निर्माण कार्यों में निर्धारित प्रोटोकाल के पालन का समय-समय पर कराया जाए निरीक्षण: प्रभारी मंत्री, मैनपुरी
June 12, 2020 • Mr Arun Mishra
卐 उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने मैनपुरी के  प्रभारी मंत्री के रूप में जन प्रतिनिधियों व अधिकारियों से किया संवाद।
 
卐 उप मुख्यमंत्री के सम्मुख रखा गया कोरोना वायरस संक्रमण रोकथाम हेतु मैनपुरी की तैयारियों का खाका।
 
卐 जिला प्रशासन पूरी पारदर्शिता के साथ राशन वितरण व गेहूं खरीद जैसे कार्यों को पूरा कराए : प्रभारी मंत्री, मैनपुरी 
 
卐 कोरोना संकटकाल में जिन लोगों ने सेवा भाव का परिचय दिया है, उन्हें कोरोना योद्धा के नाते सम्मानित किया जाए: प्रभारी मंत्री, मैनपुरी 
 
卐 टूटी सड़कों की मरम्मत हेतु नगर पालिका, जल निगम विद्युत और संबंधित विभाग जिसकी सड़क है उसके अधिकारियों को बुलाकर जॉइंट बैठक की जाए: प्रभारी मंत्री, मैनपुरी 
 
उप मुख्यमंत्री जन प्रतिनिधियों से हुए सहमत कहा 
जिसके विरुद्ध कोई शिकायत हो, उसी के पास जांच न भेजी जाए बल्कि किसी अन्य अधिकारी से जांच कराई जाए।
 
 
लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री व जनपद मैनपुरी के प्रभारी मंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि हम सबको स्वदेशी अपनाकर स्वावलंबी व आत्मनिर्भर भारत बनाना है। उप मुख्यमंत्री  गुरुवार 11 जून को जनपद मैनपुरी  के जन प्रतिनिधियों व वरिष्ठ अधिकारियों के साथ वेबिनार के जरिए संवाद कर रहे थे। उन्होंने मैनपुरी के जन प्रतिनिधियों से वहां की समस्याओं, कोरोना वायरस के दृष्टिगत की गई व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुए जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने जन प्रतिनिधियों के कई सुझाव भी लिए। श्री मौर्य ने कहा कि मनरेगा के तहत पूरे प्रदेश में बड़ी संख्या में काम कराया जा रहा है, जिसमें मजदूरों को काम दिया जा रहा है। उन्होंने निर्देश दिए मनरेगा के तहत गांवों में चकरोड, तालाबों, ग्राम सभा की भूमि व निजी भूमि को लेकर कोई विवाद हो तो वहां पर मनरेगा के कार्य तब तक न कराए जाएं जब तक राजस्व और पुलिस के अधिकारी उस मामले का समाधान ना कर दें। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था हर हाल में चुस्त और दुरुस्त बनाए रखना है।  अनलॉक 1 के तहत निर्धारित प्रोटोकॉल का शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए लेकिन  किसी के साथ  ज्यादती नहीं होनी चाहिए। श्री मौर्य ने जनप्रतिनिधियों का आह्वान किया कि वे राशन वितरण व गेहूं खरीद में लोगों को सहयोग प्रदान करें और जिला प्रशासन पूरी पारदर्शिता के साथ राशन वितरण व गेहूं खरीद जैसे कार्यों को पूरा कराए। मैनपुरी की स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने तथा विशेषज्ञ चिकित्सकों की तैनाती करने का कई जन प्रतिनिधियों ने सुझाव दिया, जिस पर उन्होंने आवश्यक कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। उन्होंने बाजारों को खोलने में निर्धारित सुरक्षा मानकों का ध्यान रखने के निर्देश जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को दिए। उन्होंने कहा कि ग्राम सुरक्षा समितियों के माध्यम से फीडबैक लिया जाए तथा गांव में कोई बाहर से आदमी आता है, तो सुरक्षा समिति के माध्यम से उसकी जानकारी लेकर आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। जन प्रतिनिधियों ने कहा जिसके खिलाफ शिकायत होती, उसी के पास जांच पहुंच जाती है यह नहीं होना चाहिए। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि यह कतई नहीं होना चाहिए, जिसके विरुद्ध कोई शिकायत हो, उसी के पास जांच न भेजी जाए बल्कि किसी अन्य अधिकारी से जांच कराई जाए। उन्होंने कहा कि कोरोना संकटकाल में जिन लोगों ने  समाज सेवा की है और सेवाभाव का परिचय दिया है, उन्हें कोरोना योद्धा के नाते सम्मानित किया जाए। पानी की पाइप लाइन डालने व विद्युत लाइन डालने पर सड़क को खोद देने और फिर ना बनाए जाने की शिकायत पर उप मुख्यमंत्री ने कहा इसके लिए नगर पालिका, जल निगम विद्युत और संबंधित विभाग जिसकी सड़क है उसके अधिकारियों को बुलाकर जॉइंट बैठक की जाए तथा लाइन डालते समय जो सड़कें टूटी हों उनकी मरम्मत की उचित व्यवस्था की जाए। उन्होंने निर्देश दिए जिलाधिकारी द्वारा बनाए गए व्हाट्सएप ग्रुप में जन प्रतिनिधियों को जनहित की बातें शेयर करते हुए जागरुक किया जाए। कोरोना के बारे में भी सकारात्मक चीजों का व वास्तविक चीजों का उसमें उल्लेख किया जाए। उन्होंने कहा निर्माण कार्यों में निर्धारित प्रोटोकाल का पालन कराया जाना सुनिश्चित किया जाए तथा समय-समय पर इसका निरीक्षण भी कराया जाए। वर्चुअल संवाद के दौरान आबकारी मंत्री राम नरेश अग्निहोत्री, राज्यसभा सदस्य हरनाथ सिंह यादव, सहित  अन्य जनप्रतिनिधियों ने भी अपने सुझाव रखे। जिलाधिकारी मैनपुरी ने कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत की गई व्यवस्थाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उप मुख्यमंत्री ने नहरों में पानी की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के निर्देश भी दिए।