मुख्यमंत्री ने उन्नाव में 93.95 करोड़ रुपये की 192 परियोजनाओं का लोकार्पण / शिलान्यास किया
September 29, 2020 • Mr Arun Mishra

> मुख्यमंत्री ने बांगरमऊ - संडीला मार्ग का नाम बदलकर महाराजा सातन पासी मार्ग किये जाने का ऐलान किया।

> मुख्यमंत्री ने अमर शहीद गुलाब सिंह लोधी के सम्मान में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का नामकरण एवं मूर्ति की स्थापना कराये जाने की घोषणा की।

> मुख्यमंत्री ने पं विशम्भर दयाल त्रिपाठी के नेतृत्व के बारे में उनके सम्मान में रसूलपुर रूरी के राजकीय महाविद्यालय का नामकरण विशम्भर दयाल त्रिपाठी के नाम से रखने का ऐलान किया।

> मुख्यमंत्री के कर कमलों द्वारा 72.36 करोड़ रुपये की 146 परियोजनाओं का लोकार्पण किया गया तथा 21.59 करोड़ रुपये की 44 परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया।

मा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 28 सितम्बर 2020 को जनपद उन्नाव के बांगरमऊ में विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण / शिलान्यास करते हुए।

उन्नाव (सू0वि0)। मा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने सोमवार 28 सितम्बर 2020 को उन्नाव के बांगरमऊ क्षेत्र में विभिन्न विभागों की 192 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया, जिसमें 93.95 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की गई। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि जनपद उन्नाव की जनता को विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में विकास हेतु जनकल्याणकारी योजनायें का लोकार्पण / शिलान्यास कर जनता को लाभान्वित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि यह सभी योजनायें बहुत समय से परिलक्षित थीं। ऐसे समय में जब पूरा विश्व वैश्विक महामारी से जूझ रहा है, हम सभी इस महामारी से लड़ते हुये शासन द्वारा दी जा रही सुविधायें जनता तक पहुंचाने का कार्य कर रहें हैं। शासन का उद्देश्य ही लोक कल्याण करना है। सभी को संकट के समय में अपनी परवाह किये बगैर समाज तथा व्यक्तियों के लिये कार्य करना बड़ी बात होती है। समय से लिये गये फैसले से समाज में एक उन्नति का रास्ता खुलता है। कोरोना संक्रमण के प्रति सतर्कता तथा बचाव के साथ - साथ प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाये जाने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेन्डर आत्मनिर्भर निधि योजना चलाकर लाॅकडाउन से प्रभावित शहरी पथ विक्रेताओं आदि को आजीविका प्रारम्भ करने हेतु कई योजनायें प्रारम्भ की गई हैं। मा0 मुख्यमंत्री जी ने अपने सम्बोधन में उन्नाव केे क्रान्तिकारियों एवं साहित्यकारों को नमन करते हुये कहा कि इस धरती पर पं सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला जी कवि ने साहित्य लेखन के साथ - साथ गरीबों की लड़ाई लड़ी है। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति जनजाति तथा अन्य समाज के लागों के लिये प्रदेश सरकार काफी जनकल्याणकारी योजना चला रही है। महापुरुषों के योगदान की चर्चा करते हुये कहा कि उन्नाव जनपद के बांगरमऊ के महाराजा सातन पासी के सहयोग से समाज को नेतृत्व दिया है। बांगरमऊ - संडीला मार्ग का नाम बदलकर महाराजा सातन पासी मार्ग किये जाने का ऐलान किया। देश में आजादी की लड़ाई में जनपद उन्नाव की अहम भूमिका निभाने वाले जिसमें प्रमुख रूप से अमर शहीद गुलाब सिंह लोधी के नेतृत्व में कार्य किया गया। उनके सम्मान में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का नामकरण एवं मूर्ति की स्थापना कराये जाने की घोषणा की। पं विशम्भर दयाल त्रिपाठी के नेतृत्व के बारे में उनके सम्मान में रसूलपुर रूरी के राजकीय महाविद्यालय का नामकरण विशम्भर दयाल त्रिपाठी के नाम से रखने का ऐलान किया गया है। मुख्यमंत्री ने आज बांगरमऊ विधानसभा क्षेत्र में विभिन्न विभागों