नोवल कोरोनावायरस का अभी तक कोई मामला नहीं आया सामने
January 28, 2020 • Mr Arun Mishra

> नोवल कोरोनावायरस के प्रकोप पर कैबिनेट सचिव द्वारा बैठक।

नई दिल्ली (का ० उ ० सम्पादन)। सोमवार को कैबिनेट सचिव (27.1.2020) ने चीन में "नॉवेल कोरोनावायरस" के प्रकोप से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा की। स्वास्थ्य, विदेश मंत्रालय, नागरिक उड्डयन, श्रम, रक्षा, सूचना और प्रसारण और सदस्य-सचिव, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, महानिदेशक (सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा) के मंत्रालयों में सचिवों ने बैठक में भाग लिया। कैबिनेट सचिव को सूचित किया गया कि कल तक 137 उड़ानों की जांच की गई है (कुल संचयी यात्री 29707)। 12 यात्रियों के नमूने नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ वायरोलॉजी पुणे में भेजे गए थे। अभी तक कोई सकारात्मक मामला सामने नहीं आया है।

निम्नलिखित कार्रवाई की जा रही है:

नागरिक उड्डयन मंत्रालय चीन के लिए प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष कनेक्टिविटी के साथ सभी उड़ानों पर किसी भी बीमारी की रिपोर्टिंग और प्रबंधन के लिए एयरलाइंस को निर्देश जारी करेगा। इन-फ्लाइट घोषणाओं की सुविधा और चीन के लिए प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष कनेक्टिविटी के साथ सभी उड़ानों में स्वास्थ्य कार्ड का वितरण भी सुनिश्चित करेगा नागरिक उड्डयन मंत्रालय। गृह मंत्रालय यह सुनिश्चित करेगा कि एकीकृत चेक पोस्ट नेपाल सीमा पर आगंतुकों की स्क्रीनिंग शुरू हुई य नहीं। राज्यों से इन चेक पोस्टों के लिए स्वास्थ्य कर्मचारी उपलब्ध कराने का अनुरोध किया गया है। सशस्त्र सीमा बल / बॉर्डर सिक्योरिटी फाॅर्स / इमीग्रेशन अधिकारियों ने एकीकृत चेक पोस्टों को मेनटेन किया है। जहाजरानी मंत्रालय चीन से यातायात होने वाले अंतर्राष्ट्रीय बंदरगाहों पर प्रवेश स्क्रीनिंग शुरू करेगा। स्वास्थ्य मंत्रालय ने नेपाल के साथ सीमावर्ती 5 राज्यों में तैयारियों और स्क्रीनिंग की समीक्षा करने के लिए आज मुख्य सचिवों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्हें यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि स्वास्थ्य कर्मचारियों के माध्यम से यात्रियों की सामुदायिक स्तर की निगरानी की जाए। यह निर्णय लिया गया कि वुहान में भारतीय नागरिकों की संभावित निकासी के लिए कदम उठाए जा सकते हैं। तदनुसार, विदेश मंत्रालय चीनी अधिकारियों से अनुरोध करेगा।नागरिक उड्डयन मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय क्रमशः परिवहन और ट्रीटमेंट सुविधाओं के लिए व्यवस्था करेंगे।