मुख्यमंत्री ने मुजफ्फरनगर में सड़क दुर्घटना में पंजाब से बिहार जा रहे प्रवासी कामगारों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया
May 15, 2020 • Mr Arun Mishra

कानपुर (का उ सम्पादन)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद मुजफ्फरनगर में एक सड़क दुर्घटना में पंजाब से बिहार जा रहे प्रवासी कामगारों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने सभी घायलों का समुचित उपचार कराने तथा मृतकों के पार्थिव शरीर बिहार राज्य भेजने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये तथा गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक मदद उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मंडलायुक्त सहारनपुर को दुर्घटना के कारणों की जांच तथा इसके लिए दोषी का उत्तरदायित्व निर्धारित करने के भी निर्देश दिए हैं। ज्ञातव्य है कि इस दुर्घटना से सम्बंधित बस के चालक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आपको बता दें कि मुजफ्फरगनर में रोहाना टोल प्लाजा के पास बुधवार देर रात कथित तौर पर एक रोडवेज बस ने मजदूरों को रौंद दिया, जिससे 6 लोगों की मौत हो गई है। मृतकों की पहचान हरीक सिंह (51), उनके बेटे विकास (22), गुड्डू (18), वासुदेव (22), हरीश (28) और विरेंद्र (28) के रूप में की गई है। सभी मृतक मजदूर बिहार के रहने वाले हैं, जो पैदल अपने घर लौट रहे थे। पुलिस उनके परिवार के सदस्यों का पता लगाने की कोशिश कर रही है। शहर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक अनिल कपरवान ने कहा, हमें रात 11 बजे के आसपास यह सूचना मिली कि एनएच - 9 में पैदल चल रहे लोग किसी बस दुर्घटना के शिकार हो गए हैं। मौके पर पहुंचने पर, हमें स्थानीय लोगों ने बताया कि वे प्रवासी मजदूर थे। उन्होंने इस बारे में आगे और जानकारी देते हुए बताया कि बुधवार देर रात को मुजफ्फरगनर-सहारनपुर स्टेट हाईवे-59 पर रोहाना टोल प्लाजा के पास रोडवेज की बस ने सहारनपुर लौट रहे श्रमिकों के काफिले को कुचल दिया, जिसमें 4 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दो लोगों ने अस्पताल में दम तोड़ दिया है। वारदात को अंजाम देने वाला ड्राइवर बस को मौके पर छोड़कर भाग खड़ा हुआ था, जिसे आज सुबह गिरफ्तार कर लिया गया है। मरने वाले सभी 6 पुरुष हैं और सभी बिहार के रहने वाले थे। चार लोग गोपालगंज, एक पटना और एक भोजपुर के रहने वाले थे। उन्होंने आगे कहा, इनके 4 साथी घायल हो गए हैं, जिनका इलाज मेरठ अस्पताल में चल रहा है। जबकि दो को मामूली चोटें आई हैं, जिन्हें उपचार के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है। सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। हादसे के वक्त उस बस में कोई यात्री सवार नहीं था।