निजी एवं सरकारी लैब में की गई जांचों को मिलाकर प्रदेश में अब तक 1,01,630 कोरोना के टेस्ट किये जा चुके हैं
May 6, 2020 • Mr Arun Mishra

मनरेगा के तहत कार्यरत अकुशल श्रमिकों की संख्या के आधार पर उत्तर प्रदेश देश में दूसरे स्थान पर

 उत्तर प्रदेश में कोविड 19 के मरीजों की रिकवरी दर राष्ट्रीय औसत से 6 प्रतिशत अधिक 

> विभिन्न राज्यों से 10 से अधिक ट्रेनें प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों को लेकर प्रदेश में आ चुकी हैं : एसीएस, गृह एवं सूचना

> प्रदेश में अब तक 31,26,931 वाहनों की सघन चेकिंग में 35,459 वाहन सीज किये गये : एसीएस, गृह एवं सूचना 

> आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 2,04,644 वाहनों के परमिट जारी किये गये : एसीएस, गृह एवं सूचना 

> प्रदेश के 428 हॉटस्पॉट क्षेत्र के 286 थानान्तर्गत  46,35,516 लोगों को चिन्हित किया गया जिनमें कोरोना पॉजिटिव पाये गये लोगों की संख्या 1899 है : एसीएस, गृह एवं सूचना 

> हॉटस्पॉट क्षेत्रों में 21,899 वाहनों का चालान करते हुए 1501 वाहन जब्त किये गये : एसीएस, गृह एवं सूचना

> फेक न्यूज के तहत अब तक ट्वीटर के 38, फेसबुक के 37, टिकटॉक के 47 तथा व्हाटसऐप के 01 एकाउण्ट को ब्लॉक किया जा चुका है : एसीएस, गृह एवं सूचना 

> प्रदेश में निःशुल्क खाद्यान्न वितरण के द्वितीय चरण में प्रचलित कुल 3 करोड़ 50 लाख से अधिक राशन कार्डों के सापेक्ष लगभग 2 करोड़ 15 लाख से अधिक कार्डों पर खाद्यान्न वितरण किया गया : एसीएस, गृह एवं सूचना

> श्रमिक भरण-पोषण योजना के तहत निर्माण कार्यों से जुड़े, नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्र के लगभग 30.50 लाख श्रमिकों एवं निराश्रित व्यक्तियों को भी 1 - 1 हजार रूपए की धनराशि का भुगतान किया गया : एसीएस, गृह एवं सूचना

> प्रदेश के 65 जिलों से 2,859 कोरोना पॉजिटिव के मामले सामने आए : प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य 

