मुख्यमंत्री ने प्रदेश में पिछले एक सप्ताह में कोविड-19 की पॉजिटिविटी की दर में आई उल्लेखनीय कमी पर संतोष व्यक्त किया
September 27, 2020 • Mr Arun Mishra

> सभी चिकित्सालयों में ऑक्सीजन की सुचारु उपलब्धता बैकअप सहित सुनिश्चित की जाए : मुख्यमंत्री

> एसीएस हेल्थ जिला चिकित्सालयों, सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में तथा एसीएस मेडिकल एजुकेशन मेडिकल कॉलेजों तथा चिकित्सा संस्थानों में दवाओं एवं अन्य आवश्यक मेडिकल सामग्री की पर्याप्त उपलब्धता बनाए रखें : मुख्यमंत्री 

> 100 से अधिक केस वाले 16 जिलों के नोडल अधिकारियों को आवश्यक दिशा - निर्देश प्रदान करें चिकित्सा शिक्षा मंत्री : मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी 26 सितम्बर 2020 को अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा करते हुए।  (फोटो : मुख्यमंत्री सूचना परिसर)

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने प्रदेश में पिछले एक सप्ताह में कोविड-19 की पॉजिटिविटी की दर में आई उल्लेखनीय कमी पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि यह एक अच्छा संकेत है, जो सिद्ध करता है कि संक्रमण को नियंत्रित करने में प्रदेश सरकार की रणनीति कारगर सिद्ध हो रही है। मुख्यमंत्री योगी शनिवार 26 सितम्बर 2020 को अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने में टीम भावना के साथ प्रभावी कार्यवाही किए जाने पर बल देते हुए कहा है कि बेहतर समन्वय से इस महामारी के प्रकोप को नियंत्रित किया जा सकता है। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्तमान में टेस्टिंग कार्य काफी अच्छे ढंग से किया जा रहा है। इस कार्य को आगे भी इसी प्रकार जारी रखा जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि कोविड अस्पतालों में मैन पावर की कोई कमी न हो। सभी चिकित्सालयों में ऑक्सीजन की सुचारु उपलब्धता बैकअप सहित सुनिश्चित की जाए। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य जिला चिकित्सालयों, सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में तथा अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा मेडिकल कॉलेजों तथा चिकित्सा संस्थानों में दवाओं एवं अन्य आवश्यक मेडिकल सामग्री की पर्याप्त उपलब्धता बनाए रखें। मुख्यमंत्री ने जनपद लखनऊ में विशेष ध्यान दिए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि जिले के नोडल अधिकारी अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायती राज, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य तथा अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा से विचार - विमर्श कर जिले में संक्रमण को नियंत्रित करने का एक अच्छा मॉडल प्रस्तुत करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के 16 जनपदों में संक्रमण को प्रभावी रूप से नियंत्रित करने के लिए शासन द्वारा अपर मुख्य सचिव / प्रमुख सचिव स्तर के नोडल अधिकारियों की तैनाती की गई है। उन्होंने चिकित्सा शिक्षा मंत्री से अपेक्षा की कि वे जनपद लखनऊ सहित समस्त 16 जिलों के नोडल अधिकारियों से संवाद बनाकर उन्हें आवश्यक मार्गदर्शन तथा दिशा - निर्देश प्रदान करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि एमएसपी के तहत धान क्रय की कार्यवाही सुव्यवस्थित ढंग से संचालित करने के लिए सभी प्रबन्ध समय से सुनिश्चित किए जाएं। आवश्यकतानुसार धान क्रय केन्द्रों की संख्या में वृद्धि की कार्यवाही की जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि किसानों को धान खरीद के सम्बन्ध में सभी सुविधाएं उपलब्ध हों। इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश अवस्थी, अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एस पी गोयल, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री संजय प्रसाद, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।