नोडल अधिकारी ने दिए निर्देश, पात्र व्यक्ति लाभ पाने से वंचित न रहे
April 30, 2020 • Mr Arun Mishra
卐 नई फीडिंग के उपरान्त बनाये गये राशन कार्डधारकों की सूची 30 अप्रैल तक उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें : डाॅ रोशन जैकब
 पोस्ट आफिस द्वारा उपलब्ध कराये गये माइक्रो एटीएम तथा बैंकों के वीसी प्वाइंट की संख्या बढ़ाये जाने के निर्देश।
 गाँववार रोस्टरिंग की सूचना गाँवों तक तत्काल प्रसारित कराएं।
 
 
सीतापुर (सूचना विभाग)। नोडल अधिकारी डाॅ रोशन जैकब (सचिव भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग उ प्र शासन) ने बुधवार 29 अप्रैल को लहरपुर ब्लाॅक के अन्तर्गत गाँव रंगवा और डींगुरापुर का निरीक्षण कर शासन द्वारा चलायी जा रही योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति देखी। गाँव में राशन वितरण की स्थिति ठीक मिली। डॉ जैकब ने पात्रों को 1000 रूपये की राहत राशि एवं राशन शासनादेश की शर्तों के अनुसार शीघ्र वितरित कराये जाने के निर्देश दिए। नोडल अधिकारी डाॅ जैकब ने निराश्रित लोगों को दी जाने वाली पेंशन एवं राहत सामग्री वितरण में सुधार के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में अभी तक मात्र 13,868 लोगों को 1000 रूपये राहत राशि वितरित की गयी है जो कि बहुत कम है। इसे दृष्टिगत रखते हुये उन्होंने सभी खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह अपने क्षेत्र में पात्रता के आधार पर पुनः सर्वे कराते हुये यह सुनिश्चित करें कि कोई भी पात्र व्यक्ति, जो निराश्रित है तथा उसे अन्य किसी योजना का लाभ नहीं मिला है, लाभ पाने से वंचित न रहे। उन्होंने कहा कि सभी खण्ड विकास अधिकारी इस आशय का एक प्रमाण-पत्र भी जिलाधिकारी को प्रस्तुत करें कि शासनादेश की शर्तों के अनुसार कोई भी व्यक्ति लाभ पाने से वंचित नही रहा है। नोडल अधिकारी डाॅ जैकब ने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिये कि नई फीडिंग के उपरान्त जो कार्ड बनाये गये हैं उनकी सूची 30 अप्रैल तक संबंधित ग्राम पंचायत में प्रधान एवं सेक्रेटरी के माध्यम से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। जिससे पात्र व्यक्ति राशन प्राप्त कर सके। जरूरतमदों को राहत किट का भी वितरण अविलम्ब कराये जाने के निर्देश नोडल अधिकारी ने दिये। बैंकों में भीड़ कम करने के उद्देश्य से पोस्ट आफिस द्वारा उपलब्ध कराये गये माइक्रो एटीएम तथा बैंकों के वीसी प्वाइंट की संख्या बढ़ाये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने लोगों से अपील की कि बैंकों में अनावश्यक रूप से भीड़ न लगायें तथा अपरिहार्य स्थिति में ही बैंक आयें। उन्होंने डीपीआरओ को निर्देश दिये कि गाँववार रोस्टरिंग की सूचना गाँवों तक तत्काल प्रसारित कराएं।