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने मंगलवार 5 मई को  लोक भवन मीडिया सेंटर में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि प्रदेश में लगभग 65 हजार कामगारों एवं छात्र - छात्राओं को लाया गया य एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजा गया है। उन्होंने बताया कि विभिन्न राज्यों से 10 से अधिक ट्रेनें प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों को लेकर प्रदेश में आ चुकी हैं तथा आज 5 - 6 ट्रेनें आने की सम्भावना है। उन्होंने बताया कि विभिन्न राज्यों से 9 ट्रेनें चल चुकी हैं तथा 6 और ट्रेनों के चलने पर सहमति हो चुकी है। प्रदेश में 58,906 ग्राम पंचायतों में से 37,694 ग्राम पंचायतों में मनरेगा का कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है जिसमें 15,46,896 अकुशल श्रमिक कार्य कर रहे हैं। मनरेगा के तहत कार्यरत अकुशल श्रमिकों की संख्या के आधार पर प्रदेश देश में दूसरे स्थान पर है। श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कोविड अस्पतालों में सभी आवश्यक सुविधाएं मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि पुलिस बल व मेडिकल टीम को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए सभी सुरक्षा उपाय अपनाने पर बल दिया है। श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में कोविड 19 के मरीजों की रिकवरी की दर 33 प्रतिशत है। यह संख्या रिकवरी की राष्ट्रीय औसत 27 प्रतिशत से 6 प्रतिशत अधिक है। श्री अवस्थी ने बताया कि आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति, डोर स्टेप डिलीवरी तथा सप्लाई चेन की अद्यतन स्थिति की जानकारी प्राप्त करते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि लॉक डाउन के दौरान यह व्यवस्था सुचारू रूप से कार्य कर रही है। इसे आगे भी इसी तरह बेहतर ढंग से संचालित किया जाए, ताकि लोगों को कोई दिक्कत न हो। श्री अवस्थी ने बताया कि कोरोना वायरस के दृष्टिगत प्रदेश में लॉकडाउन अवधि में पुलिस विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही में अब तक धारा 188 के तहत 37,136 लोगों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की गई। प्रदेश में अब तक 31,26,931 वाहनों की सघन चेकिंग में 35,459 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 15,03,57,552 रुपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 2,04,644 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। उन्होंने बताया कि कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 743 लोगों के खिलाफ 582 एफआईआर दर्ज करते हुए 275 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 428 हॉटस्पॉट क्षेत्र के 286 थानान्तर्गत 8,13,223 मकान चिन्हित किये गये इनमें 46,35,516 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन हॉटस्पॉट क्षेत्रों में कोरोना पॉजिटिव पाये गये लोगों की संख्या 1899 है। हॉटस्पॉट क्षेत्रों में 21,899 वाहनों का चालान करते हुए 1501 वाहन जब्त किये गये। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार फेक न्यूज पर कड़ाई से नजर रख रही है। फेक न्यूज के तहत अब तक 742 मामलों का संज्ञान में लेते हुए साइबर सेल को सूचित किया गया है। अब तक ट्वीटर के 38, फेसबुक के 37, टिकटॉक के 47 तथा व्हाटसऐप के 01 एकाउण्ट कुल 123 एकाउण्ट्स को ब्लॉक किया जा चुका है। श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में स्थापित 5713 क्रय केन्द्र के माध्यम से लगभग 123.10 लाख कुन्तल गेहूँ की खरीद की जा चुकी है। प्रदेश में निःशुल्क खाद्यान्न वितरण के द्वितीय चरण में प्रचलित कुल 3,50,45,249 राशन कार्डो के सापेक्ष मई माह में लगभग 2,15,37,165 कार्डो पर 68,74,788 मी0टन खाद्यान्न का निःशुल्क वितरण किया गया है। प्रदेश में 918 सरकारी तथा 1118 स्वैच्छिक कम्यूनिटी किचन के माध्यम से 11,64,742 लोगों को फूड पैकेट्स वितरित किये गये हैं। डोर-स्टेप डिलीवरी व्यवस्था के अन्तर्गत 23,713 किराना स्टोर क्रियाशील हैं, जिनके माध्यम से 51,732 डिलीवरी मैन आवश्यक सामग्री निरंतर पहुंचा रहे हैं। फल एवं सब्जी वितरण व्यवस्था के अन्तर्गत कुल 44,768 वाहनों की व्यवस्था की गयी है। इसी क्रम में कुल 55.71 लाख लीटर दूध उपार्जन के सापेक्ष 34.54 लाख लीटर दूध का वितरण 21,552 डिलीवरी वैन के माध्यम से किया गया है। श्री अवस्थी ने बताया कि उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की श्रमिक भरण-पोषण योजना के तहत निर्माण कार्यों से जुड़े, नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्र के लगभग 30.50 लाख श्रमिकों एवं निराश्रित व्यक्तियों को भी एक-एक हजार रूपए की धनराशि का भुगतान किया जा चुका है। प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश के 60 जनपदों में 1862 मामले एक्टिव हैं। उन्होंने बताया कि अब तक 944 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। अब तक प्रदेश के 65 जिलों से 2,859 कोरोना पॉजिटिव के मामले सामने आए हैं। उन्होंने बताया कि कल 300 पूल टेस्ट के माध्यम से 1440 सैम्पल टेस्ट किये गये, जिनमें 34 पूल पॉजिटिव पाये गये। 2,078 लोगों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है तथा 10,970 लोगों को फैसिलिटी क्वारेंटाइन में रखा गया है। उन्होंने बताया कि निजी एवं सरकारी लैब में की गई जांचों को मिलाकर प्रदेश में अब तक 1,01,630 कोरोना के टेस्ट किये जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश में 660 निजी चिकित्सालयों द्वारा इमरजेंसी एवं अन्य आवश्यक चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं इसके साथ ही समस्त सरकारी चिकित्सालय पूर्व से ही आकस्मिक चिकित्सा सेवाएं मुहैया करा रहे हैं।