संस्थाओं तथा एमएसएमई इकाइयों में भी महिला सुरक्षा के सम्बन्ध में कार्यक्रम आयोजित किए जाएं। उन्होंने अभियान के तहत सम्पन्न होने वाले कार्यक्रमों का व्यापक प्रचार-प्रसार कराने के निर्देश देते हुए कहा कि इस सम्बन्ध में स्टिकर आदि भी लगवाए जाएं। अभियान के तहत हेल्प लाइन नम्बर भी जारी किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी 16 अक्टूबर, 2020 को बेसिक शिक्षा विभाग के अन्तर्गत 31 हजार से अधिक सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र वितरित किए जाएंगे। 17 अक्टूबर, 2020 से महिलाओं तथा बालिकाओं की सुरक्षा व सम्मान के दृष्टिगत मिशन शक्ति व्यापक जागरुकता अभियान का शुभारम्भ होगा। उन्होंने प्रत्येक जनपद में दोनों तिथियों पर कार्यक्रम आयोजित किए जाने तथा इन कार्यक्रमों में जनपद के प्रभारी मंत्री सहित अन्य जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि महिला सुरक्षा कार्यक्रम के सम्बन्ध में सभी सम्बन्धित विभाग अपनी-अपनी कार्ययोजना आज ही प्रस्तुत करें। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्तमान में स्वच्छता तथा सेनिटाइजेशन के सम्बन्ध में संचालित प्रदेश व्यापी विशेष अभियान से जनप्रतिनिधियों को भी जोड़ा जाए। अभियान के तहत ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में स्वच्छता और सेनिटाइजेशन सम्बन्धी कार्य किए जाएं। अभियान की गतिविधियों का व्यापक प्रचार-प्रसार भी कराया जाए। मुख्यमंत्री ने सब्जी और दाल के खुदरा मूल्य को नियंत्रित करने के लिए प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि प्रवर्तन कार्यवाही करते हुए जमाखोरी, मुनाफाखोरी और कालाबाजारी पर प्रभावी अंकुश लगाया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी पर्वों के दृष्टिगत भारत सरकार द्वारा अपने कर्मचारियों के लिए अग्रिम धनराशि उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने वित्त विभाग को केन्द्र की तर्ज पर प्रदेश में भी इसी प्रकार की योजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं। इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, स्वास्थ्य राज्य मंत्री अतुल गर्ग, मुख्य सचिव  राजेन्द्र कुमार तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश अवस्थी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एस पी गोयल, अपर मुख्य सचिव महिला कल्याण एवं बाल विकास एस राधा चैहान, प्रमुख सचिव पशुपालन भुवनेश कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद, राहत आयुक्त संजय गोयल, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।