के 192 परियोजनाओं का लोकार्पण / शिलान्यास के दौरान सभा को सम्बोधित करते हुये कहा कि प्रदेश सरकार आम जनमानस की बुनियादी सुविधाओं के लिये कृत संकल्पित है। शासन प्रशासन तथा जनप्रतिनिधि समाज के लिये टीम भावना के साथ कार्य कर रहे हैं, 2017 से लेकर अब तक 29 मेडिकल काॅलेज, एम्स जैसे अस्पतालों की स्थापना करने का कार्य किया गया। इसके साथ ही शुद्धपेय जल योजना को लागू किया जा रहा है, फ्लोराइड की अधिकता वाले क्षेत्रों में हर गांव तथा बस्ती में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था की जायेगी। बुन्देलखण्ड के सात जनपदों में घर - घर पेयजल योजना, शिक्षा के क्षेत्र में आमूलचूल परिवर्तन किया जा रहा है। प्रदेश में सरकारी नौकरी में भ्रष्टाचार को रोकने के लिये पूरे प्रबन्ध किये गये हैं। ताकि नौजवानों को सरकारी नौकरी मिल सके, नवयुवकों को प्रदेश में रोजगार/नौकरी से जोड़कर रोजगार सृजन का कार्य किया जा रहा है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत पात्र लोगों को निःशुल्क राशन मुहैय्या कराया जा रहा है, 44 लाख परिवारों को गैस सिलेण्डर, निराश्रित विधवा, आदि तरह की पेंशन दी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि लोक कल्याण योजना के तहत गरीबों को पेंशन दी जा रही है। बिचैालियों को राशन कार्ड में कालाबाजारी को रोका गया है, साथ ही भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था लागू की गयी है। सामुदायिक शौचालय तथा ग्राम सचिवालय बनाये जा रहे हैं। ग्राम सचिवालय बनाकर ग्रामीणों को बैंकिंग सुविधा , ऑप्टिकल फाइबर सुविधा के साथ - साथ नवयुवकों को रोजगार उपलब्ध कराया जायेगा। आत्मनिर्भर योजना से जोड़कर गांवों को स्वावलम्बी एवं आत्मनिर्भर बनाया जायेगा। विश्वकर्मा श्रम योजना के तहत नवयुवकों को कौशल मिशन से जोड़ कर उन्हें तकनीकी शिक्षा मुहैय्या करायी जा रही है। केन्द्र एवं प्रदेश सरकार समाज में समृद्विशाली एवं प्रतिबद्वता के साथ कार्य कर रही है। सकारात्मक उर्जा के साथ गांव, ब्लाॅक, तहसील तथा जनपद का विकास हो निरन्तर प्रगति का कार्य किया जायेगा। उन्होंने कहा कि किसानों के लिये मा0 प्रधानमंत्री जी ने किसानों के आत्मनिर्भरता हेतु तीन बिल संसद में पास किये ताकि किसानों की आमदनी दोगुना करने और किसानों पर कोई मण्डी शुल्क नहीं लगाया जायेगा। इस प्रकार सरकार किसानों / मजदूरों / नवजवानों व महिलाओं के हित में कार्य कर रही है। लाॅकडाउन के दौरान समाज के लोगों ने प्रवासियों  के दुख दर्द में सहायता पहुंचाने में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया है जो सराहनीय है। मुख्यमंत्री ने बांगरमऊ में शिलान्यास के दौरान 03 चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, 01 पशुपालन, 02 माध्यमिक शिक्षा, 01 कारागार, 01 पुलिस विभाग, 01 नगर पालिका, 03 आंगनवाड़ी केन्द्र, 32 लोक निर्माण विभाग की परियोजनाओं का शिलान्यास किया, जिनकी स्वीकृत लागत 72.36 करोड़ है। इसी तरह लोकार्पण श्रृंखला में 02 पशुपालन, 01 विद्युत, 02 जिला नगरीय विकास अभिकरण, 11 लोक निर्माण 132 आंगनबाड़ी केन्द्रों का लोकार्पण किया गया, परियोजना स्वीकृत लागत 21.59 करोड़ है। इस अवसर पर जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री के मार्ग दर्शन के अनुसार लोकार्पित तथा शिलान्यास की गई परियोजनाओं को समय से पूरा कराकर आमजन को इन परियोजनाओं से लाभान्वित किया जायेगा। इस अवसर पर विधान सभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित, मंत्री जल शक्ति विभाग (सिंचाई एवं जल संसाधन, बाढ़ नियन्त्रण, लघु सिंचाई, नमामि गंगे एवं ग्रामीण जलापूर्ति विभाग) डा महेन्द्र सिंह, अध्यक्ष प्रदूषण नियन्त्रण बोर्ड जे पी एस राठौर, सांसद उन्नाव डा सच्चिदानन्द साक्षी जी महाराज, विधायकगण पंकज गुप्ता, बृजेश रावत, अनिल सिंह, बम्बालाल दिवाकर आदि ने भी अपने - अपने विचार व्यक्त किये।