मुख्यमंत्री ने पडरौना के पूर्व विधायक श्री सुरेन्द्र शुक्ल के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया
July 1, 2020 • Mr Arun Mishra

कुशीनगर (का उ)। पूर्व विधायक सुरेंद्र शुक्ला (67) का रविवार को गोरखपुर के निजी अस्पताल में निधन हो गया। वे लंबे समय से बीमार थे। उनके निधन पर भाजपा समेत अन्य दलों के नेताओं और समर्थकों ने शोक जताया है। अंतिम संस्कार सोमवार को हेतिमपुर में छोटी गंडक के किनारे होगा। पडरौना ब्लाक के पिपरा तिवारी गांव निवासी सुरेंद्र शुक्ल ने ग्राम प्रधान व जिला पंचायत सदस्य से राजनीति की शुरुआत की थी। वर्ष 1989 में पडरौना विधानसभा क्षेत्र से निर्दल प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़कर दूसरा स्थान हासिल किया था। वर्ष 1991 में भाजपा के टिकट पर पडरौना से विधायक बने। इसके बाद वर्ष 1993, 1996, 2002 व 2007 में भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़े। निधन की खबर सुनते ही भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता शोकाकुल हो गए। पडरौना सदर के विधायक व प्रदेश के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या, सांसद विजय कुमार दूबे, कुशीनगर के विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी, खड्डा के विधायक जटाशंकर त्रिपाठी, फाजिलनगर के विधायक गंगा सिंह कुशवाहा, पूर्व विधायक डॉ. पीके राय, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व तमकुहीराज के विधायक अजय कुमार लल्लू, पूर्व विधायक नंदकिशोर मिश्रा, पूर्व मंत्री आरपीएन सिंह, पूर्व सांसद बालेश्वर यादव, एमएलसी रामअवध यादव समेत सभी नेताओं ने शोक जताया है। कसया प्रतिनिधि के अनुसार पूर्व विधायक व वरिष्ठ भाजपा नेता सुरेंद्र शुक्ल के निधन की खबर मिलते ही क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई। कसया स्थित उनके आवास पर शोक संवेदना व्यक्त करने वालों की भीड़ जुट गई। दोपहर बाद उनका पार्थिव शरीर गोरखपुर से कसया लाया गया, जहां से पैतृक गांव पिपरा तिवारी ले जाया गया। पूर्व विधायक के पुत्र व भाजपा जिला उपाध्यक्ष विजय कुमार शुक्ला ने बताया कि अंतिम संस्कार सोमवार को हेतिमपुर में छोटी गंडक नदी के रेगवनिया घाट पर होगा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने श्री सुरेन्द्र शुक्ल के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री जी ने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की है।